2nd ODI : भारत-वेस्ट इंडीज मुकाबला रोमांचक टाई

India vs West Indies, 2nd ODI : Shai Hope scripts a thrilling tie in Vizag
India vs West Indies, 2nd ODI : Shai Hope scripts a thrilling tie in Vizag

विशाखापट्नम। भारत और वेस्ट इंडीज के बीच दूसरा वनडे बुधवार को रोमांच की पराकाष्ठा पर पहुंचने के बाद टाई छूटा। भारत ने छह विकेट पर 321 रन बनाये जबकि वेस्ट इंडीज ने सात विकेट पर 321 रन बनाए। यह मुकाबला गजब के रोमांचक उतार चढ़ाव से भरपूर रहा।

वेस्ट इंडीज को आखिरी ओवर में जीत के लिए 14 रन चाहिए लेकिन उमेश यादव के इस ओवर में आखिरी गेंद के रोमांच पर मैच टाई समाप्त हो गया। विंडीज को आखिरी गेंद पर जीत के लिए पांच रन चाहिए थे और शतकधारी शाई हॉप ने चौका मारकर मैच टाई कराया। भारत अब पांच मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे है। भारत का यह 950वां वनडे था।

वेस्ट इंडीज के विकेटकीपर शाई होप ने 134 गेंदों पर 10 चौकों और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 123 रन की जबरदस्त पारी खेली। उन्होंने शिमरोन हेतमायेर 94 के साथ चौथे विकेट के लिए 143 रन की साझेदारी कर भारतीय कप्तान विराट कोहली के माथे पर पसीना ला दिया।

हेतमायेर अपना लगातार दूसरा शतक बनने से छह रन से चूक गए। उन्होंने 64 गेंदों की अपनी तूफानी पारी में चार चौके और सात छक्के लगाए।हेतमायेर का विकेट लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने लिया। भारत ने डैथ ओवरों में अच्छी वापसी की लेकिन अंत में जीत उसके हाथ नहीं लगी। आखिरी ओवर में लेग बाई के चार रन भारत को भारी पड़ गए। चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव ने 67 रन पर तीन विकेट लिए।

इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अपनी जबरदस्त फार्म बरकरार रखते हुये 37वां शतक ठोका, सबसे तेज़ 10 हजार रन पूरे किये और भारत ने 6 विकेट पर 321 रन बनाए।

विराट ने गुवाहाटी में पिछले मुकाबले में 140 रन बनाये थे और इस मैच में उन्होंने जैसे वहीं से बल्लेबाजी शुरू की जहां वह गुवाहाटी में छोड़कर आए थे। विराट ने 37वां शतक ठोका और अपनी पारी का 81वां रन बनाने के साथ ही एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे तेज़ 10 हजार रन पूरे कर विश्व रिकार्डधारी सचिन तेंदुलकर का रिकार्ड तोड़ दिया।

भारतीय कप्तान ने अपनी 205वीं पारी में 10 हजार रन पूरे किये जबकि सचिन ने 259वीं पारी में यह आंकड़ा छुआ था। विराट ने इसके साथ ही एक कैलेंडर वर्ष में सबसे तेज़ 1000 रन पूरे करने का दक्षिण अफ्रीका के हाशिम अमला का रिकार्ड तोड़ दिया। विराट ने 11 पारियों में 1000 रन पूरे किए।

विराट ने 129 गेंदों में 13 चौकों और चार छक्कों की मदद से नाबाद 157 रन बनाये। विराट के इस पराक्रम के दम पर भारतीय टीम 50 ओवर में 321 रन तक पहुंच गयी। अंबाटी रायुडू ने 80 गेंदों में 8 चौकों की मदद से 73, ओपनर शिखर धवन ने 30 गेंदों में 4 चौकों और एक छक्के के सहारे 29 रन, विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने 25 गेंदों में एक छक्के की मदद से 20 रन, रिषभ पंत ने 13 गेंदों में दो चौकों के सहारे 17 रन और रवींद्र जडेजा ने 14 गेंदों में 13 रन बनाए।

पहले वनडे की तरह दूसरे वनडे में भारतीय पारी पूरी तरह विराट के नाम रही। उन्होंने विस्फोटक अंदाज़ में बल्लेबाजी की और साथ ही भारतीय पारी को भी अपने मजबूत कंधों पर संभाले रखा। यह चौथा मौका है जब विराट ने 150 से अधिक का स्कोर बनाया है। विराट का वनडे में यह तीसरा निजी सर्वश्रेष्ठ स्कोर है। उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ 2012 में 183 और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2018 में नाबाद 160 रन बनाए थे।

विराट की पारी की सबसे बड़ी खासियत उनका सबसे तेज़ 10 हजारी बनना रहा। उन्होंने अपनी पारी में 81वां रन बनाया और एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे तेज़ 10 हजारी बन गए। पिछले मैच में नाबाद 152 रन बनाने वाले रोहित शर्मा इस बार 4 रन बनाकर केमर रोच का शिकार बन गए। शिखर धवन (29) को एश्ले नर्स ने जब पगबाधा किया तो भारत का स्कोर दो विकेट पर 40 रन हो गया।

भारतीय कप्तान ने फिर रायुडू के साथ तीसरे विकेट के लिए 139 रन की जबरदस्त साझेदारी कर भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। रायुडू को 33वें ओवर में नर्स ने बोल्ड किया। विराट ने फिर धोनी के साथ चौथे विकेट के लिए 43 रन, पंत के साथ पांचवें विकेट के लिए 26 रन और जडेजा के साथ छठे विकेट के लिए 59 रन जोड़े। विराट पूरे 50 ओवर खेलकर नाबाद पवेलियन लौटे।

वेस्टइंडीज़ की तरफ से नर्स ने 46 रन पर दो विकेट, ओबेद मैककॉय ने 71 रन पर दो विकेट, रोच ने 67 रन पर एक विकेट और मार्लाेन सैम्युअल्स ने 36 रन पर एक विकेट लिया।