आईसीआईसीआई बैंक वेस्टपैक बैंकिंग काॅरपोरेशन से जुड़ा

ICICI Bank ties up with Westpac Banking Corporation
ICICI Bank ties up with Westpac Banking Corporation

मुम्बई । समेकित सम्पदा की दृष्टि से भारत के शीर्ष बैंक आईसीआईसीआई बैंक ने आज आॅस्टेªेलिया के शीर्ष बैंक वेस्टपैक बैंकिंग काॅरपोरेशन (वेस्टपैक) के साथ अपनी भागीदारी की घोषणा की। इस भागीदारी से भारतीय विद्यार्थियों को भुगतान प्रेषण के लिए बैंक के मनी2वल्र्ड (एम2डब्ल्यू) प्लेटफाॅर्म के माध्यम से पूर्ण रूप से आॅनलाइन भुगतान का समाधान मिल सकेगा। इसके साथ, भारत में रहने वाले, जो भारत में चाहे किसी भी बैंक के ग्राहक हैं, किसी भी समय ऑस्ट्रेलियाई विश्वविद्यालय को अपने घरों से ही आराम से एक निश्चित विनिमय दर पर शुल्क भुगतान कर ऑनलाइन धन प्रेषण शुरू कर सकेंगे।

पहले के रूप में, आईसीआईसीआई बैंक और वेस्टपैक ने इस पहल के लिए ऑस्ट्रेलिया के प्रसिद्ध विश्वविद्यालयों में से एक-ला ट्रोब विश्वविद्यालय के साथ साझेदारी की है। इसके साथ ही आईसीआईसीआई बैंक का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया में अन्य विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के साथ गठबंधन करने का है। मनी2वल्र्ड प्लेटफॉर्म का उपयोग करने वाले विद्याथियों द्वारा किए गए लेनदेन को वेस्टपैक के ‘पेमेंट्सप्लस‘, विश्वविद्यालयों और कॉलेजों के लिए एक बैंकिंग और सुलह समाधान के साथ एकीकृत किया गया है।

यह सुविधा छात्रों काफी हद तक सुविधाजनक है क्योंकि यह एक पूरी तरह से कागज रहित और ऑनलाइन सुविधा के लिए एक लंबी कागज-गहन प्रक्रिया को सरल बनाती है और बैंक शाखाओं के कई चक्कर लगाने की प्रक्रिया को समाप्त करने वाली है। यह फीस स्थानांतरण प्रक्रिया को काफी छोटा करेगी केवल कुछ ही दिनों के भीतर भुगतान किया जा सकेगा वह भी बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के साथ। इसके अलावा यह विद्यार्थियों और विश्वविद्याल को एक अनूठा रेफरेंस नम्बर देकर को और भी सशक्त बनाएगी जो उन्हें भुगतान और इसके मिलान को ट्रैक करने में मदद करेगा।

इस पहल पर बोलते हुए, आईसीआईसीआई बैंक के कार्यकारी निदेशक श्री विजय चांडक ने कहा की आईसीआईसीआई बैंक भारतीय धन प्रेषण बाजार में अग्रणी खिलाड़ी रहा है और आईसीआईसीआई बैंक अपने मनी2वल्र्ड प्लेटफॉर्म के माध्यम से पूरी तरह से ऑनलाइन आउटवर्ड प्रेषण समाधान प्रदान करने वाले पहला भारतीय बैंक हैं।

उन्होंने कहा कि विदेशी शिक्षा के लिए धन प्रेषण देश के समग्र बाहरी प्रेषण का लगभग एक तिहाई है और ऑस्ट्रेलिया इसमें सबसे बड़ा प्राप्तकर्ता देश है। हमारा हमेशा से यही प्रयास रहा है कि छात्रों की भुगतान प्रेषण प्रक्रिया सरलतम हो समृद्ध टेक्नालाॅजी से परिपूर्ण हो। हमें इस बात की खुशी है कि हमने वेस्टपैक बैंकिंग काॅरपोरेशन और ला ट्रोब यूनिवर्सिटी के साथ भागीदारी कर विद्यार्थियों को पूर्णतः डिजीटाइज फीस भुगतान का समाधान पेश किया है, और उन्हंे इस लेन-देन प्रक्रिया की शुरू से आखिर तक ट्रैक करने की सुविधा भी दी है।

इस गठबंधन पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए वेस्टपैक ग्लोबल ट्राजेक्शन सर्विसेज के महा प्रबन्धक डाई चालनर ने कहा ‘‘वेस्टपैक और आस्ट्रेलिया की अर्थव्यवस्था के लिए विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय हमेशा काफी महत्वपूर्ण रहे हैं। इस समाधान के माध्यम से, हम हम विश्वविद्यालय को अवांछित सूचना मिलान के साथ प्रदान करने में सक्षम होंगे जो संसाधनों, समय और धन तीनों को बचाएगा।‘‘

ला ट्रोब विश्वविद्यालय के सीएफओ श्री मार्क स्मिथ ने कहा, ‘‘छात्र भुगतानों प्रक्रिया हमेशा एक चुनौतीपूर्ण कार्य रहा है, और इससे हमारे संसाधनों पर दबाव पड़ता है। इस समाधान के साथ हम छात्र शुल्क ट्रैक करने और लगभग तुरंत उन्हें प्रवेश की पुष्टि करने में सक्षम हो सकेंगे।‘‘

विद्यार्थी एम2डब्ल्यू प्लेटफाॅर्म का उपयोग करके शुल्क भुगतान के लिए नीचे दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैंः
* लॉगिन करें और पंजीकरण करेंः छात्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर लॉग ऑन कर सकते हैं, जिसे फिर आईसीआईसीआई बैंक एम2डब्ल्यू पेज पर फिर से निर्देशित किया जाता है। एक बार पंजीकरण पोस्ट करें, (केवल गैर आईसीआईसीआई बैंक बचत खाता धारकों के लिए आवश्यक) इसके बाद वे सीधे एम2डब्ल्यू पेज के माध्यम से लॉगिन कर सकते हैं।
* भुगतान करेंः विश्वविद्यालय के बैंक खाते का विवरण एम2डब्ल्यू भुगतान स्क्रीन पर प्री-पाॅपुलेटेड मिलता है, जो विद्यार्थी को भारत में किसी भी बैंक से आसानी से धन हस्तांतरण करने में सक्षम बनाता है। एक अद्वितीय संदर्भ संख्या (यूआरएन) उत्पन्न होती है जिसे हस्तांतरण की स्थिति को आगे ट्रैक करने के लिए छात्र, विश्वविद्यालय और बैंक द्वारा उपयोग किया जा सकता है।

इसके बाद आईसीआईसीआई बैंक भुगतान तत्काल प्रेषण के लिए विद्यार्थी के पूरे विवरण एवं यूआरएन के साथ वेस्टपैक को प्रेषित करता है। वेस्टपैक इन-टर्न राशि और जानकारी के साथ विश्वविद्यालय वितरित करता है।

‘एम2डब्ल्यू‘, भारत में किसी भी बैंक द्वारा निवासी भारतीयों के लिए पूरी तरह से ऑनलाइन आउटवर्ड प्रेषण की अपनी तरह की पहली सुविधा है। यह सभी दिनों में 24ग7 उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध है। इसके साथ, आईसीआईसीआई बैंक के गैर-खाता धारक 16 प्रमुख मुद्राओं में विदेशों में किसी भी बैंक खाते से भारत में किसी भी बैंक खाते से एक सुविधाजनक और पूरी तरह से सुरक्षित तरीके से ऑनलाइन सुविधाजनक धन स्थानांतरित कर सकते हैं।

आईसीआईसीआई बैंक के बारे में 

आईसीआईसीआई बैंक लि. के बारे में: आईसीआईसीआई बैंक ;छल्ैम्रूप्ठछद्ध भारत का निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है, इसकी समेकित कुल सम्पदा 172.5 बिलियन डाॅलर 31 मार्च 2018 को रही। आईसीआईसीआई बैंक की इकाइयों में भारत की शीर्ष बीमा कम्पनियां, सिक्यूरिटी ब्रोकरेज कम्पनियां, म्युच्युअल फण्ड तथा निजी इक्विटी कम्पनियां शामिल है। आईसीआईसीआई बैंक की उपस्थिति वर्तमान में भारत सहित 17 अन्य देशों में है।