भारत में कोरोना के विश्वभर में सर्वाधिक मामले

नई दिल्ली। भारत में वैश्विक महामारी कोरोना का तेज प्रसार थमने का नाम नहीं ले रहा है और पिछले 24 घंटों के दौरान इस संक्रमण के चार लाख 1993 मामले सामने आए जो विश्व भर में सबसे अधिक हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने शनिवार को यह जानकारी दी।

पिछले 24 घंटों के दौरान तीन हजार 523 लोगों की कोरोना से मौत हो गई जिसके साथ इस संक्रमण से मरने वालों की संखया दो लाख 11 हजार 853 हो गई। राहत की बात है कि अबतक एक करोड़ 56 लाख 80 हजार मरीजों ने कोरोना को मात दी है।

विशेषज्ञों के आकलन के अनुसार भारत के कोरोनो वायरस मामले अगले सप्ताह तीन से पांच मई के बीच चरम पर हो सकते हैं। संक्रमण पर नजर रखने के लिए गठित विज्ञानियों के समूह के प्रमुख एम विद्यासागर के अनुसार हमारा अनुमान है कि अगले सप्ताह तक, देश भर में राेज बढ़े हुए कोरोना के मामले सामने आएंगे।

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के डेटा के अनुसार 30 अप्रैल तक 28,83,37,385 नमूनों का परीक्षण किया गया। इनमें से 19,45,299 नमूनों का कल परीक्षण किया गया था। सोलह जनवरी, 2021 के बाद से, देश भर में कुल 15,49,89,635 लोगों को कोरोना के टीके लगाए गए हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 27,44,485 लोगों को यह खुराक दी गई।

अठारह से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों के लिए टीकाकरण का तीसरा चरण आज से शुरू हो रहा है। इस बीच दिल्ली, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, बंगाल, केरल, राजस्थान और मध्य प्रदेश ने कहा है कि उनके पास टीके की पर्याप्त खुराक नहीं है। केन्द्र ने उनके इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राज्यों के पास एक करोड़ की खुराक उपलब्ध है।