IPL 2018 : सनराइजर्स हैदराबाद ने किंग्स इलेवन पंजाब को हराया

IPL 2018: Sunrisers Hyderabad beat Kings XI Punjab by 13 runs
IPL 2018: Sunrisers Hyderabad beat Kings XI Punjab by 13 runs

हैदराबाद। सनराइजर्स हैदराबाद ने 132 रन बनाने के बावजूद गेंदबाजों के सटीक प्रदर्शन से इस स्कोर का बखूबी बचाव करते हुए किंग्स इलेवन पंजाब को 19.2 ओवर में 119 रन पर ढेर कर आईपीएल 11 का मुकाबला गुरूवार को 13 रन से जीत लिया।

हैदराबाद ने लगातार दूसरे मैच में छोटे स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया। हैदराबाद ने पिछले मैच में 118 रन बनाने के बावजूद मुंबई इंडियंस को 87 रन पर ढेर कर 31 रन से मैच जीता था और इस बार उसने 132 रन बनाए और पंजाब से मुकाबला 13 रन से जीत लिया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब ने अच्छी शुरुआत की और पहले विकेट के 55 रन जोड़े लेकिन इस साझेदारी के टूटने के बाद पंजाब की पारी हैदराबाद की सधी गेंदबाजी के सामने लड़खड़ा गयी। लोकेश राहुल और क्रिस गेल ने बेहतरीन ओपनिंग साझेदारी की। राहुल 26 गेंदों में चार चौकों और एक छक्के के सहारे 32 रन बनाने के बाद लेग स्पिनर राशिद खान की गेंद पर बोल्ड हो गए।

तेज गेंदबाज बासिल थम्पी ने खतरनाक गेल को पवेलियन भेजकर हैदराबाद को मुकाबले में वापिस ला दिया। गेल ने 22 गेंदों पर 23 रन में एक चौका और दो छक्के लगाए। इसके बाद तो पंजाब के बल्लेबाजों को जैसे सांप सूंघ गया और वे एक के बाद एक अपने विकेट गंवाते चले गए। मयंक अग्रवाल ने 12, करुण नायर ने 13, आरोन फिंच ने आठ, मनोज तिवारी ने एक, कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने चार और एंड्र्यू टाई ने चार रन बनाए।

पंजाब ने अपना नौवां विकेट 101 के स्कोर पर गंवाया। राशिद ने 19 रन पर तीन विकेट, शाकिब ने 18 रन पर दो विकेट और संदीप शर्मा ने 17 रन पर दो विकेट लेकर पंजाब को झकझोर दिया। लेकिन फिर रहमान ने दो चौके लगाकर मैच को रोमांचक बनाने की कोशिश की।

थम्पी ने राजपूत को बोल्ड कर मैच समाप्त कर दिया। थम्पी ने 14 रन पर दो विकेट लिए। हैदराबाद की सात मैचों में यह पांचवीं जीत और पंजाब की सात मैचों में यह दूसरी हार है।

इससे पहले मनीष पांडेय ने 51 गेंदों में तीन चौकों और एक छक्के की मदद से बेशकीमती 54 रन बनाकर हैदराबाद को तीन विकेट पर 27 रन की नाजुक स्थिति से उबारा और टीम को 20 ओवर में छह विकेट पर 132 रन के स्कोर तक पहुंचाया जो मैच विजयी स्कोर साबित हुआ। पांडेय अर्धशतक बनाने के बाद 20 वें ओवर की चौथी गेंद पर जब आउट हुए तब टीम का स्कोर 128 रन पहुंच चुका था।

शानदार फॉर्म में चल रहे कप्तान केन विलियम्सन इस बार खाता नहीं खोल पाए और चौथी ही गेंद पर अंकित राजपूत का शिकार बन गए। ओपनर शिखर धवन आठ गेंदों पर 11 रन बनाने के बाद राजपूत का दूसरा शिकार बन गए। रिद्धिमान साहा छह रन बना सके और राजपूत का तीसरा शिकार बन गए।

पांडेय ने शाकिब अल हसन के साथ चौथे विकेट के लिए 52 रन जोड़े। शाकिब ने 29 गेंदों में तीन चौकों के सहारे 28 रन बनाए लेकिन मुजीब उर रहमान ने शाकिब को मयंक अग्रवाल के हाथों कैच आउट कराकर हैदराबाद को चौथा झटका दे दिया। पांडेय ने शाकिब का विकेट गिरने के बाद युसूफ पठान के साथ पांचवें विकेट के लिए 49 रन जोड़ डाले।

राजपूत ने आखिरी ओवर की चौथी गेंद पर पांडेय और छठी गेंद पर मोहम्मद नबी को आउट कर अपने पांच विकेट पूरे कर लिए और 11 वें संस्करण में यह उपलब्धि हासिल करने वाले पहले गेंदबाज बन गए। राजपूत ने चार ओवर में मात्र 14 रन देकर पांच विकेट झटके जबकि रहमान को 17 रन पर एक विकेट मिला।