हुमा कुरैशी की दुआ कबुल, सलमान खान को मिली जमानत

huma qureshi prays, now salman khan gets bail by jodhpur court
huma qureshi prays, now salman khan gets bail by jodhpur court

इटावा। प्रसिद्ध फिल्म अदाकरा हुमा कुरैशी ने कहा कि काले हिरण को मारने के मामले में जोधपुर जेल में कैद मशहूर फ़िल्म एक्टर सलमान खान को आज जमानत मिल जाए यही प्रार्थना है। हुमा की यह दिली तमन्ना कबुल हो गई। सलमान को जोधपुर कोर्ट से जमानत देते हुए रिहा कर दिया।

बतादें कि हुमा कुरैशी ने हाईटेक विज किड स्कूल के शुभारंभ करने के बाद पत्रकारों से कहा कि उनकी दिली इच्छा है कि सलमान को जमानत मिल जाए। हालांकि हुमा कुरैशी सलमान खान से जुड़े हुए सवालों से बचने की कोशिश करती हुई नजर आई लेकिन उन्होने कहा कि सलमान खान को जमानत मिल जाए।

बॉलीवुड एक्टर हुमा कुरैशी ने इटावा के सिविल लाइन इलाके मे शिक्षाविधि विवेक यादव के हाईटेक विज किड स्कूल का उद्घाटन किया। इस स्कूल की खासियत बताई है कि इस स्कूल में पढ़ाई किताबों के बजाय कंप्यूटर के जरिए दी जाएगी।

फिल्म अदाकरा ने कहा कि इस स्कूल की खास बात यह है कि यहां पर जो क्लास में देखने को मिल रहा है वह कलरफुल है इसके साथ साथ पढ़ाई के बारे में जो जानकारी दी जा रही है कि किताबों के बजाय कंप्यूटर या फिर प्रैक्टिकल तौर पर यहां बच्चों की पढ़ाया जाएगा। जाहिर है कि ऐसा माहौल मिलने से बच्चों को बेहतर एहसास होगा। निश्चित है कि इससे बच्चों के विजन में इजाफा होगा।

उन्होंने कहा कि उनका इटावा आने का मकसद बहुत ही स्पेशल था। वह यहां पर हाईटेक बिजकिड स्कूल के शुभारंभ मौके पर पहुंची हुई है। स्कूल में एजुकेशन की ऐसी ट्रेनिंग दी जाएगी कि स्कूली छात्र छात्राओं का भविष्य निश्चित तौर पर उज्जवल होगा। अपने आप को बच्चों के बीच पाकर के हुमा कुरैशी बेहद प्रफुल्लति नजर आ रही थीं।

उनका कहना था कि बच्चों के साथ खेलना उनके साथ समय बिताना बहुत ही सुखद एहसास कराता है। उन्होने कहा कि बच्चों के सवाल और उनकी जिज्ञासाएं ऐसी होती है जिसको लेकर के मन अजीब सा रहता है लेकिन इसके बावजूद बच्चों के सवाल और उनके साथ में समय बिताना ख़ुशी का एहसास कराने के लिए काफी है वैसे दिल्ली में बच्चों से आसानी से मिलना संभव हो जाया करता रहा लेकिन दिल्ली के बजाय मुंबई पहुंचने पर बच्चों के साथ में आसानी से मिलना संभव नहीं हो पाता।

फिल्म अदाकरा ने कहा कि बेशक बच्चों को पढ़ाने-लिखाने में उनके अभिभावक अपना पैसा खर्च करें लेकिन ध्यान रखें कि उनका बचपन बेहद जरूरी है। उन्होंने कहा कि केवल 99 फ़ीसदी नंबर आ जाने से कोई भी बच्चा बेहतर नहीं हो सकता है जब तक उस बच्चे के मन और मस्तिष्क में ख़ुशी का एहसास नहीं होगा इसलिए जरूरी है कि बच्चे के बचपन को भी अभिभावक समझे और उस पर ध्यान रखे।

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ आंदोलन के बारे में उन्होंने कहा कि लड़के और लड़कियों में कोई भेदभाव न किया जाए। लड़कियां बहुत बेहतर कर रही है। लड़कियों की शिक्षा पर ध्यान देने की बेहद जरूरत है। जब लड़कियां पढेंगी तो निश्चित ही परिवार में भी वैसा ही माहौल बनेगा।

हुमा कुरैशी ने स्कूल के मुख्य द्वार पर फीता काटने के बाद क्लास रूम में जाकर के बच्चों से मुलाकात करने के साथ साथ स्कूल के अध्यापको से भी सिलसिलेवार ढंग से अलग-अलग मुलाकात की। हुमा कुरैशी ने छोटे-छोटे बच्चों से मेल करके अपने बचपन को भी याद किया। हुमा कुरैशी ने स्कूली बच्चों से भी बात की। उन्होंने बच्चों के माता-पिता से भी विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की।

बिज किड स्कूल के चेयरमैन विवेक यादव ने फ़िल्म एक्टर कुरैशी का स्वागत किया। उनके परिवार और स्कूल की अध्यापकों ने भी उनके स्वागत में कोई कमी नहीं छोड़ी। इटावा नगर पालिका परिषद के पूर्व चेयरमैन फुरकान अहमद ने भी उनका स्वागत किया। इस मौके पर हुमा कुरैशी ने दीप प्रज्वलन भी किया।

हुमा कुरैशी ने कहा कि उन्हें इस स्कूल को देखने के बाद में बड़ा दुख इस बात का हो रहा है कि बचपन में उन्हें इस तरह के स्कूल मे आखिरकार क्यों पढने का मौका नहीं मिला। उन्होंने कहा कि काश वह भी ऐसे स्कूल में एक वक्त पढ़ी होती। उन्होंने स्कूल के प्रबंधन को बधाई देने के साथ साथ यहां के शिक्षकों को भी बधाई दी। उन्होंने कहा कि निश्चित है कि यह स्कूल छोटे-छोटे बच्चों को ऐसी शिक्षा देंगे जिससे उनकी बुनियाद मजबूत हो सके।

काला हिरण शिकार मामला: ये केसा कानून 20 साल के दोषी सलमान को 2 दिन में ज़मानत