IPL 2019 : दिल्ली कैपिटल्स के घर में चमका सनराइजर्स हैदराबाद का सूरज

IPL 2019 : Sunrisers Hyderabad beat Delhi Capitals by 5 wickets

नई दिल्ली। सनराइजर्स हैदराबाद ने अपने गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन और ओपनर जानी बेयरस्टो (48) की विस्फोटक बल्लेबाजी के बाद कुछ रोमांचक उतार-चढाव से गुजरते हुए दिल्ली कैपिटल्स को उसके घर फिरोजशाह कोटला मैदान में गुरूवार को आईपीएल-12 के मुकाबले में 5 विकेट से हराकर टूर्नामेंट में जीत की हैट्रिक पूरी कर ली।

हैदराबाद ने दिल्ली को 8 विकेट पर 129 रन पर रोकने के बाद 18.3 ओवर में 5 विकेट पर 131 रन बनाकर जीत हासिल कर ली। हैदराबाद की चार मैचों में यह तीसरी जीत और जीत की हैट्रिक है जबकि दिल्ली की पांच मैचों में तीसरी हार है। दिल्ली ने हालांकि छोटा स्कोर बनाया लेकिन हैदराबाद को जीत तक पहुंचने के लिए संघर्ष करा दिया।

बेयरस्टो ने मात्र 28 गेंदों पर नौ चौकों और एक छक्के की मदद से 48 रन ठोके। बेयरस्टो और डेविड वार्नर ने पहले विकेट के लिए 64 रन की शानदार साझेदारी की। बेयरस्टो को लेग स्पिनर राहुल तेवतिया ने पगबाधा किया। हालांकि बेयरस्टो ने रेफरल लिया लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ।

पिछले तीन मैचों में दो अर्धशतक और एक शतक बना चुके वार्नर इस बार 18 गेंदों में 10 रन ही बना सके। कैगिसो रबादा ने वार्नर को क्रिस मौरिस के हाथों कैच कराया। हैदराबाद का दूसरा विकेट 68 के स्कोर पर गिरा। हैदराबाद ने छह ओवर के पॉवरप्ले में 62 रन ठोके थे लेकिन इसके बाद दिल्ली ने वापसी की कोशिश करते हुए अगले चार ओवर में सिर्फ 11 रन दिए।

लक्ष्य इतना बड़ा नहीं था कि हैदराबाद को दोनों ओपनर चार रन के अंतराल में गंवाने से कोई परेशानी हो पाती। 10 ओवर में हैदराबाद का स्कोर 81 रन पहुंच चुका था। हैदराबाद के बल्लेबाजों ने जितने आराम के साथ रन बनाये उससे यह तो साबित हो गया कि पिच में कोई डंक नहीं था और दिल्ली के बल्लेबाजों ने गैर जिम्मेदाराना शॉट खेलकर अपने विकेट गंवाए थे।

कोटला मैदान में खामोश बैठे दर्शकों में इशांत शर्मा ने मनीष पांडेय को आउट कर रोमांच का संचार कर दिया। पांडेय ने 13 गेंदों में 10 रन बनाये। मैच में कुछ नाटकीय पल बाकी थे। लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल की गेंद पर विजय शंकर ने श्रेयस अय्यर को सीधा कैच थमा दिया। विजय शंकर ने 21 गेंदों में एक चौके के सहारे 16 रन बनाये। दीपक हुड्डा 10 रन बनाकर संदीप लैमिछाने का शिकार बन गए।

हैदराबाद का पांचवां विकेट 111 के स्कोर पर गिर गया और मैच अब हैदराबाद के लिए फंसता नजर आने लगा। लेकिन मोहम्मद नबी ने नौ गेंदों में दो चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 17 और यूसुफ पठान ने नाबाद नौ रन बनाकर टीम को जीत दिला दी।

इससे पहले केवल दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने विकेट पर टिकने का जज्बा दिखाया और 41 गेंदों पर सर्वाधिक 43 रन बनाये। क्रिस मौरिस ने 17 रन का योगदान दिया जबकि दिल्ली के तीन बल्लेबाज ऋषभ पंत, राहुल तेवतिया और कोलिन इंग्राम 5-5 रन बनाकर आउट हुए।

दिल्ली की पारी में सबसे बड़ी साझेदारी 22 रन की रही। बाएं हाथ के बल्लेबाज अक्षर पटेल ने आखिरी ओवर में दो छक्के मारे जिससे दिल्ली की टीम 129 तक पहुंच सकी। पटेल ने 13 गेंदों में नाबाद 23 रन बनाये। हैदराबाद की तरफ से भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद नबी और सिद्धार्थ कौल ने 2-2 विकेट लिए।

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करने उतरी दिल्ली की टीम की अपने घरेलू फिरोजशाह कोटला मैदान में अच्छी शुरुआत नहीं रही। हालांकि युवा ओपनर पृथ्वी शॉ ने हैदराबाद के कप्तान भुवनेश्वर कुमार के पारी के पहले ओवर में दो चौके मारे लेकिन भुवनेश्वर के अगले ओवर में बड़ा शॉट खेलने की कोशिश में गेंद की लाइन चुके और बोल्ड हो गए।

भुवनेश्वर का इस टूर्नामेंट में यह पहला विकेट था जो उन्हें चौथे मैच में जाकर मिला। पृथ्वी ने 11 गेंदों पर 11 रन में दो चौके लगाए और दिल्ली का पहला विकेट 14 के स्कोर पर गिरा।

मैदान पर उतरे कप्तान श्रेयस अय्यर ने सिद्धार्थ कौल पर पारी का पहला छक्का मारा। टूर्नामेंट में रन बनाने के लिए संघर्ष कर रहे शिखर धवन अपनी पुरानी टीम हैदराबाद को ज्यादा परेशान नहीं कर पाए और ऑफ स्पिनर मोहम्मद नबी की गेंद पर अनावश्यक स्वीप करने की कोशिश में कैच उछाल बैठे और संदीप शर्मा ने आसान कैच लपक लिया। शिखर ने 14 गेंदों पर 12 रन में एक चौका लगाया। दिल्ली का दूसरा विकेट 36 के स्कोर पर गिरा।

दिल्ली को आक्रामक विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत से काफी उम्मीदें थीं लेकिन वह सात गेंदों पर पांच रन बनाकर आउट हो गए। दिल्ली ने तीसरा विकेट 52 के स्कोर पर गंवाया। पंत ने नबी को मारने की कोशिश में लॉन्ग ऑफ पर दीपक हुड्डा को कैच थमा दिया।

दिल्ली को चौथा झटका भी जल्द ही लग गया। पगबाधा की जोरदार अपील से बचे राहुल तेवतिया ने संदीप शर्मा की गेंद पर आसान कैच उछाल दिया और नबी ने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की। तेवतिया ने सात गेंदों में पांच रन बनाये और दिल्ली का 11वें ओवर में स्कोर चार विकेट पर 61 रन हो गया।

दिल्ली ने छह ओवर के पॉवरप्ले में 36 रन बनाए थे जबकि उसके 50 रन नौंवें ओवर में पूरे हुए। 10 ओवर बाद दिल्ली का स्कोर तीन विकेट पर 56 रन था। दिल्ली के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों ने विकेट पर टिकने के बजाये गैर जिम्मेदाराना शॉट खेल कर अपने विकेट गंवाए। साथी बल्लेबाजों को गंवाने के बीच कप्तान अय्यर ने एक छोर संभलकर स्कोरबोर्ड को बढ़ाये रखा।

टीम के विदेशी खिलाड़ी कोलिन इंग्राम भी निराश कर गए और कौल पर मनीष पांडेय को कैच दे गए। दिल्ली का पांचवां विकेट 75 के स्कोर पर गिरा। इंग्राम ने आठ गेंदों पर पांच रन बनाये। 15 ओवर बाद दिल्ली का स्कोर 85 रन ही पहुंच पाया था।

लेग स्पिनर राशिद ने श्रेयस को 17वें ओवर की पहली गेंद पर बोल्ड कर दिल्ली की चुनौतीपूर्ण स्कोर बनाने की उम्मीदों को गहरा झटका दे दिया। श्रेयस ने 41 गेंदों पर 43 रन में तीन चौके और एक छक्का लगाया। दिल्ली का छठा विकेट 93 के स्कोर पर गिरा।

मौरिस ने राशिद पर छक्का मारकर दिल्ली के 100 रन पूरे कर दिए। मौरिस 15 गेंदों में 17 रन बनाने के बाद भुवनेश्वर का शिकार बन गए।मौरिस ने अपनी पारी में एक चौका और एक छक्का लगाया। मौरिस का कैच नबी ने लपका। पटेल ने आखिरी ओवर में दो छक्के मारे। पटेल ने नाबाद 23 में एक चौका और दो छक्के लगाए।

भुवनेश्वर ने 27 रन पर दो विकेट, नबी ने 21 रन देकर दो विकेट और कौल ने 35 रन पर दो विकेट लिए जबकि राशिद और संदीप को एक-एक विकेट मिला।