IPL 2018 : दिल्ली डेयरडेविल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 34 रन से हराया

IPL 2018: Delhi Daredevils beat Chennai Super Kings by 34 runs
IPL 2018: Delhi Daredevils beat Chennai Super Kings by 34 runs

नई दिल्ली। विजय शंकर (नाबाद 36) तथा हर्षल पटेल (नाबाद 36) के बीच छठे विकेट के लिए मात्र 32 गेंदों में 65 रन की अविजित तूफानी साझेदारी तथा गेंदबाजों के सधे हुए प्रदर्शन की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को आईपीएल 11 के मुकाबले में शुक्रवार को फिरोजशाह कोटला मैदान में 34 रन से हराकर दिल छूने वाली जीत दर्ज की।

दिल्ली ने अपनी पारी के आखिरी ओवर में चार छक्कों सहित 26 रन बटोरे थे जो अंत में निर्णायक साबित हुए। दिल्ली ने पांच विकेट पर 162 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने के बाद चेन्नई की चुनौती को छह विकेट पर 128 रन पर थाम लिया। दिल्ली की 13 मैचों में यह चौथी जीत है जबकि चेन्नई की 13 मैचों में यह पांचवीं हार है।

लक्ष्य का पीछा करते हुए अंबाटी रायुडू और शेन वाटसन ने पहले विकेट के लिए 6.5 ओवर में 46 रन की साझेदारी की। लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने वाटसन को ट्रेंट बोल्ट के हाथों कैच कराकर इस साझेदारी को तोड़ा। वाटसन ने 23 गेंदों पर 14 रन में एक छक्का लगाया।

रायुडू ने शानदार बल्लेबाजी की और हर्षल पटेल की गेंद को मारने की कोशिश में ग्लेन मैक्सवेल को कैच थमा बैठे। रायुडू ने 29 गेंदों पर 50 रन में चार चौके और चार छक्के लगाए।

रायुडू का विकेट 70 के स्कोर पर गिरा। रायुडू का विकेट गिरने के बाद मैदान में उतरे चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का करीब 40 हजार दर्शकों ने पूरे स्टेडियम में मोबाइल के फ़्लैश जलाकर स्वागत किया। हालांकि दूसरे छोर पर सुरेश रैना भी ज्यादा देर तक विकेट पर नहीं टिक सके और 18 गेंदों में 15 रन बनाकर 17 वर्षीय नेपाली लेग स्पिनर संदीप लैमिछाने को मारने की कोशिश में विजय शंकर को कैच थमा बैठे।

चेन्नई ने तीसरा विकेट 90 के स्कोर पर गंवाया। सैम बिलिंग्स मात्र एक रन बनाकर मिश्रा का दूसरा शिकार बन गए। चेन्नई का चौथा विकेट 93 के स्कोर पर गिरा। रवींद्र जडेजा ने आने के साथ ही लैमिछाने छक्का मारा और चेन्नई के 100 रन 16 वें ओवर में पूरे कर दिए।

चेन्नई की रन गति धीमी हो चुकी थी और मैच फंसा नजर आ रहा था। दिल्ली के गेंदबाज बेहतर गेंदबाजी कर रहे थे। धोनी अपने चिर परिचित बड़े शॉट नहीं खेल पा रहे थे और 18 वें ओवर की आखिरी गेंद पर धोनी का विकेट गिरते ही चेन्नई की उम्मीदें समाप्त हो गई।

धोनी ने आश्चर्यजनक रूप से बेहद धीमी बल्लेबाजी करते हुए 23 गेंदों पर मात्र 17 रन में एक चौका लगाया। बोल्ट की गेंद पर धोनी का कैच दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने लपका।
दिल्ली की तरफ से बोल्ट और मिश्रा ने 20-20 रन देकर दो-दो विकेट झटके जबकि लैमिछाने और पटेल को एक एक विकेट मिला।

इससे पहले युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत के तेज तर्रार 38 और विजय शंकर तथा हर्षल पटेल के बीच छठे विकेट के लिए मात्र 32 गेंदों में 65 रन की अविजित साझेदारी की बदौलत दिल्ली डेयरडेविल्स ने पांच विकेट पर 162 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया।

पटेल ने आखिरी ओवर में ड्वेन ब्रावो की गेंदों पर चार शानदार छक्के उड़ाते हुए कुल 26 रन बटोरे जिसकी बदौलत दिल्ली 162 तक पहुंच सकी। पटेल ने मात्र 16 गेंदों पर नाबाद 36 रन में एक चौका और चार छक्के उड़ाए जबकि विजय ने 28 गेंदों पर नाबाद 36 रन में दो चौके और दो छक्के लगाए।

चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने टॉस जीतकर पहले फील्डिंग करने का फैसला किया। शानदार फॉर्म में खेल रहे युवा ओपनर पृथ्वी शॉ 17 गेंदों में एक चौके हुए एक छक्के की मदद से 17 रन बनाकर आउट हुए और उनका शिकार दीपक चाहर ने किया। कप्तान श्रेयस अय्यर और विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने दूसरे विकेट के लिए 54 रन की साझेदारी लेकिन इसके बाद दिल्ली ने चार विकेट 19 रन के अंतराल में गंवा दिए।

इस मैच में चेन्नई टीम में शामिल किए गए दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाज लुंगी एनगिदी तीन रन के अंतराल में अय्यर और पंत के विकेट लेकर दिल्ली को दबाव में ला दिया। अय्यर ने 22 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 19 रन बनाए।

पंत ने 26 गेंदों में तीन चौके और दो छक्के उड़ाते हुए 38 रन ठोके और आईपीएल 11 में 600 रन भी पूरे कर लिए। पंत इस टूर्नामेंट में यह उपलब्धि हासिल करने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गए। इससे पहले किंग्स इलेवन पंजाब के लोकेश राहुल 652 और सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन 625 ने टूर्नामेंट में 600 रन पूरे किये थे।

दिल्ली की अंतिम एकादश में शामिल किये गए ग्लेन मैक्सवेल ने काफी निराश किया और वह सात गेंदों में मात्र पांच रन बनाकर आउट हो गए। लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने मैक्सवेल को बोल्ड किया। युवा बल्लेबाज अभिषेक शर्मा दो रन बनाकर शार्दुल ठाकुर की गेंद पर हरभजन सिंह को कैच थमा बैठे। दिल्ली का पांचवां विकेट 97 के स्कोर पर गिरा। दिल्ली के 100 रन 15 ओवर में पूरे हुए।

दिल्ली की रन गति धीमी चल रही थी और चुनौतीपूर्ण स्कोर तक पहुंचने के लिए उसकी उम्मीदें विजय शंकर पर टिकी हुई थीं। विजय ने कुछ अच्छे शॉट खेले। हर्षल पटेल ने विजय का अच्छा साथ दिया और दोनों ने छठे विकेट के लिए 65रन की साझेदारी की जिसकी बदौलत दिल्ली ने लड़ने लायक स्कोर बना लिया।

चेन्नई की तरफ से ब्रावो ने चार ओवर में 52 रन लुटाये जबकि एनगिदी ने 14 रन पर दो विकेट, चाहर ने 23 रन पर एक विकेट, जडेजा ने 19 रन पर एक विकेट और ठाकुर ने 27 रन पर एक विकेट लिया।