इंज़माम उल हक ने छोड़ा पीसीबी के मुख्य चयनकर्ता का पद

कराची। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के आईसीसी विश्वकप में निराशाजनक प्रदर्शन के बाद उसके चयनकर्ता प्रमुख इंजमाम उल हक ने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया जिनका आधिकारिक रूप से कार्यकाल इस माह 31 जुलाई तक था।

पूर्व क्रिकेटर हक ने तुरंत प्रभाव से अपने पद से इस्तीफा देने की घोषणा की है। रविवार को इंग्लैंड में संपन्न हुए आईसीसी विश्वकप में टीम के प्रदर्शन और उसके चयन को लेकर काफी सवाल उठे थे। हक ने बुधवार को संवाददाता सम्मेलन में बताया कि उन्होंने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को इस फैसले की जानकारी दे दी है।

हक ने कहा कि मैं पिछले तीन वर्षाें से अधिक समय से मुख्य चयनकर्ता के पद पर था और मैंने अपने करार को आगे नहीं बढ़ाने का फैसला किया है। सितंबर में आईसीसी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप, आईसीसी ट्वंटी 20 विश्वकप 2020 और फिर 2023 में आईसीसी पुरूष विश्वकप होना है। मेरा मानना है कि यह सही समय है जब पीसीबी को अपना नया चयनकर्ता प्रमुख चुन लेना चाहिए जो बोर्ड में नए विचार और नई उर्जा के साथ काम करे।

पाकिस्तान के लिए सर्वाधिक टेस्ट खेलने वाले हक ने कहा कि मैंने पीसीबी अध्यक्ष अहसान मनी और प्रबंध निदेशक वसीम खान से बात कर सोमवार को ही उन्हें अपना फैसला बता दिया था। मैं चयन समिति को मदद के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं।

49 वर्षीय हक ने यह भी साफ कर दिया कि बोर्ड ने हालांकि उन्हें इस पद पर बने रहने के लिए किसी तरह का प्रस्ताव नहीं दिया है। उन्होंने विश्वकप में अपनी टीम के प्रदर्शन को भी अच्छा बताया और टीम की सराहना की। पाकिस्तानी टीम सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करने से चूक गया था।

हक को अप्रैल 2016 में पाकिस्तान बोर्ड ने मुख्य चयनकर्ता नियुक्त किया था। उनके कार्यकाल में पाकिस्तान ने चैंपियंस ट्रॉफी जीतने जैसी बड़ी कामयाबी हासिल की थी। हालांकि विश्वकप टीम में अपने रिश्तेदार के चयन को लेकर हक काफी आलोचना का शिकार हुए थे।