कांग्रेस ने भ्रष्टाचार को पाला पोसा, गरीबों, किसानों से छल किया : मोदी

In poll-bound Chhattisgarh, PM Modi targets Congress over corruption

जांजगीर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ में चुनावी अभियान शुरू करते हुए कांग्रेस पर आज आरोप लगाया कि भ्रष्टाचार का पोषण किया और किसानों एवं गरीबों से किये वादे कभी नहीं निभाए।

मोदी ने छत्तीसगढ़ में ओडिशा की सीमा से सटे और बहुजन समाज पार्टी -छत्तीसगढ़ जन कांग्रेस के प्रभाव वाले जांजगीर चांपा में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया और छत्तीसगढ़ को उत्तर भारत से जोड़ने वाली प्रमुख बीना-कटनी-बिलासपुर रेलमार्ग के अनूपपुर-बिलासपुर खंड पर तीसरी रेललाइन बिछाने और राष्ट्रीय राजमार्ग 111 के ओडिशा जाने वाले बिलासपुर-पथरापाली खंड को चार लेन बनाने की परियोजना का शिलान्यास किया।

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की मौजूदगी में उन्होंने संचार क्रांति योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री सौभाग्य योजना, मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना तथा सौर सुजला योजना के दो-दो लाभार्थियों को संबंधित लाभ प्रदान किये। उन्होंने दो किसानों को नवा छत्तीसगढ़ 2025 तक अटल दृष्टिपत्र भी प्रदान किये जिसमें सात साल में 2025 में नये छत्तीसगढ़ के निर्माण की परिकल्पना दी गई है।

प्रधानमंत्री इस अवसर पर अपने संबोधन में कांग्रेस पर करारा हमला किया। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का नाम लिए बगैर कहा कि कांग्रेस के एक पूर्व प्रधानमंत्री कहते थे, हम एक रुपया भेजते हैं तो लोगों तक 15 पैसा पहुंचता है। आखिर वह कौन सा वो पंजा था, जो एक रुपए को 15 पैसा कर देता था ?…आज व्यवस्थाएं बदल गई है..अब पूरे 100 पैसे का काम होता है।

मोदी ने डॉ. रमन सिंह की तारीफ करते हुए कहा कि डॉ. रमन सिंह की सरकार ने छत्तीसगढ़ को प्रगति करने वाले राज्यों में शामिल करने में सफलता प्राप्त की है। उन्होंने कहा कि अगर राज्य में राजनीतिक स्थिरता नहीं होती तो यह संभव नहीं हो पाता। पर छत्तीसगढ़ के लोग समझदार हैं और वे जानते हैं कि वोट के माध्यम से राज्य के विकास में किस प्रकार से योगदान देना है।

उन्होंने कहा कि तमाम आरोपों, अफवाहों और आशंकाओं के बीच और कमर के नीचे प्रहार करने के बावजूद छत्तीसगढ़ की जनता कभी नहीं डिगी। राज्य के लोगों में लोकतंत्र के प्रति श्रद्धा है और वे पूर्ण बहुमत की सरकार का महत्व जानते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री की सोच काफी बड़ी है, दूसरा नेता होता तो सिर्फ वोटों से झोली भरने में जुटा रहता लेकिन सरकार की सोच ऐसी नहीं है, वह सोचते हैं कि छत्तीसगढ़ का विकास कैसे हो, छत्तीसगढ़ के लोगों का जीवन स्तर कैसे बेहतर हो।

उन्होंने कहा कि आपके चांउरवाले बाबा हैं, दूसरा कोई होता तो, चावल देता रहता, वोटों से झोली भरता रहता, नमक बांटता रहता, चप्पल बांटते रहता लेकिन मुख्यमंत्री की सोच विकास की है, विकास की कोई सीमा नहीं है, नई ऊंचाइयों का इरादा होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि पहले लोगों को यूरिया नहीं मिला करता था। किसान यूरिया लेने जाते थे, लाठी खाकर आते थे, जब वह खुद मुख्यमंत्री थे तो वर्षों तक केंद्र सरकार को दो बार चिट्ठी भेजते थे, पर किसानों को यूरिया नहीं मिलता था, क्योंकि यूरिया की चोरी हो जाती थी लेकिन अब ऐसा होता है।

उन्होंने किसानों की उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य लागत का डेढ़ गुना करने का श्रेय लेते हुए कांग्रेस पर हमला किया और कहा कि जो लोग किसानों से बड़े- बड़े वादे करके सत्ता में आए तो फिर वादे पूरे क्यों नहीं किए। उन्होंने लोगों से पूछा कि कांग्रेस ने कहा था कि गरीबी हटाएंगे क्या गरीबी हटी।

उन्होंने कहा कि आज भी देश के कई हिस्सों में लोग 18वीं सदी की जिंदगी जीने को मजबूर हैं, बिजली नहीं है, पानी नहीं है। अगर 21वीं सदी में भी लोगों को 18वीं सदी की तरह जीना पड़े, तो इसके लिए देश की पुरानी सरकारें ही जिम्मेदार है। मोदी ने कहा कि आज लोगों की सोच बदल गयी है। पहले लोग दिल्ली जाकर ज्ञापन देते थे, तो कच्ची सड़क की मांग करते थे लेकिन अब वो सिंगल लेन और डबल लेन सड़क की मांग करते हैं।

उन्होंने कहा कि पहले सिर्फ बड़े लोगों का काम होता था, अमीर-गरीब में काफी फासला था। पहले होता था कि गांव का प्रधान तय करेगा कि किसके घर में शौचालय बनेगा, लेकिन अब व्यवस्थाएं बदली हैं। अब अगर गांव में शौचालय बनेगा तो हर घर में बनेगा, गैस कनेक्शन बंटेगा तो सब के घर को मिलेगा। अब अंतर नहीं है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्व में जो भी काम होता है, अब केंद्र सरकार उसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती है, क्योंकि उसको पता है कि उसकी पाई-पाई का इस्तेमाल छत्तीसगढ़ के विकास में होगा।

इस मौके पर केन्द्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग विकास मंत्री नितिन गड़करी, केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री विष्णुदेव साय, छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल, राज्य सरकार के मंत्रीगण- रामसेवक पैकरा, अजय चंद्राकर, अमर अग्रवाल, बृजमोहन अग्रवाल, केदार कश्यप, प्रेमप्रकाश पाण्डेय, पुन्नूलाल मोहले, राजेश मूणत, श्रीमती रमशीला साहू, दयालदास बघेल, महेश गागड़ा और भईयालाल राजवाड़े, स्थानीय सांसद कमलादेवी पाटले तथा अन्य सभी सांसद, विधायकगण आदि उपस्थित थे।

देश के प्रधानमंत्री के पहली बार जांजगीर चांपा जिले में आने से उत्साहित स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने मोदी के आगमन पर उनका भव्य स्वागत किया। स्थानीय कृषि विज्ञान केन्द्र के वैज्ञानिकों द्वारा विकसित केले के वृक्ष के रेशों से बनी एक जैकेट और अलसी की झाड़ी के रेशों से निर्मित एक शॉल प्रधानमंत्री को भेंट किया गया।