India vs New Zealand : 11 साल बाद न्यूजीलैंड में सीरीज जीतने उतरेगा भारत

India will win the series in New Zealand after 11 years

वेलिंगटन। टेस्ट क्रिकेट में सफलता के रथ पर सवार विश्व की नंबर एक टीम भारत शुक्रवार से न्यूजीलैंड के खिलाफ शुरु होने वाले पहले टेस्ट मैच में जब उतरेगी तो उसका लक्ष्य 11 साल बाद कीवी जमीन पर सीरीज जीत हासिल करना होगा।

कप्तान विराट कोहली की अगुवाई में भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड दौरे की शानदार शुरुआत की थी और टी-20 सीरीज को 5-0 से जीता था। लेकिन तीन मैचों की वनडे सीरीज में टीम इंडिया का 0-3 से सफाया हो गया था। छोटे फॉर्मेट के बाद अब इस दौरे के आखिरी चरण में बड़े फॉर्मेट की बारी है और विश्व की नंबर एक टीम सीरीज को जीतने की प्रबल दावेदार मानी जा रही है। हालांकि उसे मेजबान टीम की चुनौती को वनडे के प्रदर्शन के आधार पर गंभीरता से लेना होगा।

भारत का इस दो टेस्ट मैचों की सीरीज में लक्ष्य 11 साल के अंतराल के बाद न्यूजीलैंड में टेस्ट सीरीज जीतना होगा। भारत ने आखिरी बार 2008-09 में न्यूजीलैंड में तीन मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी। इसके बाद भारत को 2013-14 में न्यूजीलैंड के हाथों दो मैचों की सीरीज में 1-0 से हार का सामना करना पड़ा था।

भारत अपनी पिछली पांच सीरीज में अपराजित है और इस दौरान उसने वेस्टइंडीज, ऑस्ट्रेलिया, वेस्टइंडीज, दक्षिण अफ्रीका और बंगलादेश को हराया है। अब उसके निशाने पर न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की सीरीज है।

भारतीय टीम इस समय आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप की तालिका में 360 अंकों के साथ नंबर एक स्थान पर है और उसकी नजरें दो मैचों की इस सीरीज से पूरे 120 अंक लेकर अपनी स्थिति मजबूत करने की रहेगी। भारत के बाद दूसरे नंबर पर ऑस्ट्रेलिया है जिसके 296 अंक हैं। न्यूजीलैंड 60 अंकों के साथ छठे स्थान पर है। टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल की होड़ में बने रहने के लिए न्यूजीलैंड को भी 120 अंकों की जरुरत रहेगी। लेकिन इसके लिए उसे अपने वनडे के प्रदर्शन को दोहराना होगा।

मैच की पूर्व संध्या तक भारतीय एकादश के लिए तस्वीर काफी हद तक साफ हो चुकी है। ओपनिंग के दो स्थानों के लिए मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ उतरेंगे जबकि ओपनिंग के तीसरे दावेदार शुभमन गिल न्यूजीलैंड एकादश के खिलाफ अभ्यास मैच की दोनों पारियों में सस्ते में आउट होकर मौका गंवा बैठे। ओपनिंग के बाद अगले तीन स्थानों पर चेतेश्वर पुजारा, कप्तान विराट और अजिंक्या रहाणे रहेंगे। ऑलराउंडर का स्थान लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा के पास रहेगा।

यह देखना दिलचस्प होगा कि कप्तान विराट इस मैच में दो स्पिनर और तीन तेज गेंदबाजों सहित पांच गेंदबाजों के साथ उतरते हैं या फिर एक स्पिनर सहित चार गेंदबाजों के साथ उतरते हैं,ताकि टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को जगह मिल सके। यदि पांच गेंदबाजों की स्थिति रहती है तो ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन को मौका मिल जाएगा लेकिन चार गेंदबाजों की सूरत में अश्विन को बाहर बैठना पड़ सकता है और एक अतिरिक्त बल्लेबाज के रुप में हनुमा विहारी को मौका मिल सकता है जिन्होंने अभ्यास मैच में शानदार शतक बनाया था।

विकेटकीपर का स्थान अनुभवी रिद्धिमान साहा के पास रहेगा जबकि इस दौरे में आठ मैचों से बाहर चल रहे युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत यही दुआ करेंगे कि उन्हें कम से कम एक बल्लेबाज के रुप में ही एकादश में जगह दे दी जाए।

अपनी टखने की चोट से उबर कर बेंगलुरु स्थित राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी में फिट घोषित किए गए इशांत शर्मा टीम इंडिया के साथ जुड़ चुके हैं और कप्तान विराट ने संवाददाता सम्मेलन में संकेत दिया है कि इशांत अभ्यास सत्र में अच्छी गेंदबाजी कर रहे हैं और उन्हें एकादश में मौका दिया जा सकता है।

इशांत दो अन्य तेज गेंदबाजों जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के साथ एकादश में जगह बनाएंगे और तेज आक्रमण की बागडोर संभालेंगे। लेकिन टीम प्रबंधन को मैच शुरु होने के पहले तक यह देखना होगा कि इशांत शत प्रतिशत फिट हैं या नहीं। क्योंकि वह जरा भी अनफिट रहते हैं तो उन्हें टीम इंडिया में खेलाना भारत को भारी पड़ सकता है।

मेजबान टीम के लिए इस बीच यह अच्छी खबर है कि उसके बाएं हाथ के तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट अपनी चोट से उबर चुके हैं और उन्हें टीम में शामिल किया गया है। बोल्ट टी-20 और वनडे सीरीज में नहीं खेले थे और उनकी उपस्थिति भारतीय बल्लेबाजों के लिए खतरनाक हो सकती है।

बोल्ट का आखिरी मैच मेलबोर्न में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरा टेस्ट था। टीम में स्पिनर एजाज पटेल को भी जगह मिली है। 31 वर्षीय लेफ्ट आर्म स्पिनर पटेल ने अपने सात टेस्ट मैचों में आखिरी मैच पिछले साल अगस्त में कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ खेला था।

तेज गेंदबाज काइल जैमिसन को भारत के खिलाफ वनडे सीरीज के दो मैचों में अच्छे प्रदर्शन का ईनाम मिला और उन्हें वेलिंगटन में अपना टेस्ट पदार्पण करने का मौका मिल सकता है। जेमिसन ने भारत के खिलाफ अपना वनडे पदापर्ण किया था।

ऑलराउंडर डैरिल मिशेल को भी टीम में शामिल किया गया है। उन्होंने अपना एकमात्र टेस्ट नवंबर में इंग्लैंड के खिलाफ हेमिलटन में खेला था। तेज गेंदबाज मैट हेनरी को भी टीम में शामिल किया गया है। हेनरी वही गेंदबाज हैं जिन्होंने पिछले साल एकदिवसीय विश्वकप के सेमीफाइनल में भारत के शीर्ष क्रम को झकझोरा था। हेनरी को तेज गेंदबाज नील वैगनर के विकल्प के तौर पर टीम में शामिल करने का फैसला किया गया है।

वैगनर जल्द ही पिता बनने वाले हैं इसलिए पहले टेस्ट मैच के लिए अंतिम एकादश में शामिल नहीं हो सकते। वैगनर के विकल्प के तौर पर कीवी टीम में शामिल किए गए हेनरी ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी और काइल जैमिसन के साथ मिलकर मेजबान टीम की गेंदबाजी को और अधिक धार देंगे।

पहले टेस्ट के लिए दोनों टीमें इस प्रकार हैं:-

भारत – विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी शॉ, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्या रहाणे, रिद्धिमान साहा, रवींद्र जडेजा, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, हनुमा विहारी, रिषभ पंत, नवदीप सैनी, शुभमन गिल, रविचंद्रन अश्विन।

न्यूजीलैंड- केन विलियमसन (कप्तान), टॉम ब्लंडेल, ट्रेंट बोल्ट, कॉलिन डी ग्रैंडहोम, काइल जैमिसन,टॉम लाथम, डैरिल मिशेल, हैनरी निकोल्स, एजाज पटेल, टिम साऊदी, रॉस टेलर, नील वागनेर, बीजे वाटलिंग।