बचा रह गया सचिन तेंदुलकर का 16 साल पुराना रिकॉर्ड

लंदन। मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का एक विश्वकप में सर्वाधिक 673 रन बनाने का 16 साल पुराना रिकॉर्ड इस विश्वकप में भी बचा रह गया।

लीग मैचों की समाप्ति के समय ऐसा लगा रहा था कि सचिन का यह रिकॉर्ड टूट जाएगा लेकिन सचिन ही नहीं 2007 में ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन के 659 रन भी बचे रह गए।

सचिन ने 2003 के विश्वकप में 11 मैचों में 673 रन बनाए थे जबकि हेडन ने 2007 के विश्वकप में 11 मैचों में 659 रन बनाए थे। भारत के रोहित शर्मा और ऑस्ट्रेलिया के डेविड वार्नर के पास सचिन और हेडन से आगे जाने का पूरा मौका था लेकिन यह दोनों ही बल्लेबाज सेमीफाइनल में सस्ते में आउट होकर अपनी-अपनी टीमों को निराश कर गए।

रोहित ने सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के खिलाफ मात्र एक रन बनाया जबकि वार्नर ने इंग्लैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में नौ रन बनाए। रोहित ने इस विश्वकप के नौ मैचों में 648 और वार्नर ने 10 मैचों में 647 रन बनाए। रोहित के इस विश्वकप में सर्वाधिक रन रहे।

सचिन के रिकॉर्ड कोे आखिर में इंग्लैंड के ओपनर जॉनी बेयरस्टो से ही खतरा था लेकिन बेयरस्टो फाइनल में 36 रन बना पाए और सचिन के रिकॉर्ड से मीलों दूर रह गए। बेयरस्टो ने 11 मैचों में 532 रन बनाए।