आईएएफ अधिकारियों ने पायलट अभिनंदन के माता-पिता से की मुलाकात

चेन्नई। भारतीय वायुसेना के अधिकारियों ने भारतीय सीमा में हमला करने आये पाकिस्तानी विमानों को खदेड़ने के दौरान लापता हुए वायु सेना के पायलट विंग कमांडर अभिनंदन के माता-पिता से बुधवार की शाम को उनके निवास पर मुलाकात की।

वायुसेना के अधिकारियों ने अभिनंदन के माता-पिता को जानकारी दी कि पायलट विंग कमांडर अभिनंदन को सकुशल वापस लाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने वायु सेना के एयर वाइस मार्शल आरजीके कपूर की मौजूदगी में यहां संवाददाता सम्मेलन में बताया कि भारतीय वायुसेना ने बुधवार को जम्मू-कश्मीर में सैन्य ठिकानों पर पाकिस्तानी वायु सेना के हमले को विफल कर उसके एक लड़ाकू विमान को मार गिराया हालांकि इस कार्रवाई के दौरान एक भारतीय विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया और उसका पायलट अभी लापता है।

पाकिस्तान ने दावा किया है कि भारतीय पायलट उसके कब्जे में है। प्रवक्ता ने बताया कि पाकिस्तान के इस दावे के बारे में और तथ्यों का पता लगाया जा रहा है।

विंग कमांडर अभिनंदन के पिता सिम्माकुट्टी वर्तमान भी वायुसेना के सेवानिवृत्त अधिकारी हैं। वह उपनगरीय इलाके तांबरम के पास मडमबक्कम के निवासी हैं। वह फिलहाल मडमबक्कम के वायु सेना के रिहायशी क्वार्टर ‘जलवायु विहार’ मेें रहते हैं। अभिनंदन के परिवार ने मीडिया से दूरी बनाई हुई है।

अभिनंदन के रिश्तेदार कुंदनाथन ने कहा कि परिवार अभिनंदन के लापता होने और पाकिस्तान की हिरासत में होने का समाचार सुनकर काफी परेशान है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री और केंद्र सरकार को अभिनंदन की सकुशल वापसी के लिए कदम उठाने चाहिए।

विभिन्न राजनीतिक दलों द्रविड़ मुनेत्र कषगम (द्रमुक) के अध्यक्ष एमके स्टालिन, पट्टाली मक्कल काच्ची (पीएमके) के संस्थापक डॉ. एस रामदास ने केंद्र सरकार से विंग कमांडक अभिनंदन की सकुशल रिहाई सुनिश्चित करने की अपील की है।

स्टालिन ने ट्वीट किया कि संकट की इस घड़ी में वह विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान के परिजनाें और मित्रों के साथ हैं। उन्होंने कहा कि मैं भारत सरकार से विंग कमांडर अभिनंदन की सकुशल वापसी सुनिश्चित करने के लिए हर आवश्यक कदम उठाने का अनुरोध करता हूं।