हैदराबाद एफसी ने पहले झटके में जीता हीरो आईएसएल खिताब

फातोरदा। हैदराबाद ने पहले ही झटके में हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) का खिताब जीत लिया है। हैदराबाद एफसी ने हीरो आईएसएल 2021-22 में पेनल्टी शूटआउट तक खिंचे फाइनल में केरला ब्लास्टर्स एफसी को 3-1 (4-2) से हरा दिया।

रविवार को जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में 11,500 दर्शकों की सांसे पूरे मुकाबले में थमी रही। गोलकीपर लक्ष्मीकांत कट्टिमनी पेनाल्टी शूटआउट में चार में से तीन शानदार बचाव करके निर्णायक मैच में विजेता बनकर उभरे और अपनी टीम हैदराबाद को पहले ही फाइनल में चैम्पियन बना दिया।

उनके जबर्दस्त प्रदर्शन की वजह से 2014 और 2016 के उप-विजेता केरला ब्लास्टर्स अपने तीसरे फाइनल में भी चैम्पियन बनने से महरूम रह गए। 120 मिनट के खेल के बाद भी दोनों टीमों के बीच गतिरोध नहीं टूटा, क्योंकि स्कोर 1-1 से बराबर था। लिहाजा, पेनल्टी शूटआउट में दोनों टीमों को जाना पड़ा। पहला प्रयास क्रोएशियाई सेंटर-बैक मार्को लेस्कोविच ने किया, जिसे गोलकीपर लक्ष्मीकांत कट्टीमनी ने अपने दाहिनी तरफ डाइव लगाकर शानदार बचाव किया।

कप्तान जाओ विक्टर ने करारे राइट फुटर शॉट से दाहिने टॉप कॉर्नर को चुनकर हैदराबाद को 1-0 से आगे कर दिया। लेकिन केरला के निशु कुमार के प्रयास को भी कट्टीमनी ने रोक दिया। उनके बाद हैदराबाद के हावी सिवेरियो भी चूक गए। लेकिन आयुष अधिकारी ने गोल करके केरला को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

इसके बाद खासा कमारा ने गोल करके स्कोर 2-1 कर दिया। लेकिन उनके बाद जीकसन सिंह के प्रयास को भी कट्टीमनी ने रोक दिया। हालिचरण नाजरी ने गोल करके हैदराबाद के पक्ष में स्कोर 3-1 करके अपने समर्थकों को जश्न मनाने को मौका दे दिया।

दो साल बाद स्टैंड पर भारी तदाद में मौजूद अपने समर्थकों को दोनों टीमों ने अपनी ताकत दिखाकर बार-बार रोमांचित किया। निर्धारित समय में स्कोर 1-1 रहने के कारण यह मुकाबला 30 मिनट के एक्स्ट्रा टाइम के खेल में चला गया, जो कि आईएसएल के इतिहास में तीसरा अवसर है। लेकिन अतिरिक्त समय में कोई गोल नहीं हुआ।

निर्धारित समय में मैच का पहला गोल 68वें मिनट में आया, जब केपी राहुल ने केरला ब्लास्टर्स को 1-0 की बढ़त दिला दी। मैच के 87वें मिनट में स्थानापन्न मिडफील्डर साहिल तवेरा के लम्बी दूरी से लगाए करारे राइट फुटर शॉट ने हैदराबाद एफसी को 1-1 की बराबरी पर ला दिया।

पहला हाफ गोलरहित रहा। हालांकि इस दौरान दबदबा केरला ब्लास्टर्स का रहा। हैदराबाद के स्ट्राइकर बार्थोलोम्यू ओग्बेचे को गोल्डन बूट मिला। उन्होंने इस सीजन 20 मैचों में 18 गोल दागे। इस सीजन के दौरान यह नाईजीरियाई स्ट्राइकर 53 गोल के साथ आईएसएल इतिहास का टॉप स्कोरर बन चुका है जबकि गोल्डन ग्लब्स के अवार्ड ने गोलकीपर प्रभनसुखन गिल को नवाजा गया। बेंगलुरू के नाओरेम सिंह को आईएसएल इमर्जिंग प्लेयर ऑफ द ईयर का अवार्ड दिया गया। ग्रेग स्टीवर्ट ने हीरो ऑफ द लीग अवार्ड जीता।