आईसीआईसीआई बैंक बंधक पोर्टफोलियो 1.5 ट्रिलियन के पार

ICICI Bank mortgage portfolio crosses Rs 1.5 trillion
ICICI Bank mortgage portfolio crosses Rs 1.5 trillion

मुम्बई । समेकित परिसम्पदा की दृष्टि से निजी क्षेत्र में भारत के शीर्ष बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने आज घोषणा की कि उसने देश के निजी क्षेत्र के बैंकों में से पहला, 1.5 करोड़ रुपये से अधिक के बंधक ऋण वितरित करने के मील का पत्थर पार कर लिया है, जो इसे निजी क्षेत्र के बैंकों के बीच सबसे बड़ा बंधक ऋणदाता बना देता है। इसका उद्देश्य वित्त वर्ष 2020 के अंत तक अपनी अखिल भारतीय बंधक पुस्तक को 2 ट्रिलियन रुपये तक बढ़ाना है।

इसके अलावा, बंधक ईकोसिस्टम को डिजिटाइज करने के लिए बैंक ने डेवलपर्स को अपनी परियोजनाओं के लिए कागजात रहित तरीके से अनुमोदन प्राप्त करने में सक्षम बनाया है। इस पहल ने बैंक को पूरी तरह से ऑनलाइन 2,000 नई आवासीय परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है। बैंक ने अपने ग्राहकों के लिए 40 शहरों में 30,000 अनुमोदित परियोजनाओं के बेजोड़ ऑनलाइन भंडार को भी सक्षम किया है।

पोर्टल का उद्देश्य घर खरीदारों के लिए एक-स्टॉप-शॉप अनुभव प्रदान करना है जहां वे बैंक द्वारा अनुमोदित आवास परियोजनाओं की एक बड़ी श्रृंखला से, आसानी से अपने सपनों का घर चुन सकते है, अपने गृह ऋण पात्रता की जांच कर ने के साथा ही किसी भी समय गृह ऋण के लिए आवेदन करें सभी इस एक ही पोर्टल से इस माइल स्टोन की उपलब्धि पर बोलते हुए, आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक श्री अनुप बागची ने कहा, ‘‘आईसीआईसीआई बैंक ने खुदरा ऋण विशेष रूप से गृह ऋण व्यापक रूप से सुलभ और किफायती बनाकर 2000 के आरंभ में में देश में रिटेल लोन की वृद्धि को जन्म दिया।

पिछले कुछ वर्षो में, हमने कई नई पहलों की शुरुआत की है, गृह ऋण उत्पादों, विस्तृत वितरण नेटवर्क की नवीन श्रेणी और टैब बैंकिंग जैसी डिजिटल तकनीक पर समृद्ध और 8 कार्य घंटों के भीतर पूरी तरह से ऑनलाइन प्रतिबंधों की शुरुआत की। हमारे निरंतर प्रयास के परिणामस्वरूप, हमने उद्योग में अनुशासित तरीके के साथ एक लाभदायक तरीके से 1.5 ट्रिलियन बंधक ऋण से अधिक वितरण करने के मील का पत्थर पार कर लिया है।

हम 15 प्रतिशत से अधिक की वार्षिक वृद्धि दर पर हमारे बंधक पोर्टफोलियो का विस्तार जारी रखेंगे और वित्त वर्ष 2020 के अंत तक 2 ट्रिलियन रुपए पार करने का लक्ष्य रखेंगे। उन्होंने इसे प्राप्त करने के लिए, हम टियर 2/3 शहरों के साथ-साथ प्रमुख शहरों की परिधि पर माइक्रो-मार्केट में कई नए स्थानों पर नेटवर्क का विस्तार कर रहे हैं और पूरी तरह से डिजिटलीकृत तरीके से गृह ऋण प्रदान करने के लिए प्रौद्योगिकी पर लाभ उठाना जारी रखते हैं।‘‘

आईसीआईसीआई बैंक होम लोन उत्पादों के अपने सूट में कई उत्पादों की पेशकश करता है, जिसमें भारत की पहली बंधक गारंटी गृह ऋण और स्टेप-अप होम लोन शामिल हैं जो ग्राहकों को उच्च ऋण राशि प्राप्त करने की अनुमति देता है। इसने होम लोन प्रक्रिया में सादगी लाने के लिए कई डिजिटल पहलें भी शुरू की हैं। इसमें टेबलेट्स और स्मार्ट फोन्स, एक्सप्रेस होम लोन जो कि पूरी तरह से आॅनलाइन है और इसकी मंजूरी महज आठ कार्यशील घंटों के भीतर प्रदान की जाती है के साथ ही एक मोबाइल एप्प पर निर्माणाधीन परियोजनाओं के तहत त्वरित और आसान ऋण वितरण के लिए आवेदन की सुविधा है।

आईसीआईसीआई बैंक 4,867 शाखाओं, 14,367 एटीएम, फोन बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, फेसबुक एवं ट्विटर और आईसीआईसीआई बैंक पर बैंकिंग के बहु-चैनल वितरण नेटवर्क के माध्यम से अपने बड़े ग्राहक आधार को अपनी सेवाएं प्रदान कर रहा है मोबाइल पर यह देश का पहला डिजीटल बैंक है, 31 मार्च, 2018 तक।

आईसीआईसीआई बैंक लि. के बारे में: आईसीआईसीआई बैंक भारत का निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है, इसकी समेकित कुल सम्पदा 172.5 बिलियन डाॅलर 31 मार्च 2018 को रही। आईसीआईसीआई बैंक की इकाइयों में भारत की शीर्ष बीमा कम्पनियां, सिक्यूरिटी ब्रोकरेज कम्पनियां, म्युच्युअल फण्ड तथा निजी इक्विटी कम्पनियां शामिल है। आईसीआईसीआई बैंक की उपस्थिति वर्तमान में भारत सहित 17 अन्य देशों में है।