मानवाधिकार हनन के मामलों में आयोग ने लिया संज्ञान

In the cases of human rights abuses, the Commission took cognizance
In the cases of human rights abuses, the Commission took cognizance

सबगुरु न्यूज़, भोपाल : मध्यप्रदेश मानव अधिकार आयोग ने मानवाधिकार हनन के आधा दर्जन से अधिक मामलों में संज्ञान लेते हुए संबंधित अधिकारियों से जवाब-तलब किया है।

आयोग द्वारा आज यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार आयोग जिला विदिशा के ग्यारसपुर में हुए सड़क हादसे में घायल हुए लोगों को उठाकर अस्पताल पहुंचाने वाले सुनील रघुवंशी के विरूद्ध ही पुलिस द्वारा गैर इरादतन हत्या का मामला बनाये जाने के संबंध में पुलिस अधीक्षक से प्रतिवेदन चाहा है। वहीं भोपाल के करोंद क्षेत्र में भालू द्वारा सात लोगों को घायल कर देने से रहवासी क्षेत्रों में दहशत फैलने के मामले में कलेक्टर एवं जिला वन मण्डलाधिकारी से प्रतिवेदन मांगा है।

इसी तरह ग्वालियर की दुष्कर्म पीड़िता को आरोपी द्वारा केस वापिस लेने के लिए घमकाने के संबंध में पुलिस की बेरूखी से आहत पीड़िता द्वारा जहर खाने के मामले में पुलिस महानिरीक्षक से प्रतिवेदन मांगा है। तो वहीं शकरखेडी स्थित ईंट के भट्टे में चार मजदूरों पर ईंटे गिर जाने से दो मजदूरों की मौत हो जाने के सिलसिले में पुलिस उप महानिरीक्षक तथा श्रमायुक्त इन्दौर से की गई कार्यवाही का प्रतिवेदन मांगा है।

इस प्रकार ब्यावरा के सिविल अस्पताल में मरीजों के साथ होने वाले दुर्व्यवहार और उनसे रूपये ऐंठने जैसी घटनाओं के मामले में सीएमएचओ राजगढ़ से प्रतिवेदन मांगा है। आयोग ने सीरोंज इलाके में रहने वाली पीड़िता के अपहरण और दुष्कर्म की घटना को पुलिस ने छेड़छाड़ में तब्दील कर देने के मामले में प्रतिवेदन मांगा है।

बच्चों-महिलाओं को दौड़ा-दौडा कर पीटा, इसके अलावा रीवा में बारातियों की बस पर गुण्डों द्वारा हमला कर लूटपाट करने के मामले में पुलिस अधीक्षक से प्रतिवेदन मांगा है।

आपको यह खबर अच्छी लगे तो SHARE जरुर कीजिये और  FACEBOOK पर PAGE LIKE  कीजिए, और खबरों के लिए पढते रहे Sabguru News और ख़ास VIDEO के लिए HOT NEWS UPDATE और वीडियो के लिए विजिट करे हमारा चैनल और सब्सक्राइब भी करे सबगुरु न्यूज़ वीडियो