चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को चित कर इंग्लैंड 27 साल बाद फाइनल में

icc world cup 2019 2nd semi-final : England crush defending champions Australia, set up final vs New Zealand

बर्मिंघम। क्रिस वोक्स और आदिल राशिद के तीन-तीन विकेटों और ओपनर जैसन रॉय की 85 रन की तूफानी पारी की बदौलत मेजबान इंग्लैंड ने गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को आईसीसी विश्व कप के दूसरे सेमीफाइनल में गुरूवार को आठ विकेट से पीटकर 27 साल के लम्बे अंतराल के बाद फाइनल में जगह बना ली।

इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 49 ओवर में 223 रन पर निपटाने के बाद 32.1 ओवर में दो विकेट पर 226 रन बनाकर शान के साथ फाइनल में प्रवेश कर लिया जहां उसका मुकाबला 14 जुलाई को ऐतिहासिक लॉर्ड्स मैदान में न्यूजीलैंड से होगा। विश्व कप को इस तरह नया चैंपियन मिलेगा।

मेजबान इंग्लैंड 1992 के बाद पहली बार फाइनल में पहुंचा है और फाइनल में इंग्लैंड तथा न्यूजीलैंड के पास पहली बार खिताब जीतने का मौका रहेगा। न्यूजीलैंड ने पहले सेमीफाइनल में भारत को हराया था।

इंग्लैंड ने इस सेमीफाइनल में पिछले चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को एकतरफा अंदाज में धो दिया। जैसन रॉय ने 65 गेंदों में नौ चौकों और पांच चौकों की मदद से 85 रन की मैच विजयी पारी खेली। जानी बेयरस्टो ने 34, जो रुट ने नाबाद 49 और कप्तान इयान मोर्गन ने नाबाद 45 रन की पारी खेली। ऑस्ट्रेलिया की पारी में 20 रन पर तीन विकेट लेने वाले क्रिस वोक्स को प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।

टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरे ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत ख़राब रही और उसने सातवें ओवर तक मात्र 14 रन पर तीन विकेट गंवा दिए। पूर्व कप्तान स्टीवन स्मिथ ने इसके बाद 119 गेंदों पर छह चौकों की मदद से 85 रन की शानदार पारी खेली जिसकी बदौलत ही आस्ट्रेलिया 200 का स्कोर पार कर सका।

स्मिथ आठवें बल्लेबाज़ के रूप में टीम के 217 के स्कोर पर आउट हुए और आस्ट्रेलिया की पूरी पारी 49 ओवर में 223 रन पर सिमट गयी। आस्ट्रेलिया के चार बल्लेबाज़ ही दहाई की संख्या में पहुंच सके। विकेटकीपर एलेक्स कैरी ने 70 गेंदों में चार चौकों की मदद से 46 रन, ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल ने 23 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 22 रन और नौवें नंबर के बल्लेबाज़ मिशेल स्टार्क ने 36 गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से 29 रन बनाए।

स्मिथ और कैरी ने चौथे विकेट के लिये 103 रन की साझेदारी कर टीम को कुछ हद तक संभाला। इससे पहले कप्तान आरोन फिंच खाता खोले बिना दूसरे ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए जबकि टूर्नामेंट में शानदार बल्लेबाजी करने वाले ओपनर डेविड वार्नर तीसरे ओवर में निपट गए। वार्नर नौ रन ही बना सके।

पीटर हैंड्सकोंब का विकेट सातवें ओवर की पहली गेंद पर गिरा। क्रिस वोक्स ने वार्नर और हैंड्सकोंब के विकेट लिये। लेग स्पिनर आदिल राशिद ने आस्ट्रेलिया के मध्यक्रम को झकझोरा। राशिद ने कैरी, मार्कस स्टोइनिस और पैट कमिंस को आउट किया।

वोक्स ने स्टार्क को आउट कर अपना तीसरा विकेट लिया। स्मिथ रनआउट हुये जबकि जोफ्रा आर्चर ने आस्ट्रेलियाई कप्तान फिंच तथा मैक्सवेल के विकेट लिये। मार्क वुड ने जेसन बेहरनडोर्फ को आउट कर आस्ट्रेलिया की पारी समेट दी। वोक्स ने 20 रन पर तीन विकेट, राशिद ने 54 रन पर तीन विकेट, आर्चर ने 32 रन पर दो विकेट और वुड ने 45 रन पर एक विकेट लिया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड ने विश्वास के साथ शुरुआत की। रॉय और बेयरस्टो ने 17.2 ओवर में 124 रन की शानदार ओपनिंग साझेदारी कर ऑस्ट्रेलिया का संघर्ष समाप्त कर दिया। रॉय ने बेहद आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को हतोत्साहित कर दिया। रॉय ने पारी के 16वें ओवर में स्टीवन स्मिथ की गेंदों पर लगातार तीन गगनचुम्बी छक्के मारे। इनमें से तीसरा छक्का तो स्टेडियम की छत पर पड़ा।

बेयरस्टो को मिशेल स्टार्क ने पगबाधा किया और एक टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट लेने का हमवतन ग्लेन मैक्ग्रा का रिकॉर्ड तोड़ दिया। स्टार्क का यह 27वां विकेट था। बेयरस्टो ने 43 गेंदों पर 34 रन में पांच चौके लगाए। रॉय दूसरे बल्लेबाज के रूप में 147 के स्कोर पर पैट कमिंस का शिकार बने।

इसके बाद रुट और मोर्गन ने ऑस्ट्रेलिया को कोई मौका नहीं दिया। रुट ने 46 गेंदों में आठ चौकों की मदद से नाबाद 49 और मोर्गन ने 39 गेंदों में आठ चौकों के सहारे नाबाद 45 रन बनाए। मोर्गन ने जैसे ही विजयी चौका मारा पूरा इंग्लैंड जश्न में डूब गया।