चेन्नई सुपरकिंग्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 5 विकेट से हराया

IPL 2018 : Chennai Super Kings beat Kings XI Punjab by 5 wickets
IPL 2018 : Chennai Super Kings beat Kings XI Punjab by 5 wickets

पुणे। लुंगी एनगिदी (10 रन पर चार विकेट) की घातक गेंदबाजी के बाद सुरेश रैना के नाबाद 39 और दीपक चाहर के 39 रनों के दम पर चेन्नई सुपरकिंग्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को आईपीएल मुकाबले में रविवार को पांच विकेट से हरा दिया।

पंजाब इस हार के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गयी जबकि उसकी हार के बाद राजस्थान रॉयल्स प्लेऑफ में पहुंचने वाली चौथी और अंतिम टीम बन गई। सनराइजर्स हैदराबाद, चेन्नई और कोलकाता नाईट राइडर्स पहले ही प्लेऑफ में पहुंच चुके थे। प्लेऑफ के लिए हैदराबाद पहले, चेन्नई दूसरे, कोलकाता तीसरे और राजस्थान चौथे स्थान पर रही।

पंजाब को यह मैच 53 रन के अंतर से जीतना था ताकि वह बेहतर नेट रन रेट के आधार पर प्लेऑफ में पहुंच सके लेकिन उसने इतना कम स्कोर बनाया कि चेन्नई को शुरूआती लड़खड़ाहट के बावजूद जीत हासिल करने में कोई परेशानी नहीं हुई। पंजाब ने 19.4 ओवर में 153 रन बनाये जबकि चेन्नई ने 19.1 ओवर में पांच विकेट पर 159 रन बनाकर जीत अपने नाम कर ली। एनगिदी मैन ऑफ द मैच रहे।

धोनी का तेज गेंदबाज अंकित राजपूत को छठे नंबर पर भेजना मास्टर स्ट्रोक रहा। राजपूत ने अपने कप्तान के फैसले को सही साबित करते हुए मात्र 20 गेंदों पर 39 रन में एक चौका और तीन छक्के ठोक डाले। रैना ने 42 गेंदों पर नाबाद 39 रन में सिर्फ दो चौके लगाए। कप्तान धोनी ने विजयी छक्का मारा और 10 रन पर नाबाद रहे।

लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई की भी शुरुआत अच्छी नहीं रही और उसने 27 रन तक तीन विकेट गंवा दिए। उसका चौथा विकेट भी इसी स्कोर पर गिर जाता लेकिन आरोन फिंच ने पहली स्लिप में खड़े क्रिस गेल के हाथों में जा रहे कैच को बीच में छलांग लगाकर टपका दिया। इस मौके पर दुर्भाग्यशाली गेंदबाज थे अंकित राजपूत जो पांचवें ओवर में लगातार गेंदों पर फाफ डू प्लेसिस और सैम बिलिंग्स के विकेट निकाल चुके थे।

पांचवें नंबर पर भेजे गए हरभजन सिंह ने जीवनदान का फायदा उठाते हुए 22 गेंदों पर 19 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया। हरभजन और चाहर को पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने आउट किया लेकिन चेन्नई ने अंतिम ओवर की पहली गेंद पर जीत हासिल कर ली।

इससे पहले पंजाब ने क्रिस गेल, आरोन फिंच और लोकेश राहुल के विकेट मात्र 16 रन तक गंवाने के बाद वापसी करते हुए 19.4 ओवर में 153 रन बनाए लेकिन यह स्कोर ऐसा नहीं था जो उसे प्लेऑफ में पहुंचा सके। पंजाब के जिन तीन बल्लेबाजों को बड़े स्कोर बनाने चाहिए थे वे सस्ते में निपट गए। गेल खाता नहीं खोल सके, फिंच ने चार रन बनाए और पंजाब की सबसे बड़ी उम्मीद राहुल इस बार 11 गेंदों में सात रन ही बना सके।

फिंच ने अपनी टीम का उस समय भी नुकसान किया जब उन्होंने स्लिप में हरभजन सिंह का कैच छोड़ा। उस समय हरभजन का खाता नहीं खुला था और चेन्नई का स्कोर तीन विकेट पर 27 रन था। फिंच की यह चूक अंत में पंजाब को भारी पड़ी।

मनोज तिवारी ने 30 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 35 रन, डेविड मिलर ने 22 गेंदों में एक चौके और एक छक्के के सहारे 24, करुण नायर ने 26 गेंदों में तीन चौके और पांच छक्के उड़ाते हुए 54 और अक्षर पटेल ने 12 गेंदों में 14 रन बनाकर पंजाब को 153 तक पहुंचाया।

लुंगी एनगिदी ने चार ओवर में मात्र 10 रन देकर चार विकेट झटके जबकि शार्दुल ठाकुर और ड्वेन ब्रावो ने दो-दो विकेट निकाले। दीपक चाहर और रवींद्र जडेजा को एक-एक विकेट मिला।