भारत ने आसियान नेताओं के साथ मनाया गणतंत्र दिवस

India is celebrating its 69th Republic Day
India is celebrating its 69th Republic Day

नई दिल्ली। देश ने शुक्रवार को आसियान देशों के 10 विशिष्ट अतिथियों के साथ गणतंत्र दिवस समारोह मनाया। राजपथ पर इन अतिथियों की मौजूदगी में देश की सैन्य शक्ति और सांस्कृतिक विरासत का प्रदर्शन किया गया।

ऐसा पहली बार हुआ है कि एक साथ दक्षिण पूर्वी एशिया के दस देशों के राष्ट्राध्यक्षों को गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया। यह प्रशांत हिंद महासागर क्षेत्र के खास देश हैं और इनकी मौजूदगी इस क्षेत्र में भारत की बढ़ती रणनीतिक दिलचस्पी को दर्शा रही है।

राष्ट्रीय राजधानी में कोहरे की चादर के बावजूद बड़ी संख्या में लोग राजपथ के दोनों ओर भव्य परेड और झांकी का गवाह बनने के लिए उपस्थित रहे।

सबसे पहले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने राष्ट्रपति भवन में तिरंगा फहराया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की जिसके बाद परेड शुरू हुई।

रंग-बिरंगी पगड़ी पहने हुए मोदी ने मुख्य अतिथियों के लिए बने स्टेज पर व्यक्तिगत रूप से आसियान के नेताओं का स्वागत किया। स्टेज पर इन नेताओं के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण भी उपस्थित थीं।

तीनों सेनाओं के कमांडर इन चीफ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने थल सेना, वायुसेना और नौसेना की सलामी ली। इस मौके पर दिल्ली पुलिस और सुरक्षा बल भी चप्पे-चप्पे पर तैनात थे।

भारतीय सेना के टी-90 टैंक (भीष्म), बॉलवे मशीन पिकेट, ब्रह्मोस मिसाइल सिस्टम, हथियार का पता लगाने वाला रडार (स्वाती), पुल बिछाने वाला टैंक टी-72, मोबाइल आधारित ट्रान्सीवर स्टेशन और आकाश हथियार प्रणाली को प्रदर्शित किया गया।

इस बार गणतंत्र दिवस का मुख्य आकर्षण बीएसएफ की जाबांज महिलाएं रहीं जिन्होंने बाइक रॉयल इनफील्ड पर बेहतरीन करतब दिखाए। लोगों ने फिश राइडिंग, फोर हारमनी, सप्त ऋषि, योग गुलदस्ता, सीमा प्रहरी और फ्लैग मार्च पिरामिड के लिए ‘सीमा भवानी’ का ताली बजाकर स्वागत किया। यह किसी भी बल का पहला महिला दस्ता था जिसने बाइक पर करतब दिखाए। इसका नेतृत्व जम्मू एवं कश्मीर के लद्दाख क्षेत्र से सब-इंस्पेक्टर स्टांजीन नोरयांग ने किया।

इस समारोह में कई स्वदेशी हथियारों का भी प्रदर्शन किया गया जिसमें हेलीकॉप्टर रुद्र प्रमुख रहा। इसे हिदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड(एचएएल) ने बनाया है।

झांकी में ऑल इंडिया रेडियो के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साप्ताहिक कार्यक्रम ‘मन की बात’ और आयकर विभाग की झांकी में काले धन के खिलाफ मुहिम ‘स्वच्छ धन’ को प्रदर्शित किया गया।

90 मिनट तक चले इस समारोह में भारतीय वायु सेना ने कोहरे के बावजूद आकाश में अनोखे करतब दिखाए। इस दौरान हल्के विमान तेजस, जगुआर और मिग-29 ने आसमान में बेहतरीन करतब दिखाए। सुखोई-30 एमकेआई विमान ने आसमान में त्रिशूल की आकृति बनाई।

इससे पहले कोविंद ने शहीद ज्योति प्रकाश निराला की पत्नी को अशोक चक्र प्रदान किया। पिछले साल जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान में 31 वर्षीय भारतीय वायुसेना कमांडो शहीद हो गए थे। इस अभियान में छह आतंकवादी मारे गए थे। सैन्य परेड का नेतृत्व दिल्ली क्षेत्र मुख्यालय के जनरल ऑफिसर कमांडिंग लेफ्टिनेंट जनरल असित मिस्त्री ने किया।