IPL 2018 : नए कप्तान श्रेयस अय्यर के विस्फोट से जीती दिल्ली डेयरडेविल्स

IPL 2018: Delhi Daredevils beat kolkata knight rider by 55 runs
IPL 2018: Delhi Daredevils beat kolkata knight rider by 55 runs

नई दिल्ली। कप्तानी संभालते ही युवा बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने तीखे तेवर दिखाते हुए फिरोजशाह कोटला मैदान में मात्र 40 गेंदों पर तीन चौकों और 10 छक्कों की मदद से नाबाद 93 रन की तूफानी पारी खेलकर दिल्ली डेयरडेविल्स को कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ शुक्रवार को आईपीएल 11 के मुकाबले में 55 रन से जीत दिला दी।

नए कप्तान के आते ही दिल्ली की किस्मत भी बदल गयी और उसने आखिर जीत के दीदार कर लिए। दिल्ली ने 20 ओवर में चार विकेट पर 219 रन का आईपीएल 11 का अब तक का सर्वाधिक स्कोर बनाने के बाद कोलकाता को नौ विकेट पर 164 रन पर थाम लिया। दिल्ली की सात मैचों में यह दूसरी जीत है और उसने खुद को आठवें और फिसड्डी स्थान से ऊपर उठा लिया है। दूसरी तरफ कोलकाता को सात मैचों में चौथी हार का सामना करना पड़ा।

इस मैच से आईपीएल में कप्तानी की शुरुआत करने वाले अय्यर ने युवा गेंदबाज शिवम मावी के पारी के आखिरी ओवर में चार गगनचुम्बी छक्के और एक चौका उड़ाते हुए 29 रन बटोरे जिसकी बदौलत दिल्ली ने इस सत्र में न केवल अपना सर्वाधिक स्कोर बनाया बल्कि आईपीएल 11 का भी अब तक का सर्वाधिक स्कोर बना दिया। दिल्ली ने आखिरी चार ओवर में 76 रन बटोरे। अय्यर अपनी इस विध्वंसक पारी से मैन ऑफ द मैच भी बने।

दिल्ली के पहाड़ जैसे स्कोर के आगे केकेआर की चुनौती शुरुआत में ही दम तोड़ गई और उसने 46 रन तक अपने चार विकेट गंवा दिए। क्रिस लिन पांच, रोबिन उथप्पा एक, सुनील नारायण 26 और नीतीश राणा आठ रन बनाकर आउट हो गए। ग्लेन मैक्सवेल ने लिन को, ट्रेंट बोल्ट ने उथप्पा और नारायण को तथा अवेश खान ने राणा को आउट किया। रही सही कसर लेग स्पिनर अमित मिश्रा ने कोलकाता के कप्तान दिनेश कार्तिक को आउट कर पूरी कर दी। कार्तिक ने 18 रन बनाए।

कार्तिक का विकेट टीम के 77 के स्कोर पर गिरा लेकिन इसके बाद युवा बल्लेबाज शुभमन गिल और आंद्रे रसेल विकेट पर अड़ गए। दोनों ने टीम के स्कोर को 141 तक पहुंचा दिया। स्थिति अभी रोमांचक होती कि अय्यर के थ्रो पर गिल रन आउट हो गए। गिल ने 29 गेंदों पर 37 रन में तीन चौके और एक छक्का लगाया।

गिल और रसेल ने छठे विकेट के लिए 64 रन जोड़े। अवेश ने रसेल को बोल्ड कर कोलकाता का प्रतिरोध समाप्त कर दिया। रसेल ने 30 गेंदों पर 44 रन में तीन चौके और चार छक्के लगाए। कोलकाता की टीम 164 रन ही बना सकी। बोल्ट, मैक्सवेल, अवेश और मिश्रा ने दो-दो विकेट लिए।

अय्यर को गौतम गंभीर के कप्तानी छोड़ने के बाद कप्तान बनाया गया और उन्होंने विस्फोटक पारी खेल कर दिखाया कि वह यह जिम्मेदारी संभालने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। गंभीर को इस मैच में एकादश में भी नहीं रखा गया जिसका सीधा असर दिल्ली की बल्लेबाजी पर नजर आया जो आज पूरी तरह बदली दिखाई दी। अय्यर ने ग्लेन मैक्सवेल के साथ चौथे विकेट के लिए 73 रन की बड़ी साझेदारी की।

अंडर-19 टीम के तेज गेंदबाज शिवम मावी सबसे महंगे गेंदबाज रहे जिन्होंने चार ओवर में एक विकेट लेकर 58 रन दिए। उन्होंने अपने और पारी के आखिरी ओवर में 29 रन खर्च किए। मिशेल जॉनसन ने चार ओवर में 42 रन और सुनील नारायण ने तीन ओवर में 35 रन दिए।

सलामी बल्लेबाज कोलिन मुनरो (32) और अंडर-19 टीम के कप्तान पृथ्वी शॉ (62) ने दिल्ली डेयरडेविल्स को शानदार शुरुआत दिलाई। पहले ओवर में सिर्फ तीन रन बटोरने वाली घरेलू टीम ने तीसरे ओवर तक स्कोर बोर्ड पर 31 रन टांग दिए थे। गंभीर की जगह उतरे मुनरो रंग में दिखे। पारी के दूसरे ओवर की पांचवी गेंद पर छक्के के साथ मुनरो ने तेजी से रन बटोरना शुरु किया।

अपना 200वां टी-20 खेल रहे लेग स्पिनर पीयूष चावला के दूसरे और पारी के तीसरे ओवर में पहले मुनरो ने दो चौके लगाए। उसके बाद शानदार लय में दिख रहे शॉ ने भी दो चौके जड़े। पांच ओवर तक दिल्ली ने दस रन प्रति ओवर की रफ्तार से 50 रन बना लिए थे। दिल्ली के लिए पहले विकेट की साझेदारी में 59 और दूसरे विकेट की साझेदारी में 68 रन जोड़े गए।

केकेआर के कप्तान दिनेश कार्तिक ने इसके बाद गेंदबाजी में बदलाव कर शिवम मावी, मिशेल जॉनसन और सुनील नारायण को आक्रमण पर लगाया। जॉनसन हालांकि रन रफ्तार रोकने में नाकाम रहे लेकिन मावी ने आते ही मुनरो को परेशान किया और अपने दूसरे ओवर में उन्हें पवेलियन का रास्ता दिखाया। मावी की 143 की रफ्तार से किए गए यार्कर को भांपने में मुनरो असफल रहे और बोल्ड हुए।

इस दौरान छोटे कद के पृथ्वी लगातार केकेआर के लिए लाइलाज रहे। उन्होंने कोलकाता के किसी गेंदबाज को नहीं छोड़ा और शानदार बल्लेबाजी करते हुए 38 गेंदों में अर्धशतक पूरा किया। इस दौरान उन्होंने छह चौके के साथ एक छक्का भी जड़ा। पृथ्वी ने 44 गेंदों पर 62 रन की पारी में सात चौके और दो छक्के लगाए।

दूसरी तरफ नए कप्तान अय्यर ने भी बखूबी जिम्मेदारी निभाई और शॉ को खेलने का पूरा मौका दिया। दोनों ने महज 34 गेंदों में दूसरे विकेट के लिए 50 रन की साझेदारी पूरी की। निर्भिकता से खेलते हुए शॉ ने 44 गेंदों पर 62 रन की पारी खेली और चावला के शिकार पहले शिकार बने।

अय्यर ने इसके बाद धुआंधार बल्लेबाजी करते हुए 29 गेंद में अर्धशतक लगाया। हालांकि इस दौरान दिल्ली के स्टार बल्लेबाज रिषभ पंत खाता खोले बिना ही जल्दी ही पवेलियन लौटे। पंत को आंद्रे रसेल ने आउट किया।

इससे पहले शॉ और अय्यर ने दूसरे विकेट के लिए 68 की साझेदारी कर दिल्ली को मजबूत स्कोर की तरफ बढ़ा दिया। इसके बाद दूसरे छोर पर उतरे ग्लैन मैक्सवेल ने भी कप्तान का अनुसरण किया और ताबड़तोड़ बल्लेबाजी शुरु की।

दोनों ने मिलकर दिल्ली को 200 के पार पहुंचा दिया। हालांकि आखिरी ओवर में मैक्सवेल रन आउट हुए। मैक्सवेल ने 18 गेंदों पर एक चौके और दो छक्कों की मदद से 27 रन बनाए।