अब नहीं लगता भूत प्रेतों से डर : टीना दत्ता

लखनऊ। छोटे पर्दे की दिलकश अभिनेत्री टीना दत्ता का कहना है कि रोमांच से भरे धारावाहिक ‘खतरों के खिलाड़ी’ में भाग लेने के बाद उनके पास बचा खुचा डर भी रफूचक्कर हो चुका है।

‘उतरन’ फेम टीना ने नवाब नगरी लखनऊ में पत्रकारों से कहा कि मैं छिपकली, काकरोच, बिल्ली और चूहा जैसे किसी जीवजंतु से नहीं डरती। भूत प्रेत की गाथाएं मुझे डरा नहीं सकती। मेरा मानना है कि इंसान से बड़ा भूत नहीं होता और उन्हीं के बीच में रहकर दूसरे किसी से क्या डरना। जो थोड़ा बहुत डर था वह खतरों के खिलाड़ी में भाग लेने के बाद खत्म हो गया।

अपने नए धारावाहिक ‘डायन’ के प्रमोशन के सिलसिले में यहां आई टीना ने कहा कि रोमांच से भरपूर यह सीरियल दर्शकों को पसंद आएगा। करीब 42 मिनट के एपीसोड में दर्शकों को अपनी जगह छोड़ने का मन नहीं होगा। डायन की पीठ पर छिपकली को लेकर उन्होंने कहा कि एनीमल एलीमेंट को डालना धारावाहिक की जरूरत थी और यही छिपकली दर्शकों के आकर्षण का केन्द्र रहेगा।

वेब सीरीज के बढते प्रचलन को सही ठहराते हुए अभिनेत्री ने कहा कि इसमें कलाकार को एक सीरीज में ही अलग अलग किरदार निभाने का मौका मिलता है वहीं दर्शकों का भी इससे भरपूर मनोरंजन होता है और वह तकनीक से भरपूर सीरीज का किसी भी वक्त लुफ्त उठा सकते हैं।

एक के बाद एक नये धारावाहिकों में काम करने को लेकर पूछे गए एक सवाल पर उन्होंने कहा कि नई भूमिका के लिए तैयार होते समय मै किसी पूर्वाभ्यास की जरूरत नहीं समझती। मेरा मानना है कि कोई भी परिपक्व आर्टिस्ट यह नहीं करता। अपने किरदार को कैमरे के सामने जीवंत करना ही कलाकार की खूबी होती है।

उन्होंने कहा कि बालीवुड फिल्मों में काम करने को इच्छुक है मगर सही वक्त और सही मौके का इंतजार है। उम्मीद है कि उनकी यह तमन्ना जल्द पूरी होगी।