IPL 2019 : बेंगलूरु का जीत के साथ समापन, हैदराबाद संकट में फंसा

IPL 2019 : Royal Challengers Bangalore beat Sunrisers Hyderabad by 4 wickets

बेंगलूरु। शिमरॉन हेत्माएर (75) और गुरकीरत सिंह मान (65) के शानदार अर्धशतकों तथा उनके बीच चौथे विकेट के लिए 144 रन की जबरदस्त साझेदारी की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु ने सनराइजर्स हैदराबाद को शनिवार को चार विकेट से हराकर आईपीएल-12 में अपना अभियान जीत के साथ समाप्त किया जबकि इस हार से हैदराबाद की टीम संकट में पड़ गई।

हैदराबाद ने कप्तान केन विलियम्सन की नाबाद 70 रन की शानदार पारी की बदौलत सात विकेट पर 175 रन का चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाया जबकि बेंगलूरु ने उतार-चढ़ाव से गुजरते हुए 19.2 ओवर में छह विकेट पर 178 रन बनाकर जीत अपने नाम की। इस परिणाम के बाद प्लेऑफ की चौथी टीम के लिए होड़ दिलचस्प हो गई है।

हैदराबाद को इस हार के बाद अब कोलकाता नाईट राइडर्स और मुंबई इंडियंस के बीच होने वाले मैच के परिणाम का इन्तजार करना होगा। यदि कोलकाता जीती तो वह 14 अंकों के साथ प्लेऑफ में चली जाएगी लेकिन कोलकाता के हारने की सूरत में नेट रन रेट चौथी टीम का फैसला करेगा। इस सूरत में यदि पंजाब चेन्नई को हरा दे तो वह भी 12 अंकों के साथ होड़ में शामिल हो सकती है, हालांकि उसका नेट रन रेट काफी कम है।

हैदराबाद की पारी में विलियम्सन ने 43 गेंदों पर नाबाद 70 रन में पांच चौके और चार छक्के लगाए और अंत तक नाबाद रहकर पवेलियन लौटे। हैदराबाद ने अपना सातवां विकेट 173 ओवर में 139 के स्कोर पर गंवाया और 19 ओवर की समाप्ति तक हैदराबाद का स्कोर 147 रन था लेकिन विलियम्सन ने आखिरी ओवर में उमेश यादव की गेंदों पर 28 रन ठोककर अपनी टीम को 175 तक पहुंचा दिया।

हैदराबाद के कप्तान ने उमेश यादव की पहली गेंद पर छक्का मारकर इस सत्र में अपना पहला अर्धशतक पूरा कर लिया। विलियम्सन ने दूसरी गेंद पर चौका, तीसरी गेंद पर छक्का और चौथी गेंद पर चौका मारा। उन्होंने आखिरी गेंद पर भी चौका मारा। इस ओवर में 28 रन पड़े और यह पारी का सबसे महंगा ओवर रहा। उमेश यादव ने अपने पहले तीन ओवर में मात्र 18 रन दिए थे लेकिन आखिरी ओवर के कारण उनका आंकड़ा चार ओवर में 46 रन पहुंच गया।

हैदराबाद के लिए रिद्धिमान साहा ने 11 गेंदों में चार चौकों की मदद से 20 रन, मार्टिन गुप्तिल ने 23 गेंदों में दो चौकों और दो छक्कों की मदद से 30 रन और विजय शंकर ने 18 गेंदों में तीन छक्कों के सहारे 27 रन बनाये। बेंगलुरु के लिए वाशिंगटन सुन्दर ने 24 रन पर तीन विकेट और नवदीप सैनी ने 39 रन पर दो विकेट लिए।

लक्ष्य का पीछा करते हुए बेंगलुरु ने पार्थिव पटेल को पहले ओवर में ही गंवा दिया। पटेल खाता भी नहीं खोल सके। भुवनेश्वर कुमार ने पटेल का विकेट लिया। बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने मात्र सात गेंदों में दो चौके और एक छक्का उड़ाते हुए 16 रन बनाये लेकिन बाएं हाथ के तेज गेंदबाज खलील अहमद की गेंद पर विकेटकीपर रिद्धिमान साहा को कैच दे बैठे। एबी डिविलियर्स एक रन बनाने के बाद भुवनेश्वर का दूसरा शिकार बन गए।

तीन विकेट मात्र 20 रन पर गिर जाने के बाद शिमरॉन हेत्माएर और गुरकीरत सिंह मान ने मोर्चा संभाला। दोनों ने चौथे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी कर डाली और अपने-अपने अर्धशतक भी पूरे किये। मान ने इस सत्र का अपना पहला अर्धशतक बनाया। इस साझेदारी से हैदराबाद की चिंता बढ़ती जा रही थी और इसी चिंता में हैदराबाद के कप्तान केन विलियम्सन ने विकेट के पीछे कैच के लिए डीआरएस भी ले डाला जबकि बल्ले और गेंद के बीच कोई संपर्क नहीं हुआ था।

मुकाबला लगातार रोमांचक होता जा रहा था और विलियम्सन अपने तरकश का हर तीर आजमाने में लगे हुए थे। बेंगलुरु के पास गंवाने के लिए कुछ नहीं था जबकि हैदराबाद पर दबाव बढ़ता जा रहा था। बेंगलुरु को आखिरी तीन ओवर में 25 रन की जरूरत थी।

मान ने 18वें ओवर में लेग स्पिनर राशिद खान की पहली गेंद पर छक्का मार दिया जबकि हेत्माएर ने तीसरी गेंद पर छक्का जड़ दिया लेकिन चौथी गेंद पर बॉउंड्री पर विजय शंकर के हाथों लपके गए। हेत्माएर ने 47 गेंदों पर 75 रन में चार चौके और छह छक्के लगाए। 19वें ओवर में खलील ने मान और वाशिंगटन सुन्दर को आउट कर मैच को रोमांचक बना दिया। मान ने 48 गेंदों पर 65 रन में आठ चौके और एक छक्का लगाया।

बेंगलूरु को आखिरी ओवर में छह रन की जरूरत थी। उमेश यादव ने आखिरी ओवर में मोहम्मद नबी की पहली दो गेंदों पर चौके मार कर मैच समाप्त कर दिया। उमेश ने इस तरह अपने आखिरी ओवर की भरपाई कर डाली। उमेश नौ रन पर नाबाद रहे। बेंगलूरु ने 14 मैचों में पांचवीं जीत और 11 अंकों के साथ अपना अभियान समाप्त किया।