अपने परिजनों को खोने का दर्द मैं जानता हूँ: राहुल गांधी

अपने परिजनों को खोने का दर्द मैं जानता हूँ: राहुल गांधी
अपने परिजनों को खोने का दर्द मैं जानता हूँ: राहुल गांधी

नयी दिल्ली | कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मध्य प्रदेश के मंदसौर में एक साल पहले पुलिस फायरिंग में मारे गए किसानों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए आज कहा कि अपनों को खोने का दर्द वह भलीभांति समझते हैं।

गांधी ने ट्वीट किया “अपने परिजनों को खोने का दर्द मैं जानता हूँ। आज पीड़ित परिवारों के साथ कुछ पल बिताकर उनका दर्द बाँटने की कोशिश की।” कांग्रेस अध्यक्ष ने इस बात पर हैरानी जतायी कि इस गोलीकांड को हुए एक साल हो गया है लेकिन इसकी जांच करने वाले आयोग की रिपोर्ट अब तक नहीं आयी है। उन्होंने कहा “मंदसौर गोलीकांड के एक साल बाद भी जाँच आयोग की रिपोर्ट नहीं आई है। शहीद किसानों के परिवार न्याय का इंतज़ार कर रहे हैं। ”

इसके साथ ही गांधी ने मंदसौर की अपनी आज की यात्रा की कुछ तस्वीरें भी पोस्ट की हैं। इस यात्रा के दौरान उन्होंने पीड़ित किसानों के परिजनों से मुलाकात के दो फोटो भी पोस्ट किए हैं। इसमें से एक फोटो में एक किसान गांधी के गले लगकर फूट फूट कर रहा है।

गांधी ने मदंसौर जिले के पिपलियामंडी में किसान गोलीकांड की बरसी पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा को संबोधित किया और किसानों के परिजनों से मिलकर उनके प्रति संवेदना व्यक्त की और उनकी स्थिति की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने केंद्र तथा राज्य सरकार की नीतियों की भी आलोचना की और कि रते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार में आने पर राज्य का नक्शा बदल देगी।