सेंचुरियन वनडे : कोहली के शतक, ठाकुर के चौके ने भारत को दिलाई जीत

India vs South Africa: Virat Kohli, Shardul Thakur setup lopsided victory in 6th ODI, guide visitors to 5-1 series win
India vs South Africa: Virat Kohli, Shardul Thakur setup lopsided victory in 6th ODI, guide visitors to 5-1 series win

सेंचुरियन। शार्दूल ठाकुर (52-4) और मैन ऑफ द मैच कप्तान विराट कोहली (नाबाद 129) की एक और बेहतरीन शतकीय पारी के दम पर भारत ने शुक्रवार को सुपर स्पोर्ट पार्क मैदान पर खेले गए छठे वनडे मैच में दक्षिण अफ्रीका को आठ विकेट से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने छह वनडे मैचों की सीरीज 5-1 से अपने नाम करने में सफलता हासिल की।

भारतीय कप्तान ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और उनके गेंदबाजों ने मेजबान टीम को बड़ा स्कोर करने से महरूम रखते हुए अपने कप्तान के फैसले को सही साबित किया। दक्षिण अफ्रीका भारत के सामने सिर्फ 205 रनों का लक्ष्य ही रख पाई जिसे मेहमान टीम ने 32.1 ओवरों में दो विकेट खोकर आसानी से हासिल कर लिया।

भारत ने अपना पहला विकेट महज 19 रनों के कुल स्कोर पर रोहित शर्मा (15) के रूप में खो दिया। उन्हें लुंगी नगिड़ी ने विकेट के पीछे हेइनरिक क्लासेन के हाथों कैच कराया। कप्तान ने विकेट पर कदम रखा और मोर्चा संभाला। वह लगातार तेजी से रन बनाए जा रहे थे, लेकिन दूसरे छोर पर खड़े शिखर धवन को रन बनाने में परेशानी हो रही थी और नगिड़ी ने उनकी परेशानी का फायदा उठाते हुए 80 के कुल स्कोर पर उन्हें पवेलियन भेज दिया।

धवन ने 18 रन बनाने के लिए 34 गेंदें ली और दो चौैके लगाए। यहां से कोहली को अजिंक्य रहाणे का साथ मिला और दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 126 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को जीत दिलाई।

कोहली ने 27वें ओवर की आखिरी गेंद पर अपना 35वां वनडे शतक पूरा किया। यह कोहली का इस दौरे पर चौथा शतक है। उन्होंने अपनी शतकीय पारी में सिर्फ 96 गेंदों का सामना करते हुए 19 चौके और दो छक्के लगाए। कोहली को मैन ऑफ द सीरीज भी चुना गया। रहाणे ने अपनी समर्थन पारी में 50 गेंदें खेलीं और तीन चौके लगाए।

इससे पहले मेजबान टीम के बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों के सामने एक बार फिर नतमस्तक दिखाई दिए। भारतीय गेंदबाजों ने लगातार विकेट लेकर मेजबान टीम को 46.5 ओवरों में 204 रनों पर ही ऑल आउट कर दिया।

ठाकुर का यह तीसरा मैच है जिसमें उन्होंने अपने छोटे से करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। उनके अलावा युजवेंद्र चहल और जसप्रीत बुमराह को दो-दो सफलताएं मिलीं। हार्दिक पांड्या और कुलदीप यादव को एक-एक विकेट मिला।

एडिन मार्करम (24) और हाशिम अमला (10) की सलामी जोड़ी एक बार फिर मेजबान टीम को अच्छी शुरुआत देने से वंचित रह गई। इस सीरीज में पहली बार खेल रहे शार्दूल ने अमला को विकेट के पीछे महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच कराया। अमला 23 के कुल स्कोर पर आउट हुए।

ठाकुर ने मार्कराम को भी अपना शिकार बनाया। 43 के कुल स्कोर पर श्रेयस अय्यर ने उनका कैच पकड़ा। अब्राहम डिविलियर्स (30) और खाया जोंडो (54) ने टीम को संभाला। लग रहा था कि यह जोड़ी आसानी से टीम को बड़े स्कोर तक पहुंचा देगी, लेकिन चहल की फिरकी ने डिविलयर्स के विकेट को उखाड़ कर मेजबान टीम को बड़ा झटका दिया।

इस मैच में हेइनरिक क्लासेन (22) भी अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में बदल नहीं पाए और 135 के कुल स्कोर पर बुमराह की गेंद पर विराट कोहली के हाथों लपके गए। फरहान बेहरदीन सिर्फ 1 रन ही जोड़ सके। उन्हें ठाकुर ने अपना तीसरा शिकार बनाया।

क्रिस मौरिस (4) को धवन के हाथों कैच करा कुलदीप ने अपना खाता खोला। इसी बीच जोंडो ने अपना अर्धशतक पूरा कर लिया, लेकिन वह ज्यादा आगे नहीं जा पाए और चहल की गेंद पर हार्दिक पांड्या के हाथों लपके गए। उन्होंने 74 गेंदों की अपनी पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए।

जोंडो का विकेट 151 को कुल स्कोर गिरा। वह सातवें विकेट के रूप में आउट हुए। लग रहा था कि मेजबान टीम 200 के पार भी नहीं पहुंच पाएगी, लेकिन अंत में आंदिले फेहुलकवायो के 42 गेंदों में दो छक्के और दो चौके की मदद से 34 रन और मोर्ने मोर्कल के 19 गेंदों में दो छक्कों के मदद से 20 रनों की पारी खेलकर मेजबान टीम को 200 के पार पहुंचाया।