छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री की उप सचिव के निवास पर आयकर का छापा

रायपुर/भिलाई। छत्तीसगढ़ में आयकर विभाग की दिल्ली से आई विशेष टीम द्वारा कल से सत्तारूढ़ कांग्रेस के नेता एवं रायपुर के महापौर एजाज ढ़ेबर, पूर्व मुख्य सचिव विवेक ढांड एवं उद्योग विभाग के संचालक आईएएस अधिकारी अनिल टूटेजा के ठिकानों पर शुरू कार्रवाई का दायरा बढ़ाते हुए आज मुख्यमंत्री की उप सचिव सौम्या चौरसिया एवं उनके विशेष कार्याधिकारी के घर पर छापे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

आयकर की टीम पांच वाहनों में भिलाई के सूर्या रेसीडेंसी में स्थित राज्य प्रशासनिक सेवा की अधिकारी सौम्या चौरसिया के आवास परिसर में दाखिल हुई,लेकिन आवास का द्वार नही खुलने से अन्दर प्रवेश नही कर पाई।

इसके बाद आयकर की टीम ने पंचनामा बनाकर राजेन्द्र चौक सुपेला से चाबी बनाने वाले को ले जाकर ताला खुलवाया और छानबीन शुरू कर दी है। इस दौरान राज्य पुलिस के कुछ अधिकारी वहां पहुंचे,लेकिन आयकर अधिकारियों के परिचय देने पर वापस लौट गए। इस बीच राजधानी में मुख्यमंत्री के विशेष कार्याधिकारी अरूण मरकाम के आवास पर भी छापे की कार्रवाई शुरू होने की खबर है।

आयकर की टीम ने बीती रात ही भिलाई में कांग्रेस नेता पप्पू बंसल के यहां भी छापे की कार्रवाई की।बंसल के घर का दरवाजा नही खोलने पर अधिकारियों ने उसे तोड़ दिया। इस दौरान मामूली झडप होने की भी खबर है। आबकारी विभाग के ओएसडी अरूणपति त्रिपाठी के घर कल सुबह से शुरू कार्रवाई आज भी जारी है। खबर है कि उनके घर से भारी नगदी एवं कई लैपटाप भी आयकर टीम ने कब्जे में लिए है।

आयकर अधिकरियों द्वारा केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल(सीआरपीएफ)को लेकर कल सुबह से ही छापे मारे जा रहे है,और राज्य पुलिस या प्रशासन से कोई मदद नही ली है।दुर्ग में भी राज्य पुलिस के कई जगहों पर जांच आदि के नाम पर आयकर दल के वाहनों को रोकने की खबर है।

रायपुर में भी पुलिस ने कल रात आयकर अधिकारियों के 20 वाहनों को पुलिस ने नो पार्किंग में होने के आरोप में जप्त कर लिया था। यह मामला आज विधानसभा में उठा,और भाजपा सदस्य शिवरतन शर्मा ने आयकर अधिकारियों के काम में राज्य सरकार पर बाधा उत्पन्न करने का आरोप लगाया।

आयकर विभाग की टीम ने छापे की कार्रवाई कल सुबह शुरू की थी,और राज्य पुलिस एवं अफसरों को इसकी भनक कार्रवाई शुरू होने के बाद लगी।इस बीच खबर है कि केन्द्रीय उत्पाद शुल्क खुफिया निदेशालय, राज्व विभाग, सीबीआई तथा केन्द्रीय उत्पाद शुल्क महानिदेशक की छह सदस्यीय टीम भी रायपुर पहुंच गई है। सूत्रों के अनुसार छापे की कार्रवाई अभी दो तीन दिन और चल सकती है।