PM मोदी ने 50 हजार लोगों के साथ देहरादून में किया योग

international yoga day 2018 : PM Modi does yoga with 50 thousand people in Dehradun

देहरादून/नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि पूरे विश्व में अच्छी सेहत और तंदरूस्ती की तलाश में योग पद्वति एक बड़ा जन आंदोलन बन चुकी है।

मोदी ने देहरादून के वन अनुसंधान संस्थान में गुरूवार को आयाेजित चौथे अंतरराष्ट्रीय याेग दिवस कार्यक्रम में कहा कि पूरे विश्व ने योग को अपना लिया है और इसका उदाहरण यह है कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर यह हर साल मनाया जाने लगा है।

उन्होंने कहा कि याेग ने पूरे विश्व को बीमारी से अच्छे स्वास्थ्य की तरफ जाने का रास्ता दिखाया है और यह लोगों को आपस में जोड़ता है, उन्हें समाहित करने में मदद करता है।

मोदी ने कहा कि भारतीयों को अपनी इस धरोहर पर गर्व होना चाहिए और इससे इसकी समद्धता को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा“ योग अाज पूरे विश्व में एकीकरण की बहुत बड़ी ताकत बन चुका है।

उन्होंने कहा है कि योग केवल शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के लिए शारीरिक अभ्‍यास नहीं है। यह स्‍वास्‍थ्‍य आश्‍वासन का पासपोर्ट है, तंदरूस्‍ती और सेहत की कुंजी है। योग केवल सुबह में किया जाने वाला शारीरिक अभ्‍यास नहीं है, परिश्रम और संपूर्ण जागरूकता के साथ की जाने वाली दैनिक गतिविधियां भी योग का हिस्सा है।

उन्होंने कहा कि विश्‍व में योग नियंत्रण और संयम का विश्‍वास है, मानसिक तनाव से गुजर रही दुनिया में योग शांति प्रदान करता है, विचलित विश्‍व में योग ध्‍यान में सहायता करता है, भय के विश्‍व में योग आशा, शक्ति और साहस का विश्‍वास कराता है। इस वर्ष याेग दिवस की थीम शांति के लिए याेग है और 2017 में इसकी थीम शांति अौर समरसता थी।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इन दिनों यूरोप के दौरे पर हैं और वह ब्रसेल्स में यूराेपीय संसद में अंतराष्ट्रीय याेग दिवस कार्यक्रमाें की अगुवाई करेंगी।

उत्तरी गोलार्ध में 21 जून सबसे बड़ा दिन हाेता है और इसके बाद दिन की अवधि घटती जाती है और इसी वजह से विश्व के अनेक भागों में इस दिन की विशेष अहमियत रहती है।

सूरीनाम की यात्रा पर गए राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने एक टवीट् कर कहा कि अंतरराष्ट्रीय याेग दिवस के मौके पर विश्व में याेग करने वाले वाले सभी लोगों को बधाई। योग एक प्राचीन भारतीय परंपरा है लेकिन यह केवल भारत तक ही सीमित नहीं है और समूची मानवता की अमूर्त धरोहर है। आप जहां कहीं भी हों, मैं आपको याेग पद्वति के बारे में जानने और इसे करने के लिए आमंत्रित करता हूं।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने लखनऊ स्थित राजभवन में काफी लोगों के साथ याेग किया। उन्होंने कईं टवीट् कर कहा कि पूरे विश्व में याेग को लोकप्रिय बनाने में हमारे प्रधानमंत्री ने काफी अहम भूमिका निभाई है और योग उनकी सांस्कृतिक कूटनीति का एक उदाहरण है।

इस वर्ष हमारी सरकार ने सऊदी अरब की पहली महिला योग प्रशिक्षक नौऊफ मारावाई को पद्मश्री से सम्मानित किया है। विश्व में योग की लाेकप्रियता और स्वीकार्यता बढ़ती जा रही है और यह धर्माें तथा सरहदों की सीमाओं को लांघ रहा है।

उन्होंने कहा कि योग को किसी खास धर्म से नहीं जोड़ा जाना चाहिए क्याेंकि जब भारत ने संयुक्त राष्ट्र में अंतराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव पेश किया था तो अनेक मुस्लिम देशों ने इसका समर्थन किया था।

उत्तराखंड़ में प्रधानमंत्री के साथ राज्यपाल के के पाल, केन्द्रीय आयुष राज्य मंत्री श्रीपद येसो नायक अौर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के अलावा अन्य विशिष्ट व्यक्ति मौजूद थे। उप राष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने मुंबई में योग सत्र में हिस्सा लिया।

राजधानी दिल्ली में मुख्य समारोह राजपथ पर आयाेजित किया गया जिसमें उप राज्यपाल अनिल बैजल ने हिस्सा लिया। सूचना और प्रसारण मंत्री कर्नल (सेवानिवृत) राज्यवर्धन सिंह राठौर ने शाहदरा में याेग सत्र में हिस्सा लिया। इसके अलावा समूची राजधानी में अलग अलग जगहों पर योग कार्यक्रमों का आयोजन किया गया।