‘श्रीलंका को लोकतांत्रिक माध्यम से पूरी मदद देगा भारत’

नई दिल्ली। भारत ने श्रीलंका की गंभीर स्थिति पर चिंता व्यक्त करते हुए आज कहा कि वह श्रीलंका के लोगों के लोकतांत्रिक एवं संवैधानिक माध्यमों से आर्थिक संकट से निपटने के प्रयासों को पूरा सहयोग देगा।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने यहां मीडिया के सवालों के जवाब में कहा कि श्रीलंका भारत का सबसे निकटतम पड़ोसी है और हमारे दोनों देशों के बीच बहुत गहरे सभ्यतागत संबंध हैं। हम उन बहुत सारी चुनौतियों के बारे में जानते हैं जिनका श्रीलंका और वहां के लोग सामना कर रहे हैं और हम श्रीलंका के लोगों के संकट से उबरने के प्रयासों के साथ हैं।

बागची ने कहा कि हमारी पड़ोसी प्रथम की नीति में श्रीलंका केन्द्रीय स्थान रखता है, भारत ने इस वर्ष श्रीलंका में गंभीर आर्थिक स्थिति को देखते हुए 3.8 अरब डॉलर से अधिक की सहायता दी है।

उन्होंने कहा कि हम श्रीलंका के हालात पर बहुत नज़दीकी निगाह रखे हुए हैं। भारत श्रीलंका के लोगों की लोकतांत्रिक माध्यमों, मूल्यों, स्थापित संस्थाओं एवं संवैधानिक ढांचे के दायरे में समृद्धि एवं तरक्की की आकांक्षाओं को पूरा करने की कोशिशों के साथ सहयोग कर रहा है।