अबू धाबी में भारतीय क्यूरेटर मोहन सिंह की संदिग्ध हालत में मौत

अबू धाबी। अबू धाबी के शेख जायद क्रिकेट ग्राउंड की पिच बनाने वाले भारतीय क्यूरेटर मोहन सिंह की रविवार सुबह संदिग्ध हालत में मौत की खबर सामने आई है।

समझा जाता है कि मोहन, जो पहले चंडीगढ़ के मोहाली स्टेडियम से जुड़े थे, की मौत के कारणों का तत्काल पता नहीं चल पाया है, लेकिन स्थानीय पुलिस ने इसकी जांच शुरू कर दी है। अबू धाबी क्रिकेट अधिकारियों ने मोहन की मौत की पुष्टि करते हुए कहा है कि मोहन के परिवार को सूचित कर दिया गया है और वे अबू धाबी आ रहे हैं।

यह खबर तब भी सामने आई है जब अबू धाबी के मैदान पर अफगानिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच मैच चल रहा है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की ओर से मामले में तुरंत कोई टिप्पणी नहीं आई है, लेकिन यह स्पष्ट है कि आईसीसी ने टी-20 विश्व कप के लिए भारतीय मूल के क्यूरेटर की सेवाओं का इस्तेमाल किया था। समझा जाता है कि आईसीसी अबू धाबी के शेख जायद स्टेडियम के ग्राउंड स्टाफ के साथ जुड़ा हुआ है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के पूर्व मुख्य क्यूरेटर दलजीत सिंह ने इस पर कहा कि यह बहुत चौंकाने वाली खबर है। मोहन मुझे बहुत अच्छी तरह से जानते थे। वह बहुत मेहनती, प्रतिबद्ध और महत्वाकांक्षी इंसान थे। परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं।

उल्लेखनीय है कि लगभग 10 साल पहले संयुक्त अरब अमीरात जाने से पहले मोहन ने दलजीत के अधीन 10 साल से अधिक समय तक काम किया था। मोहन 90 के दशक के मध्य में अबू धाबी क्रिकेट की ओर से नियुक्त किए गए थे।