रोमांचक मुकाबले में भारत ने वेस्ट इंडीज़ को तीन रन से हराया

पोर्ट ऑफ स्पेन। भारत ने शिखर धवन (97) और मोहम्मद सिराज (तीन विकेट) की बदौलत वेस्ट इंडीज़ को पहले एकदिवसीय मैच में तीन रन से मात दी।

भारत ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाज़ी करते हुए वेस्ट इंडीज़ के सामने 50 ओवर में 309 रन का लक्ष्य रखा, जिसके जवाब में वेस्ट इंडीज़ 305 रन बनाकर सिर्फ तीन रन से हार गयी। इस जीत के साथ भारत ने तीन मैचों की एकदिवसीय श्रंखला में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है।

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाज़ी के लिए भेजे जाने के बाद कप्तान शिखर धवन और शुभमन गिल के बीच शतकीय साझेदारी हुई। तेज़ गति से रन बना रहे गिल रन आउट हुए लेकिन धवन ने दूसरा छोर संभाले रखा। श्रेयस अय्यर के साथ मिलकर उन्होंने एक बड़े स्कोर की नींव रखी। हालांकि शतक से तीन रन दूर रहते हुए वह आउट हुए और उनके आउट होने के बाद एक सिलसिला शुरू हुआ जहां एक के बाद एक बल्लेबाज़ आउट होते चले गए।

वेस्टइंडीज़ के गेंदबाज़ों ने और विशेषकर स्पिनरों ने सटीक लाइन और लेंथ पर गेंदबाज़ी की। फ़ील्डरों ने उनका पूरा साथ दिया और बहुत रन बचाए। पिच बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल नज़र आ रही थी लेकिन अंतिम 45 मिनट में उसका रवैया बदला हुआ नज़र आया।

शिखर और शुभमन गिल ने भारत को ओपनिंग साझेदारी में 119 रन की शानदार शुरुआत दी। गिल 53 गेंदों में छह चौकों और दो छक्कों की मदद से 64 रन बनाकर आउट हुए। शिखर ने फिर श्रेयस अय्यर के साथ दूसरे विकेट के लिए 94 रन जोड़े।

शिखर अपने शतक से मात्र तीन रन दूर थे कि मोती कन्हाई की गेंद पर ब्रुक्स के हाथों कैच आउट हो गए। शिखर ने 99 गेंदों पर 97 रन में 10 चौके और तीन छक्के लगाए। अय्यर का विकेट शिखर के आउट होने के कुछ देर बाद ही गिर गया। अय्यर ने 57 गेंदों पर पांच चौकों और दो छक्कों की मदद से 53 रन बनाए। सूर्यकुमार 13 और संजू सैमसन 12 रन बनाकर आउट हुए। भारत ने पांचवां विकेट 252 के स्कोर पर गंवाया।

दीपक हुड्डा और अक्षर पटेल ने छठे विकेट के लिए 42 रन जोड़कर भारत को 300 के करीब पहुंचाया। 48वां ओवर शुरू होने से पहले तक 52 गेंदों में कोई बॉउंड्री नहीं लगी थी लेकिन 48वें ओवर में हुड्डा और पटेल दोनों ने एक-एक छक्का उड़ाते हुए 20 रन बटोरे। 49वें ओवर में अलजारी जोसफ ने दोनों बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया।

शार्दुल ठाकुर ने आखिरी गेंद पर चौका लगाते हुए भारत को 308 रन तक पहुंचाया। शार्दुल सात रन पर नाबाद रहे। वेस्ट इंडीज की तरफ से जोसफ और गुडाकेश मोती ने दो-दो विकेट लिए।

309 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए वेस्ट इंडीज़ ने शाई होप का विकेट 16 रन पर ही गंवा दिया। होप 18 गेंदों पर सात रन बनाकर सिराज की गेंद पर आउट हो गए। काइल मेयर्स और शमार्ह ब्रूक्स ने दूसरे विकेट के लिये 117 रन जोड़े। आउट होने से पहले ब्रूक्स ने 61 गेंदों पर चार चौकों और एक छक्के सहित 46 रन बनाए। मेयर्स ने तेज़ खेलते हुए 68 गेंदों पर 75 रन बनाए।

निकोलस पूरन 25 रन और रोवमैन पॉवेल छह रन बनाकर आउट हो गए, लेकिन चौथे नंबर पर आए ब्रेंडन किंग ने 54 (66) रन की अर्द्धशतकीय पारी खेलकर मैच में विंडीज़ को ज़िंदा रखा। जब किंग 45वें ओवर में आउट हुए तो वेस्ट इंडीज़ को 33 गेंदों में 57 रन की दरकार थी।

यहां से अकील हुसैन और रोमारियो शेफ़र्ड ने तेज़ी से रन जोड़ना शुरू किए। दोनों ने 48वें ओवर में 11 रन और 49वें ओवर में 12 रन जोड़े जिसके बाद मैच बेहद रोमांचक मोड़ पर आ खड़ा हुआ और आखिरी ओवर में भारत पर 15 रन बचाने की ज़िम्मेदारी थी। मोहम्मद सिराज ने 50वें ओवर की पहली गेंद डॉट डाली और दूसरी गेंद पर मात्र एक रन दिया, लेकिन शेफर्ड ने तीसरी गेंद पर बल्ले के अंदरूनी किनारे की बदौलत चार रन बटोर लिए।

चौथी गेंद पर दो रन लेने के बाद कैरिबियाई टीम को दो गेंदों पर आठ रन चाहिए थे। सिराज ने ओवर की पांचवीं गेंद वाइड डाली जिसे यदि संजू सैमसन ने विकेट के पीछे असाधारण प्रयास से न रोका होता तो वेस्ट इंडीज़ को चार रन और मिल जाते। अंतत: सिराज ने आखिरी दो गेंदों पर सिर्फ तीन रन देकर भारत को तीन रन से विजय दिलाई। भारत की ओर से सिराज, ठाकुर और युज़वेंद्र चहल ने दो-दो विकेट लिए। सीरीज़ का दूसरा मैच 24 जुलाई, रविवार को पोर्ट ऑफ स्पेन में ही खेला जाएगा।