भारतीय तीरंदाज़ दीपिका कुमारी ने वर्ल्ड कप इवेंट में जीता स्वर्ण

Indian Archery Deepika Kumari Gold at World Cup Event
Indian Archery Deepika Kumari Gold at World Cup Event

सॉल्ट लेक सिटी । अनुभवी भारतीय तीरंदाज़ दीपिका कुमारी ने लंबे समय से चल रही खराब फार्म को पीछे छोड़ते हुये यहां चल रहे वर्ल्ड कप स्टेज-थ्री इवेंट में महिलाओं की रिकर्व स्पर्धा का स्वर्ण पदक अपने नाम कर लिया है।

दीपिका ने करीब छह वर्ष के लंबे अर्से बाद स्वर्ण पदक जीता है। उन्होंने महिलाओं की रिकर्व स्पर्धा में जर्मनी की मिशेल क्रोपेन को 7-3 से हराकर सर्किट फाइनल के लिये भी क्वालीफाई कर लिया जो इस वर्ष के आखिरी में होगा।

पूर्व नंबर एक महिला तीरंदाज़ दीपिका इससे पहले 2011, 2012, 2013 और 2015 में चार बार विश्वकप फाइनल में रजत पदक जीत चुकी हैं। भारतीय खिलाड़ी ने इसी के साथ तुर्की के सैमसन में होने वाले विश्वकप तीरंदाज़ी फाइनल के लिये भी क्वालीफाई कर लिया है जहां वह सातवीं बार खेलने उतरेंगी।

दीपिका ने आखिरी बार वर्ष 2012 में तुर्की के अंताल्या में करीब छह वर्ष पहले विश्वकप स्टेज स्पर्धा में पदक जीता था। भारतीय खिलाड़ी ने अच्छी शुरूआत करते हुये 30 में से 29 अंक हासिल किये और 2-0 की बढ़त बनाई, लेकिन दूसरे सेट में उन्हें क्रोपेन के साथ अंक साझा करने पड़ गये। जर्मन खिलाड़ी ने फिर तीसरा सेट जीतकर 3-3 से बराबरी कर ली। लेकिन दीपिका ने चौथे सेट में 29 और पांचवें सेट में 27 अंक लेकर 7-3 से स्वर्ण जीत लिया जबकि मिशेल ने आखिरी दोनों सेटों में 26-26 अंक ही हासिल किये।

लंबे अर्से बाद जीत से उत्साहित दिख रहीं दीपिका ने विश्व तीरंदाजी महासंघ की वेबसाइट को दिये बयान में कहा“ मैं खुद से कह रही थी कि मैं कर सकती हूं, यह मेरा समय है। मैं पिछले परिणामों को भूलाकर केवल आगे की सोच रही थी और जीतते ही मैंने खुद से कहा कि मैंने कर दिखाया।”

दीपिका ने हालांकि विश्वकप फाइनल के लिये क्वालीफाई करने पर कहा कि वह इसे लेकर बहुत नहीं सोच रही हैं। उन्होंने कहा“ मुझे नहीं पता कि मैं क्वालीफाई कर लेने से संतुष्ट हूं या नहीं। फिलहाल मैं अपने खेल का मजा लेना चाहती हूं और अपने खेल पर ध्यान लगाना चाहती हूं।”
टूर्नामेंट में अन्य भारतीय तीरंदाज़ों में अभिषेक वर्मा ने व्यक्तिगत स्पर्धा में रजत पदक जीता जबकि मिश्रित टीम स्पर्धा में उन्होंने वी ज्योति सुरेखा के साथ कांस्य पदक हासिल किया। अन्य मिश्रित टीम स्पर्धा में अतानु दास और दीपिका कुमारी की जोड़ी चौथे स्थान पर रही।

भारत ने स्वर्ण, रजत और कांस्य अपने खाते में डाले। लेकिन दीपिका रिकर्व मिश्रित स्पर्धा में पदक नहीं दिला सकीं। दीपिका और अतानु की जोड़ी को चीनी ताइपे की तांग चिह चुन और तान या तिंग ने शूटऑफ में 4-5 से हराया। चार सेट के बाद भारतीय जोड़ी का स्कोर 37 रहा। दीपिका और अतानु दोनों ने 8-8 का स्कोर किया जबकि चीनी ताइपे की जोड़ी ने 9 और 8 के स्कोर किये।

अमेरिका के सॉल्ट लेक सिटी में 18 से 24 जून तक चले तीरंदाजी विश्वकप स्टेज इवेंट में भारत पदक तालिका में चौथे नंबर पर रहा जबकि उससे आगे अमेरिका, कोलंबिया और चीनी ताइपे रहे हैं।

भारतीय तीरंदाज़ों की यह टीम अब 16 से 22 जुलाई तक बर्लिन में होने वाले विश्वकप के चौथे चरण में हिस्सा लेने जाएगी। इसके बाद भारतीय टीम अगस्त-सितंबर में इंडोनेशिया में होने वाले एशियन गेम्स में देश का प्रतिनिधित्व करेगी।