सरिस्का में लगी आग पर काबू पाने के लिए दोनों हेलीकॉप्टर्स ने लगाए 22 राउंड

अलवर। राजस्थान में अलवर जिले के सरिस्का बाघ अभ्यारण में लगातार चार दिन से लग रही आग को बुझाने का प्रयास किए जा रहे है। लगातार हेलीकॉप्टर की सहायता एवं परंपरागत आग बुझाने के साधनों का उपयोग कर पहाड़ी के ऊपरी हिस्से की आग को बुझा लिया गया है।

सरिस्का में वायु सेना के हेलीकॉप्टर द्वारा 22 राउंड लगा कर आग पर काबू पाने का दावा किया गया है। आग की सूचना के बाद बुधवार को वन विभाग के प्रमुख शासन सचिव एवं मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक सहित कई अधिकारी सरिस्का पहुंचे और इलाके का दौरा किया और आग बुझाने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। आग बुझाने के ऑपरेशन को पूरा होने में सात दिन लग सकते हैं।

सरिस्का इलाके में आग ना फैले इसके लिए यह प्रार्थना की जा रही है कि हवा नहीं चले। जिससे जल्द से जल्द आग पर काबू पाया जा सके। आग की रफ्तार और उस पर काबू पाया जाना हवा पर निर्भर करता है क्योंकि लगातार दो दिन तक हवा चलने के कारण आग करीब 10 किलोमीटर से अधिक एरिया में पहुंच गई इससे छोटे-छोटे वन्यजीव आग की भेंट चढ़ गए।

यह अंदाजा भी नहीं लगाया जा सकता कि इस आग में लाखों-करोड़ों छोटे-छोटे जीव जलकर राख हो गए जिसमें पक्षी रिप्टीलिया वर्ग के जीव सहित अन्य प्रकार के वन्य जीव इस आग की चपेट में आए हैं।

आग लगने के बाद जंगल में बड़ी गर्मी के कारण अब वन्यजीव गांव की ओर घुसने की कोशिश करेंगे। क्योंकि गर्मी में एक तो पहाड़ ही बहुत गर्म होते हैं फिर आग के कारण और भी ज्यादा गर्मी पैदा हो गई जिससे वन्यजीव गांव में घुसने का अंदेशा बन गया है। इसके लिए सर इसका प्रशासन ने सभी ग्रामीणों को आग्रह और आगाह किया है। इस आग के बाद वन्य जीवो पर निगरानी रखें जिससे कोई मानव शिकार ना हो जाए।

इधर दिन में अभी कहीं भी आग की लपटें दिखाई इसलिए नहीं दे रही क्योंकि धूप के कारण आग की लपटें दूर से दिखाई नहीं देती अब रात्रि में पता चल पाएगा कि आग काबू में है या अभी कहीं धधक रही है। आग बुझाने के लिए ग्रामीण भी अपना सहयोग कर रहे हैं। इस आग को काबू पाने के लिए करीब 400 कर्मचारी लगे हुए हैं।