इतिहास में पहली बार पांच मैचों की टी-20 सीरीज खेलने उतरेगी टीम इंडिया

आकलैंड। लगातार जीत के सवार टीम इंडिया अपने इतिहास में पहली बार पांच मैचों की टी-20 सीरीज खेलने उतरेगी और न्यूजीलैंड के खिलाफ शुक्रवार को होने वाले पहले टी-20 मैच में उसका लक्ष्य मेजबान टीम से हिसाब-किताब चुकता करना होगा।

भारत ने अब तक अपने इतिहास में अधिकतम तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेली है और यह पहली बार है कि भारतीय टीम पांच मैचों की टी-20 सीरीज खेलने जा रही है। 2020 का साल टी-20 विश्व कप का साल है जिसका आयोजन अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया में होना है। यही कारण है कि भारत पहली बार पांच मैचों की सीरीज खेल रहा है।

विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया न्यूजीलैंड के खिलाफ पिछली हार का बदला चुकाने उतरेगी। भारत को पिछले साल न्यूजीलैंड से एकदिवसीय विश्व कप के सेमीफाइनल में चौंकाने वाली हार का सामना करना पड़ा था और इसके अलावा भारत को 2018-19 के दौरे में न्यूजीलैंड से टी-20 सीरीज में 1-2 से हार का सामना करना पड़ा था। भारतीय टीम इस बार दोनों हार का बदला चुकाना चाहेगी ताकि वह विश्व कप के लिए अपनी तैयारी मजबूत कर सके।

भारतीय टीम को इस लम्बी सीरीज से विश्व कप के लिए अपना टीम संयोजन परखने का मौका मिलेगा। भारतीय टीम पिछली पांच टी-20 सीरीज से अपराजित है। भारत ने वेस्ट इंडीज को 3-0 से हराया था और दक्षिण अफ्रीका से सीरीज 1-1 से बराबर खेली थी। भारत ने फिर बंगलादेश को 2-1 से, वेस्ट इंडीज को 2-1 से और श्रीलंका को 2-0 से हराया था।

टीम इंडिया घरेलू सीरीज में शानदार प्रदर्शन के बाद न्यूजीलैंड के दौरे पर पहुंची है जहां उसे मेजबान टीम की कड़ी चुनौती से जूझना पड़ेगा। हालांकि भारतीय टीम को यह दौरा शुरू होने से पहले बाएं हाथ के ओपनर शिखर धवन के चोटिल होकर बाहर हो जाने से गहरा झटका लगा है। शिखर की जगह टीम में युवा आक्रामक बल्लेबाज संजू सैमसन को टीम में शामिल किया गया है।

विश्व कप की हार का बदला चुकाने उतरेगी टीम इंडिया

भारत का शीर्ष क्रम तो टॉप फॉर्म में है लेकिन उसका मध्य क्रम अभी तक पूरी तरह टेस्ट नहीं हो पाया है। सीरीज में ऐसे मौके आएंगे जो मध्य क्रम का टेस्ट करेंगे और इस परीक्षा में पास होने वाले खिलाड़ी ही विश्व कप टीम में जगह बना पाएंगे।

भारतीय टीम में इस समय सबसे दिलचस्प स्थिति विकेटकीपर को लेकर है। अनुभवी महेंद्र सिंह धोनी फिलहाल टीम से बाहर हैं और रेस से भी बाहर हैं लेकिन सैमसन को इस सीरीज में मौका मिलना ऋषभ पंत के लिए खतरे की घंटी है। ओपनर लोकेश राहुल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में पंत के चोटिल होने के बाद कीपिंग के लिए मौका मिलने पर विकेट के पीछे खुद को साबित किया है और पहले टी-20 की पूर्वसंध्या पर कप्तान विराट ने संकेत दिया है कि राहुल को आगे भी टी-20 में विकेटकीपिंग में मौका देने के लिए विचार किया जाएगा ताकि टीम में एक अतिरिक्त बल्लेबाज को खेलाया जा सके।

क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में टीम इंडिया का न्यूजीलैंड के खिलाफ हालांकि रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। भारतीय टीम ने कीवी टीम के खिलाफ अब तक 11 टी-20 मैच खेले हैं जिसमें उसे सिर्फ 3 में जीत मिली है जबकि 8 मुकाबलों में हार का मुंह देखना पड़ा है। आगामी टी-20 विश्व कप को ध्यान में रखते हुए विराट एंड कंपनी न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में छाप छोड़ना चाहेगी।

अनुभवी ओपनर शिखर धवन, आलराउंडर हार्दिक पांड्या तथा तेज गेंदबाजों दीपक चाहर और भुवनेश्वर कुमार की गैरमौजूदगी में टीम में शामिल युवा खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन करने को बेताब हैं।

दूसरी ओर न्यूजीलैंड की टीम जीत की लय को बरकरार रखने उतरेगी। हालांकि तेज गेंदबाज ट्रेंट बोल्ट की अनुपस्थिति से कीवी टीम को संघर्ष करना पड़ सकता है। विराट के प्रतिद्वंद्वी कप्तान केन विलियम्स अपने घर में बेहतर प्रदर्शन से ऑस्ट्रेलिया दौरे में मिली असफलता के दाग को धोना चाहेंगे।

न्यूजीलैंड का पिछले ऑस्ट्रेलियाई दौरे में काफी निराशाजनक्क प्रदर्शन रहा था जहा विलियम्सन ने बल्ले से निराश किया था। विलियम्सन चार पारियों में मात्र 57 रन बना पाए थे। लेकिन विराट मानते हैं कि परिणाम के आधार पर किसी की कप्तानी का पूरी तरह आकलन नहीं किया जाना चाहिए और विलियम्सन सीरीज में उनके सामने कड़ी चुनौती पेश करेंगे। न्यूजीलैंड ने इंग्लैंड से घरेलू टी-20 सीरीज पांच मैचों की खेली थी और इसे 2-3 से गंवाया था।

न्यूजीलैंड के पास पांच मैचों की सीरीज खेलने का अनुभव है जबकि भारतीय टीम पहली बार पांच मैचों की सीरीज खेलेगी। भारतीय टीम को यह ध्यान देना होगा कि उसे न्यूजीलैंड के मैदानों और मौसम को देखते हुए अपना प्रदर्शन करना होगा। भारत के तेज गेंदबाजों और स्पिनरों को हालात के हिसाब से प्रदर्शन करना होगा क्योंकि न्यूजीलैंड के मैदान छोटे हैं और मेजबान टीम के बल्लेबाज और गेंदबाज इन परिस्थितियों का फायदा उठाना जानते हैं।

सीरीज का पहला टी-20 ऑकलैंड के ईडन पार्क में खेला जाएगा। ऑकलैंड की परिस्थितियां अन्य भारतीय स्थलों से अलग है। यहां पर तेज हवाएं चलती हैं जिससे भारतीय बल्लेबाजों को सामंजस्य बिठाने में मुश्किलें पैदा हो सकती हैं। हालांकि शुक्रवार को बारिश की संभावना नहीं है। उमस रहेगी और तापमान 17 से 25 डिग्री सेल्सियस रहने का अनुमान है।

ऑकलैंड के ईडन पार्क का विकेट बल्लेबाजों के लिए मुफीद मानी जाती है। यहां गेंद अच्छी तरह से बल्ले पर आएगी। पिच पर उछाल होगी जिससे दोनों टीमों के तेज गेंदबाजों को अच्छा उछाल मिल सकता है और बल्लेबाज परेशानी में आ सकते हैं। यहां दूसरी पारी में बैटिंग अच्छा विकल्प होगा।

भारत टीम

विराट कोहली (कप्‍तान), रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, संजू सैमसन, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, रिषभ पंत, शिवम दुबे, रवींद्र जडेजा, वॉशिंगटन सुंदर, शार्दुल ठाकुर, मोहम्‍मद शमी, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, नवदीप सैनी और कुलदीप यादव।

न्यूजीलैंड टीम

केन विलियम्सन (कप्तान), हैमिश बेनेट, मार्टिन गुप्तिल, स्कॉट कुगलेजन, डेरिल मिचेल, कॉलिन मुनरो, रॉस टेलर, ब्लेयर टिकर, मिशेल सेंटनर, टिम सिफर्ट, ईश सोढी , टिम साउदी, कॉलिन डी ग्रैंडहोम और टॉम ब्रूस।