बेंगलुरु के खिलाफ हैदराबाद का वापसी करने का इरादा

Hyderabad will play against Bangalore with the intention of making a comeback
Hyderabad will play against Bangalore with the intention of making a comeback

चेन्नई। सनराइजर्स हैदराबाद की टीम रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ बुधवार को होने वाले आईपीएल मुकाबले में वापसी करने के इरादे के साथ मैदान पर उतरेगी जबकि बेंगलुरु का लक्ष्य अपनी जीत का क्रम जारी करना रहेगा।

हैदराबाद को चेन्नई के एमए चिदंबरम स्टेडियम में रविवार को खेले गए मुकाबले में कोलकाता राइट नाइडर्स के हाथों 10 रन से हार का सामना करना पड़ा था जबकि गत चैंपियन मुंबई इंडियंस की टीम टूर्नामेंट के उद्घाटन मुकाबले में बेंगलुरु के हाथों आखिरी गेंद पर दो विकेट से मात खा गयी थी। दोनों टीमों का इस आईपीएल में यह दूसरा मुकाबला होगा हालांकि दोनों का अभी तक एक दूसरे से आमना-सामना नहीं हुआ है।

कोलकाता के खिलाफ पिछले मुकाबले में हैदराबाद की टीम 187 रन के स्कोर का पीछा करते हुए 177 रन तक ही पहुंच पायी थी। मनीष पांडेय ने नाबाद 61 और जानी बेयरस्टो ने 55 रन बनाये थे लेकिन टीम अंत में लक्ष्य से 11 रन दूर रह गयी। हैदराबाद को देखना होगा कि उसके बल्लेबाज अंत में टीम को मंजिल तक पहुंचाएं। दूसरी तरफ बेंगलुरु को भी देखना होगा कि उसके बल्लेबाज आखिरी गेंद तक मैच को न फंसाएं और मैच को निर्धारित ओवरों से पहले ही निपटा दें।
बेंगलुरु के लिए एबी डिविलियर्स ने 48 रन की शानदार पारी खेली थी कि आखिरी गेंद पर बेंगलुरु के पास जीत हासिल करने के लिए मात्र एक रन रह गया था। डिविलियर्स ने 27 गेंदों पर 48 रन में चार चौके और दो छक्के लगाए और बेंगलुरु का काम आसान कर दिया।

विराट कोहली को देखना होगा कि वह और टीम के अनुभवी बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल टीम को मझधार में छोड़कर न जाएं। विराट ने पिछले मुकाबले में 29 गेंदों में चार चौकों के सहारे 33 और ग्लेन मैक्सवेल ने 28 गेंदों में तीन चौकों और दो छक्कों के सहारे 38 रन बनाये थे। लेकिन दोनों बल्लेबाज बेंगलुरु को मध्य ओवरों में छोड़कर वापस पवेलियन लौट गए थे।

हैदराबाद के कप्तान डेविड वार्नर चेन्नई में कोलकाता के खिलाफ सस्ते में आउट होकर पवेलियन लौटे थे जबकि बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम को उनकी विकेट पर देर तक जरूरत थी। वार्नर को अपने विकेट की अहमियत समझनी होगी और विकेट पर देर तक रुकना होगा। मनीष पांडेय ने नाबाद 61 रन की पारी खेली थी लेकिन उन्हें भी रन गति तेज करने की जरूरत होगी।

अब यह देखना जरूरी होगा कि दोनों टीमों के स्टार बल्लेबाज विकेट पर देर तक टिकें और अपनी टीमों को जीत दिलाकर ही दम लें।