यहाँ से पढ़े IA EXAM 2018 TOPIC Computer Ports

Computer Ports का इस्तेमाल किसी भी Device को Computer के साथ जोड़ने के लिए किया जाता है.

Computer Ports 2 प्रकार से use में लाये जाते है

पहला – इंटरनल पोर्ट – जिनमे कंप्यूटर के अंदर के यंत्रो को अंदर के पोर्ट में जोड़ा जाता है जैसेकि हार्ड डिस्क, ड्राइव इत्यादि.

दूसरा एक्सटर्नल पोर्ट – इनमे बाहरी यंत्रो को कंप्यूटर के साथ जोड़ा जाता है, जैसेकि मॉडेम, प्रिंटर, स्कैनर USB इत्यादि.

साथ ही कंप्यूटर पोर्ट के 2 प्रकार होते है

Physical Port
Virtual Port
Physical Ports:

इन पोर्ट में आप किसी भी यन्त्र को केबल / तार के साथ जोड़ते हो. अगर फिजिकल पोर्ट की लिस्ट की बात करे तो इनमे सीरियल पोर्ट , USB पोर्ट , पैरेलल ( Parallel ) पोर्ट , और इन्टरनेट पोर्ट के रूप में ( RJ 45 सॉकेट या कनेक्टर ) का इस्तेमाल किया जाता है.

USB ( Universal Serial Bus ) पोर्ट : इन पोर्ट का किसी भी यंत्र को पॉवर सप्लाई के लिए किया जाता है जैसेकि डिजिटल कैमरा इत्यादि. कंप्यूटर में 4 तरह केUSB पोर्ट होते है
USB 1.0 और 1.1 इनकी काम करने की गति हर सेकंड में 1.5 MB से 2.0 MBतक होती है.
USB 2.0 इनकी काम करने की गति हर सेकंड में 480 MB होती है.
USB 3.0 इनकी काम करने की गति हर सेकंड में 5 GB तक होती है.
इन्टरनेट पोर्ट : इनको लोकल क्षेत्र के नेटवर्क ( LAN ) को पकड़ने के लिए बनाया गया था. कंप्यूटर में इन्टरनेट पोर्ट के लिए RJ 45 कनेक्टर दिए होते है और इनकी गति हर सेकंड में 10 MB /S, 100 MB /S, 1 GB / S, 40 GB /S और 100 GB / S.

VGA पोर्ट : इन्हें विडियो ग्राफ़िक ऐरे ( Video Graphic Array ) भी कहा जाता है, इनमे 15 पिन दी होती है जो 3 लाइन में होती है. इनका इस्तेमाल आपके कंप्यूटर मदरबोर्ड मे विडियो एडाप्टर को कनेक्ट करने के लिए किया जाता है. इसमें आप तीन तरह के एडाप्टर को जोड़ सकते हो :
HDMI ( High Definition Multimedia Interface )
SCART ( Syndicate Constructers Apparel Radio Television )
DVI ( Digital Visual Interface)

पुरे कोर्स के लिए विजिट करिये iaexam2018.in और डिस्काउंट के लिए अपना यूजर नेम sabguru लिख कर बनाइये

ex: sabguru-ramesh full IA course by sabguru 99/- 75/- only