मैं पूरी तरह फिट और इंग्लैंड दौरे के लिए तैयार : विराट कोहली

मैं पूरी तरह फिट और इंग्लैंड दौरे के लिये तैयार हूं: विराट कोहली
मैं पूरी तरह फिट और इंग्लैंड दौरे के लिये तैयार हूं: विराट कोहली

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने शुक्रवार को तीन महीने तक चलने वाले लंबे इंग्लैंड दौरे पर रवाना होने से पूर्व साफ किया कि वह पूरी तरह से फिट हैं और आगामी सीरीज़ के लिए उनका ध्यान टीम के प्रदर्शन पर लगा है।

29 वर्षीय विराट आईपीएल के बाद फिटनेस समस्याओं के चलते अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट से हट गये थे तथा इंग्लैंड में काउंटी क्रिकेट भी खेलने नहीं जा सके थे। हालांकि दौरे से पहले हुए अनिवार्य यो-यो फिटनेस टेस्ट में विराट और महेंद्र सिंह धोनी तथा वनडे टीम के अन्य नियमित खिलाड़ियों को फिट घोषित किया गया था।

विराट ने इंग्लैंड रवाना होने से पूर्व संवाददाता सम्मेलन में कहा​ कि मैं पूरी तरह से फिट हूं और दौरे से पूर्व मैंने फिटनेस टेस्ट भी पास किया है। मेरा ध्यान अब पूरी तरह अपने और टीम के प्रदर्शन पर टिका हुआ है। मुझे सीरीज़ पर जाने से पहले आराम मिल गया, मैं ऐसा नहीं चाहता था लेकिन जो भी हुआ अच्छे के लिए हुआ है और अब मैं तरो ताज़ा और अधिक फिट महसूस कर रहा हूं।

कप्तान ने कहा कि भारत ने चार वर्ष पहले इंग्लैंड में खेला था और उनकी कोशिश अच्छे प्रदर्शन की होगी। बल्लेबाज़ों के इंग्लिश स्थितियों में खेलने और स्विंग गेंदबाजी के सवाल पर उन्होंने कहा कि स्विंग गेंदबाजी हर टीम के लिए ही मुश्किल होती है केवल भारतीयों के लिये नहीं। यदि हमारी टीम अच्छी लय में होगी तो वह कुछ भी कर सकती है।

भारतीय कप्तान ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि इंग्लिश परिस्थितियों में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा जैसे स्पिनर अच्छा प्रदर्शन कर सकते है। उन्होंने कहा कि मैं इस बात को देखने के लिए उत्साहित हूं कि अश्विन और जडेजा इंग्लैंड में कैसा प्रदर्शन करेंगे क्योंकि दक्षिण अफ्रीका में भी उन्होंने अच्छा खेला था।

भारत को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले दो टेस्टों में हार मिली थी और उस समय खिलाड़ियों ने तैयारी की कमी का हवाला दिया था। हालांकि बाद में भारत ने आखिरी टेस्ट और वनडे सीरीज़ जीती। स्टार खिलाड़ी ने कहा कि हमने दक्षिण अफ्रीका में शुरूआती दो मैच हारे और उस समय लोगों ने कहा कि हम बुरी तरह पस्त हो गए लेकिन फिर हमने बाकी सभी मैच जीते। हम मुश्किल स्थितियों में खेलने को तैयार हैं।

कोच रवि शास्त्री ने इस बीच कहा कि टेस्ट सीरीज़ से पूर्व ट्वंटी 20 खेलना भारत के लिए परिस्थितियों के अनुकूल खुद को ढालने के लिहाज़ से अच्छा साबित होगा। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों के लिए पहले ट्वंटी 20 खेलना अच्छा होगा इससे वे टेस्ट सीरीज़ के लिए तैयार हो सकेंगे। भारत 27 जून को आयरलैंड के खिलाफ दो ट्वंटी 20 मैच खेलेगा और फिर एक अगस्त से पांच मैचों की टेस्ट सीरीज़ शुरू होगी।

इंग्लैंड सीरीज से पूर्व हालांकि भारतीय खिलाड़ियों को यो-यो टेस्ट ने काफी परेशान किया और तेज़ गेंदबाज मोहम्मद शमी तथा बल्लेबाज अंबाटी रायुडू को फिटनेस टेस्ट में फेल होने के कारण टेस्ट दौरे से बाहर होना पड़ा है।

शास्त्री ने हालांकि इसका बचाव करते हुए कहा कि यदि आप फिट हैं तो अाप खेल सकते हैं। आपको खेलना है तो टेस्ट पास करना होगा और यदि आप फेल होते हैं तो आपको बाहर जाना होगा। यह नियम सबके लिये समान है।