रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु को 70 पर ढेर कर शान से जीते चेन्नई सुपरकिंग्स

IPL 2019 : Chennai Super Kings beat Royal Challengers Bangalore by 7 WICKETS

चेन्नई। ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह (20 रन पर तीन विकेट) और लेग स्पिनर इमरान ताहिर (9 रन पर तीन विकेट) की घातक गेंदबाजी से गत चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स ने आईपीएल-12 के उद्घाटन मैच में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को शनिवार को मात्र 70 रन पर ढेर करने के बाद मुकाबला एकतरफा अंदाज में सात विकेट से जीत लिया।

भारतीय कप्तान और दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज विराट कोहली की टीम 17.1 ओवर में 70 रन पर सिमट गयी जबकि चेन्नई ने स्पिनरों की मददगार पिच पर संभलकर खेलते हुए 17.4 ओवर में तीन विकेट पर 71 रन बनाकर अपने खिताब बचाओ अभियान की शानदार शुरुआत की। लक्ष्य बड़ा नहीं था लेकिन मुश्किल पिच पर चेन्नई के बल्लेबाजों को भी संघर्ष करना पड़ा। अंबाटी रायुडू ने सर्वाधिक 28 रन बनाए।

बेंगलूरु के ओपनर पार्थिव पटेल ने 35 गेंदों में दो चौकों की मदद से सर्वाधिक 29 रन बनाये। अन्य कोई बल्लेबाज दहाई की संख्या में नहीं पहुंच सका। बेंगलूरु का आईपीएल में यह संयुक्त रूप से दूसरा सबसे कम स्कोर है। बेंगलूरु की टीम 2017 में कोलकाता नाईट राइडर्स के खिलाफ मात्र 49 रन पर ढेर हो गई थी जबकि उसने 2014 में अबु धाबी में राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ 70 रन बनाए थे और 2019 में उसने चेन्नई के खिलाफ 70 रन बनाए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए चेन्नई ने अपने ऑस्ट्रेलियाई ओपनर शेन वाटसन को तीसरे ओवर में गंवा दिया। लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल ने वाटसन को तीसरे ओवर की पहली गेंद पर बोल्ड कर दिया। वाटसन का खाता नहीं खुला और चेन्नई का पहला विकेट आठ के स्कोर पर गिरा।

पिच से गेंदबाजों को मिल रही मदद के चलते चेन्नई के बल्लेबाजों को भी परेशानी हो रही थी। चहल ने अपने शुरूआती तीन ओवर में मात्र पांच रन दिए और बल्लेबाजों को लगातार परेशानी में डाले रखा। चहल ने चार ओवर के स्पैल में मात्र छह रन देकर एक विकेट लिया।

अंबाटी रायुडू और सुरेश रैना ने दूसरे विकेट के लिए 32 रन की साझेदारी की। नौ ओवर के बाद टाइम आउट हुआ और 10वां ओवर शुरू होते ही रैना को इग्लैंड के ऑफ स्पिनर मोईन अली ने अपना शिकार बना लिया। रैना ने 21 गेंदों पर 19 रन में तीन चौके लगाए। चेन्नई का दूसरा विकेट 40 के स्कोर पर गिरा लेकिन लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था कि चेन्नई को कोई परेशानी हो पाती।

रायुडू के साथ केदार जाधव बहुत संभल कर खेल रहे थे। चेन्नई का स्कोर धीरे-धीरे आगे बढ़ता रहा। रायुडू 15वें ओवर में टीम के 59 के स्कोर पर आउट हो गए। लेकिन तब तक वह टीम को सुरक्षित स्थिति में पहुंचा चुके थे। रायुडू को तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने अपने पहले ही ओवर में बोल्ड किया। रायुडू ने 42 गेंदों पर संघर्षपूर्ण 28 रन में दो चौके और एक छक्का लगाया।

जाधव का साथ देने मैदान में उतरे रवींद्र जडेजा ने सिंगल का सहारा लिया और स्कोर को चलायमान रखा। जडेजा ने सिराज का पारी का 17वां ओवर मैडन निकाला। चेन्नई ने 18वें ओवर में मैच समाप्त किया। जाधव ने 19 गेंदों पर नाबाद 13 और जडेजा ने 15 गेंदों पर नाबाद छह रन बनाये।

इससे पहले बेंगलूरु की पारी में कप्तान विराट कोहली 12 गेंदों में छह रन ही बना सके। मोईन अली ने आठ गेंदों में नौ रन बनाये और बेंगलूरु की पारी का एकमात्र छक्का मारा। धाकड़ बल्लेबाज एबी डिविलियर्स 10 गेंदों में नौ रन ही बना सके। शिमरोन हेत्माएर खाता खोले बिना रन आउट हो गए।

पार्थिव पटेल ने विराट के साथ पारी की शुरुआत की और आखिरी बल्लेबाज के रूप में 18वें ओवर की पहली गेंद पर आउट हुए। पटेल का विकेट ड्वेन ब्रावो ने लिया। हरभजन ने दीपक चाहर के साथ गेंदबाजी की शुरुआत की और बेंगलुरु के शीर्ष क्रम को तहस-नहस कर दिया।

ताहिर और लेफ्ट आर्म स्पिनर रवींद्र जडेजा ने बेंगलुरु के मध्य और निचले क्रम को निपटा दिया। पिच से स्पिनरों को मदद मिल रही थी और चेन्नई के गेंदबाजों ने अपने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने के फैसले का पूरा फायदा उठाया।

दीपक और चाहर ने लगातार अपने-अपने चार-चार ओवर पूरे किये और जब दोनों के स्पैल समाप्त हुए तो बेंगलुरु का स्कोर चार विकेट पर 38 रन हो चुका था। विराट और डिविलियर्स गलत शॉट खेलकर आउट हुए। बेंगलूरु टीम इन झटकों के बाद वापसी नहीं कर पाई।

चेन्नई के तीन स्पिनरों ने आपस में आठ विकेट बांट लिए। पहली बार चेन्नई की तरफ से खेल रहे हरभजन ने चार ओवर में 20 रन पर तीन विकेट, दक्षिण अफ्रीका के ताहिर ने चार ओवर में नौ रन पर तीन विकेट और जडेजा ने चार ओवर में 15 रन पर दो विकेट लिए। ब्रावो को अपनी एकमात्र गेंद पर विकेट मिला।