IPL : 2022 : रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु दूसरे क्वालीफायर में, लखनऊ सुपर जायंट्स बाहर

कोलकाता। रजत पाटीदार (नाबाद 112) के शानदार शतक और उनकी दिनेश कार्तिक (नाबाद 37) के साथ 92 रन की तूफानी साझेदारी की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने लखनऊ सुपर जायंट्स को बुधवार को 14 रन की जीत से एलिमिनेट कर आईपीएल के 27 मई को होने वाले दूसरे क्वालीफायर में जगह बना ली जहां उसका मुकाबला पहले क्वालीफायर में हारने वाली टीम राजस्थान रॉयल्स से अहमदाबाद में होगा।

बेंगलुरु ने टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में सात विकेट पर 207 रन का विशाल स्कोर बनाया और डेथ ओवरों में सटीक गेंदबाजी की बदौलत लखनऊ को छह विकेट पर 193 रन पर थाम लिया।

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए पाटीदार ने कप्तान फाफ डू प्लेसिस के शून्य पर पहले ओवर में आउट होने के बाद मैदान में उतरते हुए पूरे 20 ओवर तक बल्लेबाजी की और अपनी टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। पाटीदार ने 54 गेंदों की अपनी शतकीय पारी में 12 चौके और सात छक्के लगाए। कार्तिक ने 23 गेंदों पर नाबाद 37 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

पाटीदार इस सीज़न में दूसरे विकल्प के तौर पर प्लेइंग इलेवन में शामिल हुए थे, लेकिन इस पारी में उन्होंने किसी भी परिपक्व बल्लेबाज़ की तरह बल्लेबाज़ी करते रहे और पारी के अंत में अविजित ही पवेलियन की ओर गए।

लखनऊ के फील्डर द्वारा दिए जीवनदानों और पाटीदार के शतक ने बेंगलुरु को एक बड़े स्कोर तक पहुंचा दिया। मोहसिन के अलावा तमाम गेंदबाज़ काफ़ी महंगे साबित हुए। विराट कोहली ने 24 गेंदों पर 25 रन की पारी खेली । उनके आउट होने के बाद ग्लेन मैक्सवेल नौ और महिपाल लोमरोर 14 रन बनाकर आउट हुए। लेकिन इसके बाद बेंगलुरु ने जो गति पकड़ी तो वह 207 रन पर जाकर ही थमी।

टॉस हारने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए पाटीदार ने कप्तान फाफ डू प्लेसिस के शून्य पर पहले ओवर में आउट होने के बाद मैदान में उतरते हुए पूरे 20 ओवर तक बल्लेबाजी की और अपनी टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया। पाटीदार ने 54 गेंदों की अपनी शतकीय पारी में 12 चौके और सात छक्के लगाए। कार्तिक ने 23 गेंदों पर नाबाद 37 रन में पांच चौके और एक छक्का लगाया।

लक्ष्य का पीछा करते हुए लखनऊ के कप्तान लोकेश राहुल ने एक छोर से पारी को संभाले रखा लेकिन जब निर्णायक ओवरों में पारी को गति देने की जरूरत थी तब वह टीम के 180 के स्कोर पर जोश हेजलवुड का शिकार बन गए। राहुल ने 58 गेंदों पर 79 रन में तीन चौके और पांच छक्के लगाए।

दीपक हुड्डा ने 26 गेंदों में एक चौके और चार छक्कों की मदद से 45 रन, मनन वोहरा ने 11 गेंदों में 19 रन और मार्कस स्टॉयनिस ने नौ रन बनाये। दुष्मंता चमीरा 11 रन बनाकर नाबाद रहे।

पूरे टूर्नामेंट में बेहतरीन खेल दिखाने के बाद, 18 अंक हासिल करने के बावजूद लखनऊ नेट रन रेट के लिहाज़ से राजस्थान से पिछड़ गई। इसके बाद प्लेऑफ़ के एलिमिनेटर मुक़ाबले में उन्हें बेंगलुरु से हार झेलनी पड़ी। कप्तान केएल राहुल ने टॉस के दौरान जेसन होल्डर को प्लेइंग इलेवन में जगह न देने को लेकर कहा था कि टीम होल्डर का पूरा उपयोग नहीं कर पा रही है, आज शायद लखनऊ को होल्डर की सबसे ज़्यादा ज़रूरत थी।

मैच के बाद राहुल ने कहा कि यह काफी स्पष्ट कारण है कि हम मैच क्यों नहीं जीत पाए। हमने फील्ड में काफ़ी निराशाजनक प्रदर्शन किया। पाटीदार के शतक ने इस मैच में सबसे बड़ा फ़र्क़ डाला है। जब ऊपर से कोई खिलाड़ी अच्छी पारी खेलता है, तो टीम जीत जाती है।

यह एक नई फ्रेंचाइजी है। हमने बहुत सारी गलतियां की हैं लेकिन आपको इससे सीख लेनी होगी और मज़बूत होकर वापसी करनी होगी। हम एक युवा टीम हैं, 25 वर्ष से कम आयु के खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है। मोहसिन ख़ान ने सबको दिखाया है कि वह कितने अच्छे हैं और उनके पास क्या हुनर है। यह उनका पहला सीजन है और इससे आत्मविश्वास लेना और घर जाकर कड़ी मेहनत करना महत्वपूर्ण है। वह और गति बढ़ाएंगे और अगले साल बेहतर प्रदर्शन करेंगे।

बेंगलुरु की तरफ से हेजलवुड ने चार ओवर में 43 रन पर तीन विकेट लिए। रजत पाटीदार को उनके शतक के लिए प्लेयर ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला।