IPL 2018 : सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को 31 रन से हराया

Hindi Samachar VIDEO आखिर कौन सा रोग हुआ था वाजपेयी को ? || आपको भी हो सकता है ?

IPL 2018 : Sunrisers Hyderabad beat Mumbai Indians by 31 runs

मुंबई। तेज गेंदबाज सिद्धार्थ कॉल (23 रन पर तीन विकेट) की अगुवाई में गेंदबाजों के जबरदस्त प्रदर्शन के दम पर सनराइजर्स हैदराबाद ने मुंबई इंडियंस को मंगलवार को मात्र 87 रन पर ढेर कर आईपीएल 11 का मुकाबला बेहद रोमांचक अंदाज में 31 रन से जीत लिया।

हैदराबाद ने 18.4 ओवर में 118 रन का मामूली स्कोर बनाने के बावजूद गेंदबाजों के दम पर इस स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव कर लिया। हैदराबाद ने मुंबई को 18.5 ओवर में मात्र 87 रन पर ढेर कर आईपीएल में छह मैचों में अपनी चौथी जीत हासिल कर ली जबकि गत चैंपियन मुंबई को इतने ही मैचों में पांचवीं हार का सामना करना पड़ा।

लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने 21 रन तक अपने तीन विकेट गंवा दिए। संदीप शर्मा ने एविन लुइस (5), मोहम्मद नबी ने ईशान किशन (0) और लेफ्ट आर्म स्पिनर शाकिब अल हसन ने मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा (2) को आउट कर हैदराबाद को मुकाबले में ला दिया।

सूर्यकुमार यादव ने 34 रन बनाए और क्रुणाल पांड्या (24) के साथ चौथे विकेट के लिए 40 रन जोड़े। इस समय लग रहा था कि मुंबई की टीम मैच निकाल ले जायेगी लेकिन एक फिर मैच ने नाटकीय अंदाज में पलटा खाया। क्रुणाल के आउट होने के साथ ही मुंबई के बल्लेबाज आया राम गया राम की तर्ज पर पवेलियन लौटने लगे।

क्रुणाल को अफगानिस्तान के लेग स्पिनर राशिद खान ने पगबाधा कर दिया। कीरोन पोलार्ड नौ रन बनाकर राशिद का दूसरा शिकार बन गए। सूर्यकुमार को बासिल थम्पी ने आउट किया और मुंबई का स्कोर छह विकेट पर 77 रन हो गया। सूर्यकुमार ने 38 गेंदों पर 34 रन में चार चौके लगाए। सिद्धार्थ ने निचले क्रम में तीन विकेट निकालकर मुंबई को अपने ही मैदान में शर्मिंदगी झेलने के लिए मजबूर कर दिया।

कौल ने 23 रन पर तीन विकेट, राशिद ने 11 रन पर दो विकेट और थम्पी ने चार रन पर दो विकेट लिए। संदीप और नबी को एक-एक विकेट मिला। मुंबई ने अपने आखिरी सात विकेट मात्र 26 रन जोड़कर गंवाए।

इससे पहले हैदराबाद की टीम मुंबई की सधी गेंदबाजी के सामने 18.4 ओवर में 118 रन पर ही सिमट गयी। हैदराबाद के लिए कप्तान केन विलियम्सन ने 21 गेंदों में पांच चौकों की मदद से 29 रन और यूसुफ पठान ने 33 गेंदों में दो चौकों और एक छक्के के सहारे 29 रन बनाए।

मनीष पांडेय ने 16 और मोहम्मद नबी ने 14 रन बनाए। अन्य कोई बल्लेबाज दहाई की संख्या में नहीं पहुंच सका। हैदराबाद के स्कोर में आठ वाइड सहित 12 अतिरिक्त रनों का भी योगदान रहा।

शिखर धवन की चोट से उबर से उबर कर वापसी सुखद नहीं रही और वह छह गेंदों में मात्र पांच रन बनाकर आउट हो गए। तीसरे नंबर पर उतरे रिद्धिमान साहा का खाता भी नहीं खुला। मिशेल मैकक्लेनेगन ने इन दोनों बल्लेबाजों को पवेलियन की राह दिखाई। विलियम्सन ने पांडेय के साथ तीसरे विकेट के लिए 24 रन जोड़े लेकिन इसके बाद विकेटों का जो पतन शुरू हुआ वह टीम के 118 रन पर सिमटने के साथ ही समाप्त हुआ।

विलियम्सन टीम के 63 और पठान आखिरी विकेट के रूप में आउट हुए। पठान की बेशकीमती पारी से ही हैदराबाद 118 तक पहुंच सका। मैकक्लेनेगन ने 22 रन पर दो विकेट, हार्दिक पांड्या ने 20 रन पर दो विकेट और मयंक मार्कन्डे 15 रन पर दो विकेट लिए जबकि जसप्रीत बुमराह और मुस्ताफिजुर रहमान ने एक-एक विकेट लिया।

VIDEO अटल बिहारी वाजपेयी की मौत की अफवाह।