रेलवे के अस्पतालों में एचएमआईएस प्रणाली लागू

नई दिल्ली। भारतीय रेलटेल निगम ने देश भर में रेलवे के सभी 695 अस्पतालों और स्वास्थ्य केन्द्रों में अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) क्रियान्वित कर दी है। इससे मरीजों को शीघ्रता से और परेशानी मुक्त स्वास्थ्य देखभाल सुविधा मिल सकेगी। संपूर्ण चिकित्सा डेटा आसानी से उपलब्ध होने के साथ, डॉक्टर क्लिनिकल नॉलेज सपोर्ट से बेहतर इलाज करने में सक्षम होंगे।

रेल मंत्रालय के इस उपक्रम ने कोरोना महामारी के बीच रिकार्ड समय में इस परियोजना को पूरा किया है। एचएमआईएस प्रणाली रेलवे स्वास्थ्य प्रणाली और सेवाओं को अधिक पारदर्शी, प्रभावी, कुशल, जवाबदेह और रोगी के अनुकूल बना देगी। एचएमआईएस एक वेब-आधारित, बहु-मॉड्यूल, सुविधाओं से भरपूर, असाधारण रूप से परिष्कृत सॉफ्टवेयर सिस्टम है जो अस्पताल प्रशासन और मरीजों को एक अनूठा, अदभुत और बेहतर अनुभव कराती है।

एचएमआईएस सॉल्यूशन रेलवे अस्पतालों से संबंधित लगभग 25 मॉड्यूल के साथ अस्पताल प्रशासन की सभी गतिविधियों को कवर करेगा। इसमें क्लिनिकल, रोगी सेवा और सहायक मॉड्यूल जैसे ओपीडी, आईपीडी, लैब्स, फार्मेसी, रेफरल, मेडिकल परीक्षा, सिक-फिट सर्टिफिकेशन, मेडिकल दावों की प्रतिपूर्ति कतार प्रबंधन, मोबाइल ऐप, इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड, जांच, प्रवेश निर्वहन प्रणाली आदि शामिल हैं।

यह सॉल्यूशन पूरी तरह से आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन के अनुरूप है। यह प्रणाली रोगी मोबाइल ऐप मरीजों को उनके ओपीडी पंजीकरण, डॉक्टर के नुस्खे, लैब रिपोर्ट, स्व-पंजीकरण, ड्रग्स उपलब्धता, लेब टेस्ट उपलब्धता, स्पेशियलिटी उपलब्धता आदि से संबंधित सुगमता से सूचना सुनिश्चित करने के लिए लॉन्च किया गया है।

कंपनी के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक पुनीत चावला ने कहा कि अस्पताल प्रबंधन सूचना प्रणाली (एचएमआईएस) देश की डिजिटल परिवर्तन विकास यात्रा में एक और महत्वपूर्ण कदम है, जिसका 75 लाख से अधिक रेलकर्मियों, पेंशनभोगियों और उनके परिवारों के जीवन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।

चावला के अनुसार रोगी की संतुष्टि इस पूरी परियोजना का मुख्य उद्देश्य है, जिससे उन्हें परेशानी मुक्त वातावरण में स्वास्थ्य सेवा तक आसानी से एक्सेस करने में मदद मिलती है। क्लीनिकल नॉलेज सपोर्ट के माध्यम से डॉक्टरों को शीघ्रता से सेवाएं प्रदान करने में सहयोग करेगा।

एचएमआईएस में द्वारा उपलब्ध होने वाले व्यवस्थित और इंटेलिजेंट डेटा से प्रशासक बेहतर निर्णय लेने में सक्षम होंगे। सभी चिकित्सालय उपकरण, चिकित्सा प्रक्रियाएं और विभिन्नग आईटी प्रणालियां समेकित रूप से एकीकृत होने जा रही हैं। इस प्रणाली से स्वास्थ्य सुविधाओं और उनके संसाधनों का प्रभावी प्रबंधन होगा।

यह प्रशासनिक चैनल में शामिल अस्पतालों के सामूहिक/व्यक्तिगत निष्पादन की निगरानी कर सकेगा। लाभार्थियों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं उपलब्ध कराएगा। रोगी को चिकित्सा प्रक्रिया में लगने वाले समय में सुधार आएगा तथा सभी रोगियों का इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल रिकॉर्ड (ईएमआर) बनाएगा और संरक्षित करेगा।