हिटमैन रोहित शर्मा के कमाल से भारत ने सुपर ओवर में रचा इतिहास

India created history in the super over with the amazing opener Rohit Sharma

हैमिलटन। हिटमैन नाम से मशहूर उपकप्तान एवं ओपनर रोहित शर्मा ने सुपर ओवर की आखिरी दो गेंदों पर लगातार दो छक्के लगाकर भारत को न्यूजीलैंड के खिलाफ सांसों को रोक देने वाले बेहद रोमांचक मुकाबले में बुधवार को हैरतअंगेज जीत दिला दी।

भारत ने हार के जबड़े से वापसी करते हुए तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी के कमाल के आखिरी ओवर से कीवी टीम को बराबरी पर रोक दिया और फिर सुपर ओवर में जीत हासिल कर न्यूजीलैंड में पहली बार टी-20 सीरीज जीतने का इतिहास रच दिया।

भारत ने रोहित शर्मा (65) के सीरीज के पहले अर्धशतक से 20 ओवर में पांच विकेट पर 179 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया जबकि न्यूजीलैंड की टीम कप्तान केन विलियम्सन की 95 रन की करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी के बावजूद निर्धारित ओवर में छह विकेट पर 179 रन बना पाई।

मैच फैसले के लिए सुपर ओवर में गया जिसमें न्यूजीलैंड ने 17 रन बनाये जबकि भारत ने सुपर ओवर की पहली चार गेंदों पर मात्र आठ रन बनाए थे लेकिन रोहित ने अगली दो गेंदों पर छक्के मारकर जीत भारत की झोली में डाल दी। भारत ने सुपर ओवर में 20 रन बनाए और पांच मैचों की सीरीज में 3-0 की अपराजेय बढ़त बना ली।

इस मुकाबले में रोमांच अपनी पराकाष्ठा पर था और न्यूजीलैंड को लगातार दूसरे साल सुपर ओवर में मायूस होना पड़ा। न्यूजीलैंड की टीम पिछले साल इंग्लैंड में हुए एकदिवसीय विश्व कप के फाइनल में इंग्लैंड के हाथों मैच और सुपर ओवर टाई रहने के बाद बॉउंड्री काउंटबैक के आधार पर हार गई थी और इस बार उसे भारत के हाथों सुपर ओवर में पराजय का सामना करना पड़ा।

न्यूजीलैंड के पास मैच जीतने का पूरा मौका था लेकिन पहले शमी और फिर रोहित ने उसकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। मैच का आखिरी ओवर जब शुरू हो रहा था तब मेजबान टीम को जीत के लिए मात्र नौ रन की जरूरत थी और विलियम्सन 95 तथा रॉस टेलर 10 रन बनाकर क्रीज पर थे। शमी की पहली गेंद पर टेलर ने छक्का मार दिया जबकि दूसरी गेंद पर एक रन बना।

शमी ने तीसरी गेंद पर विलियम्सन को लोकेश राहुल के हाथों कैच करा दिया। विलियम्सन ने मात्र 48 गेंदों पर आठ चौकों और छह छक्कों की मदद से 95 रन बनाए और अपने पहले टी-20 शतक से चूक गए। विलियम्सन का आउट होने कीवी टीम को अंत में काफी भारी पड़ गया।

टिम साउदी ने न्यूजीलैंड के लिए छह बार सुपर ओवर डाला है जिसमें पांच बार न्यूजीलैंड को हार का सामना करना पड़ा है। साउदी ने टी-20 में अपना सबसे महंगा ओवर डाला जबकि बुमराह के करियर का यह तीसरा सुपर ओवर था जो उनका सबसे महंगा ओवर रहा।

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने इस जीत के बाद गदगद होते हुए कहा कि एक समय हमें लगा कि मैच हमारे हाथ से निकल गया। मैंने कोच से कहा कीवी इस मैच को जीतने के हकदार हैं क्योंकि जिस तरह केन बल्लेबाजी कर रहे थे उनका जीतना निश्चित नजर आ रहा था। लेकिन शमी का अनुभव हमारे काम आया।

आखिरी गेंद से पहले हमने चर्चा की कि स्टंप्स को हिट करना है क्योंकि एक रन तो उन्हें किसी तरह मिल ही जाता। शमी ने विकेट हासिल किया, मैच सुपर ओवर में गया और रोहित तो वाकई अदभुत हैं। ओवरआल यह एक शानदार जीत रही और न्यूजीलैंड में पहली बार टी-20 सीरीज जीतना सुखद है। इस जीत के बाद हम सीरीज को 5-0 से जीतने की पूरी कोशिश करेंगे।

इस हार से निराश किसी कप्तान केन ने कहा कि सुपर ओवर हमारे लिए ज्यादा सफल नहीं रहे हैं इसलिए हमें निर्धारित ओवरों में ही जीत हासिल करने की कोशिश करनी होगी। भारतीय टीम ने एक बार फिर निर्णायक मौकों पर अपना अनुभव दिखाया और मैच को हमारे हाथ से निकाल ले गए।

प्लेयर ऑफ द मैच रोहित ने राहत के साथ कहा कि मैंने सुपर ओवर में पहले कभी ऐसा नहीं किया था। मैंने गेंदबाज के गलती करने का इन्तजार किया और आखिरी दो गेंदों पर छक्के लगाए। महत्वपूर्ण मैच में महत्वपूर्ण खिलाड़ियों के लिए अच्छा प्रदर्शन करना जरूरी होता है।

इससे पहले निर्धारित ओवरों में रोहित के 65 के अलावा भारत की तरफ से लोकेश राहुल ने 19 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से 27, कप्तान विराट कोहली ने 27 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के के सहारे 38, श्रेयस अय्यर ने 16 गेंदों में एक छक्के की मदद से 17, मनीष पांडेय ने छह गेंदों में एक चौके और एक छक्के की मदद से नाबाद 14 और रवींद्र जडेजा ने पांच गेंदों में एक छक्के की मदद से नाबाद 10 रन बनाए। न्यूजीलैंड की तरफ से हामिश बेनेट ने 54 रन पर तीन विकेट लिए।

कीवी टीम के कप्तान विलियम्सन का 48 गेंदों में आठ चौकों और छह छक्कों की मदद से 95 रन की अपनी सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने का प्रयास अंत में बेकार चला गया। गुप्तिल ने 21 गेंदों में 31, कॉलिन मुनरो ने 14 और टेलर ने 17 रन बनाए। भारत की तरफ से शार्दुल ठाकुर और शमी ने दो-दो विकेट लिए।