IPL Auction 2021 : स्मिथ, मलान और मैक्सवेल में कौन बनेगा सबसे बड़ा खिलाड़ी

चेन्नई। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 14वें सत्र के लिए खिलाड़ियों की नीलामी गुरुवार को होगी और इस नीलामी में ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीवन स्मिथ, विश्व के नंबर एक टी-20 बल्लेबाज इंग्लैंड के डेविड मलान और ऑस्ट्रेलियाई आलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल को बड़ी कीमत मिलने की उम्मीद जताई जा रही है।

नीलामी में 292 खिलाड़ियों पर बोली लगेगी। इस नीलामी के लिए 1114 खिलाड़ी पंजीकृत हुए थे। आठ फ्रैंचाइजी के शॉर्टलिस्ट खिलाड़ियों की सूची जमा करने के बाद 292 खिलाड़ियों की अंतिम सूची तैयार की गई थी जो नीलामी में उतरेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के स्मिथ को राजस्थान रॉयल्स ने इस बार टीम से रिलीज कर दिया था, जबकि पिछले सत्र में स्मिथ ने राजस्थान की कप्तानी की थी। मलान टी-20 के मौजूदा रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज हैं और उन्होंने अपनी जबरदस्त बल्लेबाजी से पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है।

ग्लेन मैक्सवेल के लिए पिछला सत्र निराशाजनक रहा था, लेकिन टीमें इस धाकड़ आलराउंडर की एहमियत को जानती हैं। इस बार यह देखना दिलचस्प होगा कि किस भारतीय खिलाड़ी को सबसे ज्यादा कीमत मिलती है। नीलामी में पंजाब के पास सबसे ज्यादा 53.20 करोड़ रुपए का पर्स बचा है और उसे पांच विदेशी सहित नौ खिलाड़ी खरीदने हैं जबकि रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु टीम को सबसे ज्यादा 13 खिलाड़ी खरीदने हैं।

इस बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने सभी आठों फ्रेंचाइजी को सूचित किया है कि बांग्लादेश के खिलाड़ी इस बार आईपीएल के पूरे सत्र के लिए उपलब्ध नहीं रहेंगे और दक्षिण अफ्रीका के खिलाड़ियों की उपलब्धता पर भी संशय बना हुआ है। दक्षिण अफ्रीका के कुछ प्रमुख खिलाड़ियों ने 9-10 अप्रैल से शुरू होने वाले आईपीएल के लिए अपनी उपलब्धता की अभी तक पुष्टि नहीं की है।

बीसीसीआई ने साफ कर दिया है कि यदि कोई बांग्लादेशी खिलाड़ी आईपीएल के लिए चुना जाता है तो वह 19 मई के बाद से उपलब्ध नहीं रहेगा और अपने देश की सीरिज खेलने के लिए चला जाएगा। श्रीलंका के खिलाड़ियों की उपलब्धता के बारे में भी पुष्टि नहीं हो पाई है। बांग्लादेश के चार और श्रीलंका के नौ खिलाड़ी नीलामी में उतरेंगे, लेकिन इन देशों का कोई भी खिलाड़ी रिटेन किए हुए खिलाड़ियों की सूची में शामिल नहीं है।

बीसीसीआई ने ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के पूरी तरह उपलब्ध रहने की पुष्टि की है और जो खिलाड़ी आईपीएल के लिए चुने जाएंगे उन्हें एक अप्रैल से एनओसी मिल जाएगा। इंग्लैंड और न्यूजीलैंड के खिलाड़ी भी पूरी तरह उपलब्ध हैं, हालांकि दोनों देशों के बीच जून में सीरिज होनी है। बीसीसीआई ने फ्रेंचाइजी टीमों को यह भी बताया है कि छह खिलाड़ी (सभी भारतीय) संदिग्ध एक्शन वाले हैं और इनमें से मुंबई के अरमान जाफर को गेंदबाजी से प्रतिबंधित किया गया है।

नीलामी में दो करोड़ रुपए का अधिकतम आधार मूल्य रखा गया है जिसमें दो भारतीय खिलाड़ी हरभजन सिंह और केदार जाधव तथा आठ विदेशी खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल, स्टीव स्मिथ, शाकिब अल हसन, मोईन अली, सैम बिलिंग्स, लियाम प्लंकेट, जैसन रॉय और मार्क वुड शामिल हैं। टीमों के लिए शाकिब को खरीदना मुश्किल होगा, क्योंकि वह 19 मई के बाद से आईपीएल के लिए उपलब्ध नहीं होंगे।

नीलामी के लिए 12 खिलाड़ियों को डेढ़ करोड़ रुपए के आधार मूल्य में रखा गया है जबकि एक करोड़ रुपए के आधार मूल्य में 11 खिलाड़ियों में दो भारतीय हनुमा विहारी और उमेश यादव शामिल हैं। 75 लाख रुपए के आधार मूल्य में 15 खिलाड़ी हैं और ये सभी विदेशी हैं। 50 लाख रुपए के आधार मूल्य में 65 खिलाड़ी हैं जिनमें 13 भारतीय और 52 विदेशी खिलाड़ी शामिल हैं। नीलामी में 164 भारतीय खिलाड़ी, 125 विदेशी खिलाड़ी और तीन खिलाड़ी एसोसिएट देशों के होंगे।

क्रिकेट लीजेंड सचिन तेंदुलकर के बेटे तथा मुंबई के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जुन तेंदुलकर को नीलामी के लिए शॉर्टलिस्ट खिलाड़ियों की सूची में रखा गया है और देखना दिलचस्प होगा कि इस युवा गेंदबाज को कौन सी टीम खरीदना चाहेगी। बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जुन ने हाल ही में सैयद मुश्ताक अली टी-20 टूर्नामेंट में मुंबई के लिए अपना पदार्पण किया था और वह पिछले कुछ वर्षों से मुंबई इंडियंस के साथ ट्रेनिंग कर रहे थे। नीलामी के लिए उनका आधार मूल्य 20 लाख रुपए रखा गया है।

आठ टीमों में सबसे ज्यादा पर्स किंग्स इलेवन पंजाब के पास बचा है, जिसने नीलामी से ठीक पहले अपना नाम बदल कर पंजाब किंग्स रख लिया है। पंजाब के पास 53.20 करोड़ रुपए का पर्स बचा है और उसे पांच विदेशी सहित नौ खिलाड़ी खरीदने हैं।

भारतीय कप्तान विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु टीम के पास 35.90 करोड़ रुपए का पर्स बचा है और उसे सबसे ज्यादा 13 खिलाड़ी खरीदने हैं, जिनमें चार विदेशी शामिल हैं। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई सुपर किंग्स के पास 22.90 करोड़ रुपए का पर्स बाकी है और उसे एक विदेशी सहित सात खिलाड़ी खरीदने हैं।

राजस्थान रॉयल्स के पास 34.85 करोड़ रुपए का पर्स है और उसे तीन विदेशी सहित आठ खिलाड़ी खरीदने हैं। कोलकाता और हैदराबाद के पास 10.75 करोड़ रुपए का सबसे कम पर्स है, जिसमें हैदराबाद को तीन और कोलकाता को आठ खिलाड़ी खरीदने हैं। दिल्ली कैपिटल्स के पास 12.90 करोड़ रुपए का पर्स है और उसे छह खिलाड़ी खरीदने हैं। टीमों के पास बचे हुए खिलाड़ियों और पर्स की स्थिति इस प्रकार है :

चेन्नई सुपरकिंग्स
शेष पर्स: 22.9 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 7 (1 विदेशी)

दिल्ली कैपिटल्स
शेष पर्स: 12.9 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 6 (2 विदेशी)

कोलकाता नाईट राइडर्स
शेष पर्स: 10.75 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 8 (2 विदेशी)

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूरु
शेष पर्स: 35.90 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 13 (4 विदेशी)

राजस्थान रॉयल्स
शेष पर्स: 34.85 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 8 (3 विदेशी)

मुंबई इंडियंस
शेष पर्सः 15.35 करोड़ रुपए
शेष स्थानः 7 (4 विदेशी)

किंग्स इलेवन पंजाब
शेष पर्सः 53.20 करोड़ रुपए
शेष स्थानः 9 (5 विदेशी)

सनराइजर्स हैदराबाद
शेष पर्स:10.75 करोड़ रुपए
शेष स्थान: 3 (1 विदेशी)