भारत में कोरोना और माैत के मामले विश्व के अन्य देशों की तुलना में काफी कम

नई दिल्ली। देश में प्रति 10 लाख की आबादी पर कोरोना वायरस संक्रमण और इससे होने वाली मौतें विश्व के अन्य देशों की तुलना में काफी कम हैं और उनके मुकाबले भारत अभी बेहतर स्थिति में है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के विशेष कार्याधिकारी राजेश भूषण ने मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि विश्व में प्रति 10 लाख की आबादी में कोरोना वायरस मामलों का औसत 1638 व्यक्ति है जबकि भारत में यह 637 है और आंकड़ों के लिहाज से रूस और अमरीका में भारत की तुलना में क्रमश: सात तथा 14 गुना अधिक मामले सामने आ रहे हैं। रूस में 5028 प्रति 10 लाख और अमरीका में 9746 मामले प्रति 10 लाख मामले सामने आ रहे हैं। ब्राजील और स्पेन में यह संख्या 8656 और 5421 प्रति 10 लाख हैं।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की संख्या भी भारत में विश्व की तुलना में काफी कम है और वैश्विक औसत 73 मौतें प्रति 10 लाख की तुुलना में भारत का आंकड़ा मात्र 17.2 व्यक्ति है। ब्रिटेन में यह आंकड़ा 660, स्पेन में 607, अमरीका में 406, ब्राजील में 336 और मैक्सिको में 269 व्यक्ति प्रति 10 लाख है।

भूषण ने बताया कि देश में कोरोना मामलों की दैनिक वृद्धि दर में भी काफी कमी देखने को मिल रही है और 29 मार्च को जहां यह 31.28 प्रतिशत थी, यह तीन मई को घटकर 9.17 प्रतिशत रह गई थी और मई माह के अंत में यह और घटकर 4.82 प्रतिशत हो गई थी तथा 12 जुलाई को कम होकर 3.24 प्रतिशत हो गई है।

उन्हाेंने बताया कि देश में कोरोना वायरस के सक्रिय और ठीक हो चुके मामलों में भी काफी अंतर देखने को मिल रहा है। देश में इस समय सक्रिय मामले 311,565 हैं और ठीक हो चुके लोगों की संख्या 571,459 हैं और सक्रिय मामलों की तुलना में ठीक होने वालों की संख्या 1.8 गुना अधिक है।

उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के 86 प्रतिशत मामले 10 प्रभावित राज्यों से आ रहे हैं और दो सबसे अधिक प्रभावित राज्य महाराष्ट्र और तमिलनाडु हैं जो कुल मामलों का 50 प्रतिशत योगदान दे रहे हैं और शेष आठ राज्यों में 36 प्रतिशत मामले आ रहे हैं। इनमें कर्नाटक, दिल्ली, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल, गुजरात और असम शामिल हैं।

भूषण ने बताया कि देश में मई में कोरोना के सक्रिय मामले की संख्या कोरोना से ठीक होने वालों की संख्या अधिक थी और इसके बाद सक्रिय मामलों की तुलना में कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मामलों में वृद्धि देखने को मिल रही है।

देश में इस समय कोरोना के सक्रिय मामले 311,565 हैं और ठीक हो चुके लोगोें की संख्या 571,459 हैं। कोरोना वायरस से ठीक होने वाले मरीजों की रिकवरी दर तीन मई को मात्र 26.5 प्रतिशत थी और मई के अंत में यह बढ़कर 48 प्रतिशत के आसपास हो गई। जुलाई में इसमें और इजाफा हुआ है और 12 जुलाई तक यह 63.02 प्रतिशत दर्ज की गई जो काफी सकारात्मक संकेत है। देश में 20 राज्यों का रिकवरी रेट औसत दर से भी कहीं अधिक हैं।

देश में इस समय 853 सरकारी और 353 निजी प्रयोगशालाएं कोरोना की जांच में जुटी हुई हैं और 289 सरकारी लैब रैपिड एंटीजन टेस्ट कर रही है। आरटीपीसीआर आधारित लैब 628, ट्रूनेट जांच क्षमता वाले लैब 478 और सीबीएनएएटी लैब की संख्या 100 है।