जनता का फिर आशीर्वाद मिला तो विकास में राजस्थान रचेगा इतिहास : अशोक गहलोत

भीलवाड़ा। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से कहा है कि प्रदेश में जनता का फिर आशीर्वाद मिला और कांग्रेस सरकार रिपीट हुई तो राजस्थान विकास में इतिहास रचेगा।

गहलोत ने आज भीलवाड़ा जिले के रायपुर में कैलाश त्रिवेदी की मूर्ति अनावरण एवं 220 केवी जीएसएस भूमि पूजन कार्यक्रम के बाद लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हम चाहते है कि सरकार रिपीट हो और विकास में राजस्थान अग्रणीय बने। उन्होंने कहा कि हमारी किसी से दुश्मनी नहीं है, हम सभी से प्यार करते है चाहे आप हमारी आलोचना करो हम उसका भी स्वागत करेंगे।

उन्होंने रायपुर में कैलाश त्रिवेदी के नाम से स्टेडियम बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि जो भी मांगे आज रखी गई है वह सभी पूरी की जाएगी। उन्होंने स्टेडियम के लिए कहा कि उसकी डीपीआर बनाकर प्रस्ताव भिजवाएं। उन्होंने ने कहा कि विकास के लिए धन की कोई कमी नहीं है। आप मांगते-मांगते थक जाएंगे पर मैं देते-देते नहीं थकूंगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कैलाश त्रिवेदी ने लोगों से रिश्ते ही नहीं बनाए बल्कि क्षेत्र में विकास की गंगा भी बहाई। यही कारण है कि लोग आज उन्हें याद करते है। उन्होंने कहा कि शहरों में गरीबों के लिए राज्य सरकार ने एक योजना शुरू की है। उन्होंने कहा कि यह योजना देश के लिए शहीद होने वाली पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के नाम रखी गई हैं। इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना में तीस तरह के काम दिए गए है। उन्होंने चिरंजीवी योजना की चर्चा करते हुए कहा कि यह लोगों के साथ परिवार के लिए सम्बल भी बन रही है।

गहलोत ने कहा कि चित्तौडगढ़ में मूर्ति विसर्जन के दौरान तीन बच्चों की डूबने से मौत हुई है। उनके परिजनों को पांच-पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी गई है। इस योजना के तहत रायपुर-सहाड़ा क्षेत्र में लाभान्वित हुए लोगों के नामों की भी चर्चा की और कहा कि गरीबों को इसका लाभ मिल रहा है चाहे डायलिसीस हो, सिटी स्केन या हार्ट जैसी बीमारियां हो सभी का निशुल्क ईलाज हो रहा है और इनका ऑपरेशन किया जा रहा है।

बेरोजगारी की चर्चा करते हुए अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में सरकार ने इस कार्यकाल में युवाओं को तीन लाख 55 हजार सरकारी नौकरियां दी गई है। अगर सरकार फिर रिपीट होती है तो और नौकरियां देंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि पांचवें बजट में और नौकरियों की घोषणा की जाएगी।

गहलोत ने गुजरात में राजस्थान को बेरोजगारी के नाम पर बदनाम करने को गलत बताते हुए कहा कि गुजरात की रोजगार देने के मामले सबसे बुरी हालत है। उन्होंने कहा कि गुजरात प्रधामंत्री नरेन्द्र मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह का राज्य है जहां नौकरियां नहीं बल्कि कान्टेट पर काम दिए जा रहे है। उन्होंने मीडिया को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि उन्हें नेगेटिव खबरों में मजा आता है। उन्होंने कहा कि राजस्थान के युवाओं को रोजगार मिले, इसके लिए अगला बजट युवाओं को समर्पित होगा।

मुख्यमंत्री ने किसानों की कर्जमाफी की चर्चा करते हुए कहा कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने 14 हजार करोड़ रुपए की कर्जमाफी का भुगतान किया है। यही नहीं प्रदेश की सरकार ने किसानों पर जितने भी कर्जे है उन्हें माफ करने की घोषणा कर दी है। राजस्थान के बैंकों ने चाहे वह भूमि विकास बैंक हो या अन्य उनके द्वारा कर्ज माफ कर दिए गए है लेकिन केन्द्र के अधीन राष्ट्रीयकृत बैंकों ने इसमें रूचि नहीं दिखाई है, यह केन्द्र का मामला है।

अशोक गहलोत ने गंगापुर एवं सहाड़ा क्षेत्र में जिन किसानों के कर्ज माफी हुई उनके नाम भी गिनाए। साथ ही भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वह कर्जामाफी के नाम पर लोगों को गुमराह कर रही है। उसे यह कहते हुए शर्म नहीं आती कि राजस्थान में कर्ज माफ ही नहीं हुआ है।

गहलोत ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि वह किसानों का नहीं उद्योगपतियों का करोड़ों का कर्ज माफ करती है। गहलोत ने कहा कि हाल के ओलम्पिक खेलों की चर्चा करते हुए कहा कि इससे भाईचारा बढ़ा है और खिलाडिय़ों को आगे बढऩे का मौका मिला है।