वर्ल्ड कप के साथ IPL पर भी रहेगी नजर

IPL will also be watched along with World Cup
IPL will also be watched along with World Cup

हैदराबाद। भारत और वेस्ट इंडीज के बीच तीन मैचों की टी-20 सीरीज ऐसे समय हो रही है, जब टी-20 विश्व कप के लिए दावेदारी दांव पर है। आईपीएल की 19 दिसम्बर को कोलकाता में होने वाली नीलामी पर सबकी नजर है।

इस सीरीज में शानदार प्रदर्शन दोनों टीमों के खिलाड़ियों का अगले साल होने वाले विश्व कप के लिए दावा मजबूत करेगा और साथ ही उन्हें आईपीएल नीलामी में अच्छी कीमत भी दिला सकेगा। यह दिलचस्प है कि टी-20 की मौजूदा विश्व चैंपियन टीम विंडीज इस सीरीज में विश्व में 10वीं रैंकिंग के साथ उतर रही है और इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि विश्व चैंपियन बनाने के बाद कैरेबियाई क्रिकेट में कितनी गिरावट आयी है। वेस्ट इंडीज ने भारत के खिलाफ खेलने से पहले अफगानिस्तान से टी-20 सीरीज 1-2 से गंवाई थी जबकि भारत ने बंगलादेश को 2-1 से हराया था।

भारतीय टीम ने बंगलादेश के खिलाफ टी-20 सीरीज में नियमित कप्तान विराट कोहली को विश्राम दिया था और इस सीरीज में विराट के लौटने से भारतीय टीम को बल्लेबाजी में मजबूती मिलेगी। विराट घरेलू टी -20 मैचों में बहुत कम खेलते नजर आते हैं। पिछले 12 महीनों में ऐसी सीरीज में उन्हें आमतौर पर विश्राम ही दिया जाता रहा है। विंडीज ने 2018 में जब भारत का दौरा किया था तब उन्हें विश्राम दिया गया था लेकिन विश्व कप में एक वर्ष से भी कम समय रहते अब हर मैच का महत्त्व बढ़ गया है।

यह युवा भारतीय टीम है और कई युवाओं के पास टीम में अपनी जगह पक्की करने का मौका रहेगा लेकिन विकेटकीपर रिषभ पंत पर सभी निगाहें रहेंगी क्योंकि इस सीरीज में फ्लॉप होने से अब उनकी टीम से छुट्टी हो सकती है। मनीष पांडेय, लोकेश राहुल, वाशिंगटन सुंदर और संजू सैमसन घरेलू टी-20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन के बाद सीरीज में उतर रहे हैं। सैमसन को ओपनर शिखर धवन के चोटिल होने के बाद टीम में लिया गया है। जसप्रीत बुमराह, शिखर और हार्दिक पांड्या जैसे धुरंधर खिलाड़ियों की अनुपस्थिति ने युवा खिलाड़ियों को अपना दावा पक्का करने का मौका दिया है।

दूसरी तरफ विंडीज की टीम में न तो क्रिस गेल हैं और न ही आंद्रे रसेल और कार्लोस ब्रैथवेट हैं। ऐसे में विंडीज टीम के कई सदस्यों के पास अगले साल के विश्व कप के लिए टीम में अपनी दावेदारी मजबूत करने का मौका रहेगा। आलराउंडर फाबियन एलेन एकादश में रसेल की कमी पूरी करने की कोशिश करेंगे। टीम में कैरेबियन प्रीमियर लीग 2019 के शीर्ष स्कोरर ब्रेंडन किंग शामिल हैं जो भारतीय गेंदबाजों का सिरदर्द बढ़ा सकते हैं। अनुभवी लेंडल सिमंस के लौटने से भी टीम कोई बल्लेबाजी को मजबूती मिलेगी।

कैरेबियाई टीम में ओशाने थामस, शिमरॉन हेत्माएर और निकोलस पूरन जैसे खिलाड़ी टीम के लिए बढ़िया प्रदर्शन करने के साथ आईपीएल में मिलने वाली कीमत पर भी नजर रखेंगे। पूरन हालांकि बॉल टेंपरिंग करने के कारण प्रतिबन्ध झेल रहे हैं और पहले मैच से बाहर रहेंगे।

टीम के नए कप्तान कीरोन पोलार्ड हैं जो लम्बे समय से आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस का हिस्सा हैं और भारतीय ओपनर रोहित शर्मा के खेल से अच्छी तरह वाकिफ हैं। रोहित आईपीएल में मुम्बई टीम के कप्तान हैं। मुंबई ने आईपीएल 2020 के लिए पोलार्ड को बरकरार रखा है। विंडीज की टीम अफगानिस्तान के साथ सीरीज के लिए एक महीने से अधिक का समय भारत में गुजार चुकी है और यहां के हालात से अच्छी तरह वाकिफ हो चुकी है।

भारतीय खिलाड़ियों में भी कई खिलाड़ियों पर दबाव की स्थिति रहेगी। दीपक चाहर के उदय से भुवनेश्वर कुमार दबाव में रहेंगे जो चोट से उबरने के बाद वापसी कर रहे हैं। भुवी ने मुश्ताक अली में दो मैचों में सिर्फ एक विकेट लिया है। लेकिन इस सीरीज से भुवी के पास यह दिखाने का मौका रहेगा कि उनकी स्विंग की धार कायम है।

संभावित एकादश
भारत: रोहित शर्मा, लोकेश राहुल, विराट कोहली (कप्तान), श्रेयस अय्यर, मनीष पांडेय, रिषभ पंत (विकेटकीपर), शिवम दुबे, रवींद्र जडेजा, युजवेंद्र चहल, भुवनेश्वर कुमार, दीपक चाहर

वेस्ट इंडीज: एविन लुइस, लेंडल सिमंस, ब्रैंडन किंग, शिमरॉन हेत्माएर, कीरोन पोलार्ड (कप्तान), दिनेश रामदीन (विकेटकीपर), जैसन होल्डर, खैरी पियरे/कीमो पॉल, फाबियन एलेन, हेडेन वाल्श जू. , शेल्डन कॉट्रेल