IPL 2018 : राजस्थान रॉयल्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 30 रन से हराया

जयपुर। युवा लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल (16 रन पर चार विकेट) की कहर बरपाती गेंदों से राजस्थान रॉयल्स ने करो या मरो के मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को शनिवार को 30 रन से हराकर आईपीएल 11 से बाहर कर दिया और टूर्नामेंट के प्लेऑफ में पहुंचने की अपनी उम्मीदों को कायम रखा।

राजस्थान और बेंगलुरु दोनों की प्लेऑफ में पहुंचने की उम्मीदें इस मैच को जीतने पर टिकी हुई थीं लेकिन विराट कोहली की बेंगलुरु टीम गोपाल के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के आगे घुटने तक गई। गोपाल ने निर्णायक मौके पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते चार ओवर में मात्र 16 रन देकर चार विकेट झटके। गोपाल ने ट्वंटी 20 में पहली बार चार विकेट हासिल किए।

राजस्थान ने ओपनर राहुल त्रिपाठी के नाबाद 80 रन की बदौलत पांच विकेट पर 164 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और बेंगलुरु के चैलेंज को 19.2 ओवर में 134 रन पर थाम लिया।

राजस्थान की 14 मैचों में यह सातवीं जीत है और उसके 14 अंक हो गए हैं लेकिन प्लेऑफ के लिए उसे अभी दूसरी टीमों के परिणामों का इन्तजार करना होगा। बेंगलुरु को 14 मैचों में आठवीं हार का सामना करना पड़ा और वह 12 अंकों के साथ टूर्नामेंट से बाहर हो गई।

राजस्थान ने ओपनर राहुल त्रिपाठी की नाबाद 80 रन की शानदार पारी के दम पर पांच विकेट पर 164 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया और इसका सफलतापूर्वक बचाव भी कर लिया।
राहुल ने पूरे 20 ओवर बल्लेबाजी की और 58 गेंदों की अपनी अर्धशतकीय पारी में पांच चौके और तीन छक्के लगाए।

राहुल ने कप्तान अजिंक्या रहाणे (33) के साथ दूसरे विकेट के लिए 99 रन जोड़े। उन्होंने हेनरिक क्लासेन (32) के साथ चौथे विकेट के लिए 48 रन और कृष्णप्पा गौतम (14) के साथ पांचवें विकेट के लिए 15 रन जोड़े।

ओपनिंग में उतारे गए जोफ्रा आर्चर खाता खोले बिना उमेश यादव की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए। यादव ने रहाणे को पगबाधा किया और संजू सैमसन को मोईन अली के हाथों कैच करा दिया। सैमसन का भी खाता नहीं खुला।

राजस्थान के कप्तान रहाणे ने 31 गेंदों पर 33 रन में तीन चौके लगाए जबकि क्लासेन ने 21 गेंदों पर 32 रन में तीन चौके और एक छक्का लगाया। गौतम ने मात्र पांच गेंदों पर 14 रन में दो छक्के लगाए। यादव ने चार ओवर में 25 रन देकर तीन विकेट झटके जबकि मोहम्मद सिराज ने 33 रन पर एक विकेट लिया।

बेंगलुरु कप्तान विराट (4) को मात्र 20 रन पर गंवाने के बाद पार्थिव पटेल (33) और अभी डिविलियर्स (53) के बीच दूसरे विकेट के लिए 55 रन की साझेदारी की बदौलत संभल गयी थी लेकिन गोपाल ने घातक गेंदबाजी करते हुए पटेल, मोईन अली (1), मनदीप सिंह (3) और डिविलियर्स के विकेट झटक लिए।

पटेल ने 21 गेंदों की पारी में तीन चौके और दो छक्के लगाए जबकि डिविलियर्स ने 35 गेंदों पर 53 रन में सात चौके लगाए। विराट का विकेट कृष्णप्पा गौतम ने लिया। तेज गेंदबाजों बेन लाफलिन और जयदेव उनादकट ने क्रमशः 15 और 27 रन देकर दो-दो विकेट झटके। ईश सोढ़ी ने 31 रन पर एक विकेट लिया।

निचले क्रम में टिम साउदी और मोहम्मद सिराज ने 14-14 रन बनाये लेकिन 108 रन पर आठ विकेट गिर जाने के बाद बेंगलुरु के लिए सब कुछ ख़त्म हो चुका था। बेंगलुरु ने 33 रन के अंतराल में सात विकेट गंवाए जो उसकी हार का सबसे बड़ा कारण बना। गोपाल को उनकी सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार दिया गया।