भारत ने मिसाइल दगने पर पाकिस्तान से खेद जताया

नई दिल्ली। भारत ने आज स्वीकार किया कि दो दिन पहले नियमित अनुरक्षण कार्य के दौरान किसी तकनीकी गड़बड़ी के कारण एक मिसाइल दग कर पाकिस्तान के इलाके में गिरी थी और इस घटना पर खेद व्यक्त करते हुए कहा कि इस घटना की उच्च स्तरीय जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

रक्षा मंत्रालय ने यहां एक बयान में कहा कि नौ मार्च को एक नियमित अनुरक्षण कार्य के दौरान तकनीकी गड़बड़ी के कारण एक मिसाइल दुर्घटनावश दग गई थी। भारत सरकार ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया है और इसकी उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं।

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि पता चला है कि यह मिसाइल पाकिस्तान के क्षेत्र में गिरी थी। इस अत्यंत खेदजनक घटना में यह राहत की बात रही कि मिसाइल के कारण किसी की जान नहीं गई।

गौरतलब है कि पाकिस्तानी सेना के एकीकृत सैन्य जनसंपर्क विभाग (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल बाबर इफ्तेखार ने कल मीडिया से कहा था कि भारत में हरियाणा के सिरसा से एक मानवरहित वस्तु सीमा पार करके पाकिस्तान में करीब सौ किलोमीटर अंदर मियां चन्नू इलाके में एक स्थान पर गिरी है। इसमें कोई हथियार नहीं था। इसलिए वह भारत से इस बारे में सूचना मिलने का इंतजार करेंगे।