भारतीय क्रिकेट पर मैच फिक्सिंग के काले बादल छाए, अब इस खुलासे ने कर दिया हैरान

india women cricketer-approached-for-match-fixing-bcci-files
india women cricketer-approached-for-match-fixing-bcci-files

स्पोर्ट्स डेस्क भारतीय क्रिकेट में एक बार फिर मैच फिक्सिंग के काले बादल छाने लगे है। एक भारतीय महिला क्रिकेट टीम की एक सदस्य ने मैच फिक्सिंग की शिकायत बीसीसीआई की ऐंटी करप्शन यूनिट से की है। खिलाड़ी का नाम न बताने कि शर्त पर ऐंटी करप्शन यूनिट ने दो लोगों के खिलाफ बेंगलुरु में एफआईआर दर्ज कराई है।

यह कथित घटना फरवरी में इंग्लैंड (England) के खिलाफ सीमित ओवरों की घरेलू श्रृंखला से पूर्व घटी थी. इस खिलाड़ी ने बोर्ड एसीयू को इसकी सूचना दे दी थी। बीसीसीआइ एसीयू के प्रमुख अजित सिंह शेखावत ने बताया कि ‘वह भारतीय और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर है, इसलिए आईसीसी ने इस मामले में जांच की। आईसीसी ने संपर्क करने वाले व्यक्ति को चेतावनी दी और हमें इस बारे में सूचित किया तथा माना कि क्रिकेटर ने संपर्क करने की सूचना देकर सही काम किया।’

आपको जानकारी में बता दें, यह मामला तमिलनाडु क्रिकेट संघ (TNCA) के द्वारा संचालित किए जाने वाले टूर्नामेंट तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) के बाद सामने आया था, जो कुछ प्रथम श्रेणी क्रिकेटरों और दो कोचों के संदिग्ध मैच फिक्सिंग के लिए बीसीसीआइ की भ्रष्टाचार रोधी इकाई की जांच के दायरे में आने से मुश्किल में फंसता नजर आ रहा है।

शेखावत ने बताया कि फरवरी में उस खिलाड़ी से इंस्‍टाग्राम के जरिए पिछले साल संपर्क किया। इसके बाद मैनेजर बनने का प्रस्‍ताव रखा। उन्होंने बताया कि महिला क्रिकेटर ने बीसीसीआई एसीयू को इस पूरी घटना की जानकारी दी। इसके अलावा उस महिला क्रिकेटर ने एक आरोपी के साथ फोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी उपलब्ध कराई है।