चीनी कंपनी वीवो रहेगी आईपीएल की टाइटल प्रायोजक

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव और चीनी कंपनियों तथा सामान के भारत में बहिष्कार के आह्वान के बावजूद चीन की मोबाइल कंपनी वीवो इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टाइटल प्रायोजक बनी रहेगी।

आईपीएल के 13वें संस्करण के संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितम्बर से आयोजन को भारत सरकार की हरी झंडी मिल गई है। टूर्नामेंट 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक होगा।

आईपीएल की संचालन परिषद की रविवार को हुई महत्वपूर्ण बैठक में आईपीएल ने अपने सभी प्रमुख प्रायोजकों को बरकरार रखने का फैसला किया जिसमें चीन की मोबाइल कंपनी वीवो शामिल है जो आईपीएल की टाइटल प्रायोजक है।

यूएई में 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक होगा आईपीएल-13

इंडियन प्रीमियर लीग का 13वां संस्करण संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में 19 सितम्बर से 10 नवम्बर तक आयोजित होगा और इस बार आईपीएल में हर टीम में खिलाड़ियों की संख्या 24 तक होगी।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के सचिव जय शाह ने आईपीएल की संचालन परिषद की वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये बैठक के बाद आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि टूर्नामेंट यूएई में होगा और इसके मैच यूएई के तीन शहरों दुबई, अबु धाबी और शारजाह में खेले जाएंगे। समझा जाता है कि टूर्नामेंट को खेल मंत्रालय की हरी झंडी मिल गई है तथा गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय की मंजूरी जल्द मिलने की उम्मीद है।

संचालन परिषद की रविवार को हुई बैठक में फैसला लिया गया कि इस बार आईपीएल में हर टीम में खिलाड़ियों की संख्या 24 तक होगी और साथ ही असीमित कोविड-19 स्थानापन्न के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी गयी है।

आईपीएल फाइनल 10 नवम्बर को खेला जाएगा और शाम के मैच पहले के मुकाबले आधा घंटे पहले यानी भारतीय समयानुसार रात साढ़े सात बजे (यूएई समय शाम 6 बजे ) से शुरू होंगे। टूर्नामेंट में दस दिन ऐसे होंगे जब एक दिन में दो मैच खेले जाएंगे। टूर्नामेंट में दिन में खेले जाने वाले मैचों का समय भारतीय समयानुसार दोपहर साढ़े तीन बजे रहेगा।

आईपीएल का आयोजन इस साल 29 मार्च से होना था लेकिन कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन की वजह से भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने इस अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद के अक्टूबर-नवम्बर में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 विश्वकप को स्थगित करने के बाद आईपीएल के आयोजन का रास्ता साफ़ हो गया था।

भारतीय बोर्ड की पहली प्राथमिकता आईपीएल को भारत में कराने की थी लेकिन देश में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के कारण यह संभव नहीं हो पाया और बीसीसीआई को आईपीएल को देश से बाहर ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। भारत में इस समय कोरोना मामलों की संख्या साढ़े 17 लाख से ज्यादा हो चुकी है।

संचालन परिषद के अध्यक्ष बृजेश पटेल ने गत 21 जुलाई को घोषणा की थी कि आईपीएल को 19 सितम्बर से यूएई में कराया जाएगा। बीसीसीआई ने संयुक्त अमीरात क्रिकेट बोर्ड को आईपीएल के आयोजन के लिए अपना सहमति पत्र भी दे दिया था।

आईपीएल यूएई के तीन शहरों दुबई, अबु धाबी और शारजाह में आयोजित किया जाएगा। यह दूसरी बार है जब आईपीएल का आयोजन यूएई में किया जा रहा है। वर्ष 2014 में आम चुनावों से टकराव के कारण आईपीएल का शुरूआती चरण यूएई में कराया गया था।

संचालन परिषद की बैठक में व्यापक मानक संचालन प्रक्रिया पर भी विचार किया गया जिसे निर्धारित अवधि में अंतिम रूप देकर प्रकाशित किया जाएगा जिसमें आईपीएल के सफल और सुरक्षित वातावरण में आयोजित करने जैविक सुरक्षित वातावरण तैयार करना शामिल होगा।

संचालन परिषद 2020 सत्र में खिलाड़ियों को बदलने के नियम की भी समीक्षा करेगी। आईपीएल के साथ यूएई में महिला टी-20 चैलेंज भी खेला जाएगा जिसमें तीन टीमें और चार मैच होंगे। महिला आईपीएल को टूर्नामेंट के प्लेऑफ सप्ताह के दौरान खेला जाएगा। शाह ने बताया कि फ्रैंचाइजी टीमों के साथ बैठक जल्द आयोजित की जाएगी।

UAE में आईपीएल 2020 के आयोजन को भारत सरकार की हरी झंडी