दक्षिण एशियाई खेलों में भारत ने जीते 150 से ज्यादा स्वर्ण पदक

India won more than 150 gold medals in 13th South Asian Games
India won more than 150 gold medals in 13th South Asian Games

काठमांडू। भारतीय पहलवानों ने 13वें दक्षिण एशियाई खेलों में अपनी श्रेष्ठता साबित करते हुए 14 स्वर्ण पदक जीत लिए। भारत ने आज 150 स्वर्ण पदकों का आंकड़ा पार कर लिया और वह कुल 300 पदकों की तरफ अग्रसर हो चला है। भारत ने पिछले दक्षिण एशियाई खेलों में 189 स्वर्ण सहित कुल 309 पदक जीते थे।

इन खेलों में सोमवार तक की पदक तालिका में भारत के 158 स्वर्ण, 92 रजत और 44 कांस्य पदक सहित कुल 294 पदक हो गए हैं। भारत के बाद मेजबान नेपाल 49 स्वर्ण, 53 रजत और 89 कांस्य पदक सहित 191 पदकों के साथ दूसरे तथा श्रीलंका 39 स्वर्ण, 78 रजत और 117 कांस्य पदक सहित 234 पदकों के साथ तीसरे स्थान पर है। आज इन खेलों में भारत ने कुश्ती में दो स्वर्ण, कबड्डी में दो स्वर्ण, महिला फुटबॉल में एक स्वर्ण, तलवारबाजी में तीन स्वर्ण, बास्केटबॉल में दो स्वर्ण, मुक्केबाजी में छह स्वर्ण, जूडो में चार स्वर्ण, टेनिस में दो स्वर्ण और तैराकी में चार स्वर्ण पदक जीते।

कुश्ती में सभी 14 स्वर्ण : भारत ने कुश्ती प्रतियोगिता में अपना दबदबा साबित करते हुए सभी 14 स्वर्ण पदकों पर क्लीन स्वीप कर लिया। कुश्ती मुकाबलों के अंतिम दिन सोमवार को गौरव बालियान ने पुरुष 74 किग्रा वर्ग में और अनीता श्योरण ने महिला 68 किग्रा में स्वर्ण पदक जीते। भारत ने पुरुष और महिला वर्गों में 7-7 स्वर्ण पदक जीते। सैग खेलों के नियमों के अनुसार एक देश 20 वजन वर्गों में से अधिकतम 14 वजन वर्गों में ही हिस्सा ले सकता है। इससे पहले रविवार को साक्षी मलिक (62), रविंदर (61), अंशु (59) और पवन कुमार (86) ने स्वर्ण पदक जीते थे। भारत के अन्य स्वर्ण विजेता सत्यव्रत कादियान (97), सुमित मलिक (125), गुरशरणप्रीत कौर (76),सरिता मौर (57), शीतल तोमर (50), पिंकी (53), राहुल (57) और अमित कुमार (65) हैं।

कबड्डी में दोनों स्वर्ण : कबड्डी की महाशक्ति भारत ने इन खेलों में अपनी श्रेष्ठता बरकरार रखते हुए पुरुष और महिला कबड्डी वर्गों के स्वर्ण पदक जीत लिए। भारतीय पुरुष टीम ने सोमवार को हुए फाइनल में श्रीलंका को 51-18 से और महिला टीम ने मेजबान नेपाल को 50-13 से पराजित किया।

महिला फुटबॉल टीम ने जीता स्वर्ण : बाला देवी के दो शानदार गोलों से भारतीय महिला फुटबॉल टीम ने मेजबान नेपाल को 2-0 से हराकर सैग खेलों में लगातार तीसरी बार स्वर्ण पदक जीत लिया। फाइनल मुकाबले में भारत के लिए बाला देवी ने 18वें और 56वें मिनट में गोल दागे। भारत ने इन खेलों में लगातार तीसरी बार स्वर्ण पदक जीता है। 29 वर्षीय बाला इस तरह इन खेलों में चार मैचों में पांच गोलों के साथ शीर्ष स्कोरर रहीं।।

तलवारबाजी में तीन स्वर्ण : भारत ने तलवारबाजी में दांव पर लगे तीनों स्वर्ण पदकों पर कब्जा कर लिया। भारत ने महिला टीम एपी, महिला टीम साबरे और पुरुष टीम फॉयल के स्वर्ण जीत लिए।

बास्केटबॉल में दोनों स्वर्ण : भारत ने बास्केटबॉल की तीन गुणा तीन स्पर्धा में पुरुष और महिला दोनों वर्गों के स्वर्ण पदकों पर कब्जा कर लिया।

मुक्केबाजी में छह स्वर्ण, दो रजत : भारतीय मुक्केबाजों ने छह स्वर्ण और दो रजत पदक जीत लिए। कलाईवानी श्रीनिवासन ने महिला 48 किग्रा में स्वर्ण पदक जीता जबकि शिक्षा को 54 किग्रा में रजत पदक मिला। शिक्षा को फाइनल में नेपाल की मीनू गुरंग ने हराया। पुरुष 64 किग्रा में विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक को फाइनल में नेपाल के भूपेंद्र थामा मगर से हारकर रजत पदक से संतोष करना पड़ा। भारत के अन्य स्वर्ण विजेताओं में अंकित खताना (75), विनोद तंवर (49), सचिन (56), गौरव चौहान (91) और परवीन (60) शामिल हैं।

जूडो में चार स्वर्ण : भारत ने जूडो मुकाबलों में चार स्वर्ण और दो रजत पदक जीत लिए हैं। भारत ने पुरुषों के 81 और 90 तथा महिलाओं के 70 और 78 प्लस किग्रा में स्वर्ण जीते जबकि उसे 100 और 100 प्लस किग्रा में रजत पदक मिले।

टेनिस में दो स्वर्ण और दो रजत : भारत ने टेनिस में पुरुष और महिला एकल वर्ग में स्वर्ण और रजत पदक जीत लिए हैं। पुरुष एकल में दूसरी सीड एम सुरेश कुमार ने हमवतन और टॉप सीड साकेत मिनेनी को 6-4, 7-6 से और महिला वर्ग में दूसरी सीड सात्विका समा ने टॉप सीड एस बाविशेट्टी को 4-6, 6-2, 6-5 से हराया। बाविशेट्टी ने निर्णायक सेट में मैच छोड़ दिया। इससे पहले भारत ने दोनों टीम स्वर्ण, महिला युगल स्वर्ण, पुरुष युगल स्वर्ण और मिश्रित युगल के स्वर्ण पदक भी जीते थे।

तैराकी में चार स्वर्ण : भारत ने तैराकी में महिला 50 मीटर बटरफ्लाई, पुरुष 400 मीटर मेडले, महिला 400मीटर मेडले और पुरुष 800 मीटर फ्री स्टाइल रिले के स्वर्ण जीते। भारत ने तैराकी में इसके अलावा पांच रजत और एक कांस्य पदक जीता।