सम्मान बचाने के लिए उतरेगा पांचवें और अंतिम टेस्ट में भारत

India vs England Test Series 2018 in hindi
India vs England Test Series 2018 in hindi

लंदन । विश्व की नंबर एक टीम भारत के सामने अब सम्मान बचाने की चुनौती है और उसे इंग्लैंड के खिलाफ शुक्रवार से ओवल मैदान में शुरू होने वाले पांचवें और अंतिम टेस्ट में हर हाल में जीत हासिल करनी होगी।

भारतीय टीम साउथम्प्टन में चौथा टेस्ट 60 रन से हारने के बाद सीरीज में 1-3 से पिछड़ चुकी है और उसे 1-4 की शर्मिंदगी से बचने की लड़ाई लड़नी है। कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने चौथे टेस्ट की हार के बाद स्वीकार किया है कि टीम में फिनिश लाइन पार न करने की कमजोरी अब भी बरकरार है। शास्त्री ने कहा है कि खिलाड़ियोंं को मानसिक दृढ़ता दिखाने की जरुरत है और कोच यह भी मानते हैं कि टीम आसानी से हार नहीं मानती है।

दूसरे टेस्ट को छोड़ दिया जाए तो बाकी तीन टेस्टों में टीम ने संघर्ष का पूरा जज़्बा दिखाया है। भारत ने दूसरा टेस्ट पारी और 159 रन से गंवाया था। भारत ने पहला टेस्ट 31 रन से और चौथा टेस्ट 60 रन से गंवाया था जबकि तीसरा टेस्ट उसने 203 रन से जीता।

दूसरी तरफ इंग्लैंड का लक्ष्य अपने पूर्व कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज एलेस्टेयर कुक को विजयी विदाई देना होगा। कुक ने चौथे टेस्ट के बाद एलान कर दिया था कि वह पांचवें मैच के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। सीरीज में 3-1 की अपराजेय बढ़त के साथ पांचवें मैच में उतरने जा रही इंग्लिश टीम कुक को 4-1 की जीत का तोहफा देना चाहेगी।

भारत यदि सीरीज का स्कोर 2-3 करना चाहता है तोे उसके बल्लेबाजों को जीवट भरा प्रदर्शन करना होगा। सीरीज में अब तक भारतीय बल्लेबाजों ने ही निराश किया है वरना यह सीरीज इंग्लैंड के बजाए भारत के नाम हो चुकी होती। पिछले मुकाबले में भारत के सामने 245 रनों का लक्ष्य था और टीम तीन विकेट पर 123 रन की सुखद स्थिति के बाद 184 रन पर ढेर हो गयी।

टीम प्रबंधन को आखिरी मैच में बल्लेबाजी को लेकर ही चिंता करनी होगी। ओपनर लोकेश राहुल स्लिप में तो अच्छे कैच पकड़ रहे हैं लेकिन बल्लेबाजी में उनका बल्ला खामोश पड़ा हुआ है। यही हाल उनके साथी शिखर धवन का है जो शुरुआत तो अच्छी करते हैं लेकिन फिर अपना विकेट गंवा देते हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि आखिरी दो टेस्टों के लिए टीम में शामिल किए गए युवा ओपनर पृथ्वी शॉ को अंतिम एकादश में जगह मिल पाती है या नहीं।

भारतीय बल्लेबाजी पूरी तरह कप्तान विराट कोहली पर निर्भर है जो अब तक सीरीज में चार मैचों में दोनों टीमों में सर्वाधिक 544 रन बना चुके हैं जिनमें दो शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं। यह मैच 18 साल केे पृथ्वी शॉ को मौका देने का एक शानदार अवसर है जिन्होंने इस साल के शुरू में भारत काे अपनी कप्तानी में अंडर-19 विश्व कप में जीत दिलाई थी।

राहुल ने लगातार चारों टेस्ट खेले हैं जिनमें अंतिम तीन टेस्ट में उन्होंने ओपनिंग की है लेकिन इनस्विंग गेंदों को खेलने में उन्होंने कमजोरी दिखाई है। भारत प्रयोग के तौर पर पृथ्वी को खेलाने का जोखिम उठा सकता है क्योंकि सीरीज हाथ से निकल चुकी है।

ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन चौथे टेस्ट से पहले फिट हो गए थे लेकिन आखिरी टेस्ट के लिए उनकी फिटनेस पर संदेह है। अश्विन यदि बाहर बैठते हैं तो विश्व रैंकिंग में तीसरे नंबर के गेंदबाज और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवीन्द्र जडेजा को मौका मिल सकता है जो अब तक चारों टेस्टों में बाहर बेंच पर बैठे रहे हैं।

टीम में एक सवाल आॅलराउंडर हार्दिक पांड्या को लेकर भी है जो बल्लेबाजी में निरंतरता नहीं दिखा पा रहे हैं। हालांकि कप्तान विराट को पांड्या की उपयोगिता पर कोई संदेह नहीं है लेकिन निचले मध्यक्रम में उनकी नाकामी का भारत को खासा नुकसान उठाना पड़ा। कल मैच में भारतीय एकादश का रूप ही सबसे बड़ा सवाल होगा।

दूसरी तरफ मेजबान टीम की नजरें कुक को विजयी विदाई देने पर लगी होंगी। कुक ने हाल ही में घोषणा की थी कि पांचवां टेस्ट उनके करियर का आखिरी टेस्ट होगा जिसके बाद वह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह देंगे। कुक का भारत के खिलाफ सीरीज के चार टेस्टों में निराशाजनक प्रदर्शन रहा है।

कुक ने इस सीरीज के चार टेस्टों की 7 पारियों में मात्र 109 रन बनाए हैं और इस दौरान उनका औसत महज 15.57 रहा है। इससे पहले भी कुक टेस्ट मैचों में संघर्ष कर रहे थे।उन्होंने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट में 13 और 0, दूसरे मैच में 21 रन, तीसरे टेस्ट में 29 और 17 तथा चौथे टेस्ट मैच में 17 और 12 रन बनाये। लेकिन कुक अपने अंतिम टेस्ट में यादगार प्रदर्शन करना चाहेंगे और इंग्लैंड की टीम भी उन्हें विजयी विदाई देना चाहेगी।

इंग्लैंड ने आखिरी टेस्ट के लिए बुधवार को 13 सदस्यीय टीम की घोषणा कर दी है। ओपनर कीटन जेनिंग्स को वापिस टीम में बुलाया गया है ताकि वह अपनी उपयोगिता साबित कर सकें। कीटन के साथ ओपनिंग में कुक रहेंगे। टीम में ओली पोप की भी वापसी हुई है। चौथे टेस्ट में नहीं खेल पाए क्रिस वोक्स को भी आखिरी मैच के लिए टीम में शामिल किया गया है।