अविश्वास प्रस्ताव पर दूसरे दिन भी नहीं हो सका विचार

idea of ​​non-confidence could not be done on the second day
idea of ​​non-confidence could not be done on the second day

SABGURU NEWS | नयी दिल्ली लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ लाये गये पहले अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा कराने के गृह मंत्री राजनाथ सिंह के अाश्वासन के बावजूद अन्नाद्रमुक और तेलंगाना राष्ट्र समिति के हंगामे के कारण आज दूसरे दिन भी इस पर विचार नहीं किया जा सका।

एक बार के स्थगन के बाद दोपहर 12 बजे सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू होने पर अन्नाद्रमुक और तेलंगाना राष्ट्र समिति के सदस्य अपनी मांगों के समर्थन में बैनर और प्लेकार्ड लेकर अध्यक्ष के आसन के समीप पहुंच गये तथा नारेबाजी करने लगे। राष्ट्रीय जनता दल के जयप्रकाश नारायण यादव भी कुछ कागज लहराते हुये आसन के पास पहुंच गये। शोर-शराबे के बीच ही अध्यक्ष ने जरूरी दस्तावेज सदन पटल पर रखवाये।

इसके बाद अध्यक्ष ने कहा कि श्री सिंह कुछ कहना चाहते हैं। गृह मंत्री ने खड़े होकर कहा कि जब से बजट सत्र का दूसरा चरण शुरू हुआ सदन की कार्यवाही लगातार बाधित हो रही है। उन्होंने कहा कि वह सत्तापक्ष की तरफ से यह कहना चाहते हैं कि सदस्य जो भी मुद्दे उठायेंगे सरकार उस पर चर्चा के लिए तैयार है। अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस मिला है और सरकार उस पर भी चर्चा के लिए तैयार है। उन्होंने सभी सदस्यों से अपील की कि वे सदन में शांति बनाये रखने में सहयेाग करें ताकि अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा हो सके।

श्री सिंह की अपील के बाद अध्यक्ष के आसन के समीप इकट्ठा अन्नाद्रमुक और टीआरएस के सदस्य जोर-जोर से नारेबाजी करने लगे, जिससे कुछ भी सुनायी नहीं दे रहा था।